• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Family Was Assuming Death Due To Poison, 5th Suspected Death After Drinking Alcohol, Waiting For Legacy Report Of Earlier Death

इंदौर में शराब से मौत मामले में नया खुलासा:परिवार समझ रहा था जहर से हुई मौत, बैंक स्टेटमेंट से पता चला कि सपना बार में पी थी शराब; बार मैनेजर हिरासत में, 4 की पहले हो चुकी है मौत

इंदौर3 महीने पहले
मृतक शिवनंदन रावत।

इंदौर में शराब पीने के बाद पांचवीं मौत का मामला सामने आया है। परिवार युवक की मौत का कारण जहर मान रहा था, लेकिन जब युवक के मोबाइल में बैंक स्टेटमेंट देखा गया, तो उसमे यह बात सामने आई कि युवक ने मंगलवार को बाणगंगा स्थित सपना बार में शराब पी थी। इसके 1 दिन बाद ही उसकी मौत हो गई। पुलिस ने बार को सील करके मैनेजर को हिरासत में लिया है। उधर, शराब पीने के बाद हुई 4 लोगों की संदिग्ध मौत में बिसरा रिपोर्ट गुरुवार शाम तक नहीं आई। अफसरों का कहना है कि संभवतः शुक्रवार को पूरी रिपोर्ट मिल जाएगी।

पुलिस के अनुसार, बाणगंगा निवासी शिवनंदन रावत की मौत 27 जुलाई को हुई है। उसकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट 28 जुलाई को मिली थी। इसमें डॉक्टर ने जहर की आशंका बताई थी। परिवार ने भी जहर का मामला समझा था, लेकिन परिवार ने जैसे ही मोबाइल में बैंक स्टेटमेंट देखा तो उसमें जानकारी सामने आई कि शिवनंदन 26 जुलाई की रात 9:00 बजे बाणगंगा क्षेत्र के शिवनंदन मरीमाता चौराहे स्थित सपना बार में गया था। बार में उसने 1123 रुपए का बिल का भुगतान एटीएम कार्ड से किया था। जानकारी के बाद सपना बार के मैनेजर को पुलिस ने हिरासत में लिया है।

जहरीली शराबकांड से पहले बातचीत का AUDIO:सप्लायर ने फोन कर कहा- शराब फेंक दो, ऊपर से खबर है कि माल हल्का है; तब तक 5 लोगों की हालत बिगड़ चुकी थी

पैराडाइज बार में शराब पीने से 3 की मौत हुई थी

शराब पीने के बाद पैराडाइज में सागर पाटिल, शिशिर तिवारी, अभिषेक अग्निहोत्री और सपना बार में सचिन गुप्ता युवक की मौत के मामले में पुलिस अभी जांच कर रही है। सभी ने 23 जुलाई को शराब पी थी। इसके बाद दो दिन के अंदर चारों की मौत हो गई थी। पुलिस का कहना है कि इन चारों लोगों की मौत के मामले में परिजन के बयान होने हैं। उधर, पुलिस ने जब पैराडाइज बार के कैमरों को खंगाला तो पाया कि 23 जुलाई को एक टेबल पर सात दोस्त बैठे थे, जिसमें दुर्गेशसिंह तोमर को छोड़कर 6 दोस्त शराब पी रहे थे। इसमें से 3 की मौत हुई थी।

23 जुलाई की शाम को ही पैराडाइज बार में चार और टेबलों पर वही शराब थी, जो सागर, शिशिर, अभिषेक और उनके साथियों को परोसी गई थी। उनके बिल भी पुलिस ने जब्त कर लिए हैं। अब पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उन लोगों की भी तलाश करेगी। पुलिस का कहना है कि कुछ को बार संचालक जोगी यादव जानता है, इसलिए उन लोगों को भी बुलाएंगे। पुलिस का कहना है उसके बाद भी तीन-चार दिन तक यही शराब वहां लोगों ने पी थी, हालांकि बार संचालक को पुलिस ने हिरासत में लिया है, जबकि सपना व पैराडाइज दोनों बारों को सील कर रखा है।

खबरें और भी हैं...