17 लाख देखकर भांजे को आया लालच:इंदौर में फर्जी निकली लूट की कहानी, फरियादी ने दोस्त और भाई के साथ दिया वारदात को अंजाम, पुलिस ने रिकवर की रकम, आरोपी गिरफ्तार

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किशनगंज थाने की फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
किशनगंज थाने की फाइल फोटो

इंदौर के किशनगंज थाने में हुई 17 लाख की लूट के मामले में फरियादी ही लूटेरा निकला। किशनगंज थाना प्रभारी शशिकांत चौरसिया के अनुसार घाटा बिल्लौद के रहने वाला सत्यम पिता भगवानदास यादव दो दिन पहले पुलिस के पास पहुंचा और बताया कि उसके साथ राऊ पीथमपुर रोड पर गंभीर पुलिया के आगे 17 लाख की लूट हुई है। उसने बताया कि बाइक सवार तीन बदमाशों ने उसकी गाड़ी को पहले ओवरटेक किया फिर उसके हाथ से रुपयों से भरा बैग छीन कर फरार हो गए।

ऐसे हुआ मामले का खुलासा

पूरे मामले की जानकारी जब SP को लगी तो उन्होंने जांच शुरू की। सत्यम को पुलिस ग्राउंड जीरो पर लेकर पहुंची तो शक हुआ और पूछताछ में सत्यम ने सारी कहानी उगल दी। सत्यम ने बताया कि उसके मामा विनोद यादव जो कि भंगार का काम करते हैं। उन्होंने उसे इंदौर की एक पार्टी से 17 लाख रुपए लेने भेजा था। सत्यम के मन में लालच आया और फिर उसने अपने भाई और एक दोस्त के साथ मिलकर लूट की कहानी रच डाली। सत्यम ने पैसा अपने भाई और दोस्त के हाथ भिजवा दिया था। पुलिस ने पैसे बरामद कर लिए हैं और तीनों आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया है।

खबरें और भी हैं...