वैक्सीनेशन महाअभियान:मार्च में पहला डोज लगा; अप्रैल में मौत 8 माह बाद मैसेज- दूसरा डोज लग गया

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोविन-एप का ऐसा कमाल, बिना वैक्सीन लगवाए छह-आठ माह बाद वैक्सीनेट होने का मैसेज आ रहा। - Dainik Bhaskar
कोविन-एप का ऐसा कमाल, बिना वैक्सीन लगवाए छह-आठ माह बाद वैक्सीनेट होने का मैसेज आ रहा।

कोविड का टीका लगाए बिना है दूसरा डोज लगाने के मैसेज आ रहे। हाल में ऐसा ही मामला आया जब एक व्यक्ति को आठ महीने बाद मैसेज आया कि आपको दूसरा डोज चुका गया।

पहला मामला

65 वर्षीय प्रमिला तिवारी ने पहला डोज मार्च में लगवाया था। 18 अप्रैल को हार्ट अटैक से उनकी मृत्यु हो गई। 2 दिसंबर को मोबाइल पर संदेश आया और सर्टिफिकेट भेजा कि आपको कोविशील्ड का दूसरा डोज लग गया। उनसे फीडबैक भी मांगा गया।

दूसरा मामला

आई बस में हरियाणा के कुछ कामगारों को भी दूसरा डोज लगने का संदेश मिला। यह संदेश उन्हें हरियाणा से भेजा है। अब वे यहां टीकाकरण अधिकारियों से संपर्क कर रहे हैं। उनका कहना है उन्हें दूसरा डोज लगा ही नहीं और सर्टिफिकेट भेज दिया।

कई बार परिजन भी गलत अपडेट करवा देते जानकारी

टीकाकरण अधिकारी डॉ. तरुण गुप्ता का कहना है जिन्हें दूसरा डोज लगना है, उन सभी को हमारा स्टाफ फोन लगा रहा है। कुछ लोगों को टीका लग गया लेकिन सर्टिफिकेट नहीं मिला। जहां तक इस केस का सवाल है तो संभवत: रजिस्टर्ड मोबाइल पर किसी ने बताया होगा कि टीका लग गया। इसलिए ‘एप’ पर यह जानकारी अपडेट हो गई होगी।

कंट्रोल रूम से उन सभी को फोन लगा रहे जिन्हें दूसरा डोज लगना है। ऐसा भी देखा गया कि फोन पर परिवार का ही कोई सदस्य ‘हां’ कह देता है, जिसके बाद वह व्यक्ति वैक्सीनेटेड बताया जाता है।

खबरें और भी हैं...