इंदौर में नोट एक्सचेंज के नाम पर धोखाधड़ी:500-2000 के नोटों के बदले थमाए पांच लाख रुपए के नकली नोट

इंदौरएक महीने पहले

संयोगितागंज पुलिस ने नोट एक्सचेंज करने के नाम पर नकली नोट थमाने वाले दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपी अपने आपको ट्रस्ट का एजेंट बताकर छोटे डिनोमिनेशन के नोटों के बदले 500 और 2000 के नोट दस फीसदी कमीशन पर लेने का झांसा देते थे। दोनों आरोपियों सौरभ गुप्ता और दिलीप उर्फ राज मुले पर जालसाजी का मुकदमा दर्ज कर पुलिस आगे की पूछताछ कर रही है।

थाना प्रभारी तहजीब काजी के अनुसार फरियादी सिविल इंजीनियर रवींद्र प्रकाश श्रीवास्तव ने शिकायत की थी कि उसे ट्रस्ट एजेंट बनकर सरदार नामक व्यक्ति ने दोस्त राजेश धाकड़ के माध्यम से संपर्क किया। रवींद्र को रोजाना अपने मजदूर को 20, 50 और 100 के छोटे नोट देने पड़ते हैं। सरदार ने बताया कि वह 10% अधिक रुपए देकर 500 और 2000 के नोट से छोटे नोट बदल देगा। फरियादी ने बताया कि आरोपियों ने नोट एक्सचेंज करने के नाम पर 5 लाख रुपए के नकली नोट पकड़ा दिए।

खुद को बताया था ट्रस्ट का एजेंट

फरियादी ने बताया कि उसे रोजाना 2 से 5 लाख रुपए मजदूरों को बांटना पड़ता है। कुछ दिन पहले उसके पास आए फोन पर एक व्यक्ति ने खुद को ट्रस्ट का एजेंट बताया था। उसने कहा कि 10-20-50-100 के छोटे-छोटे नोटों मे बहुत पैसा है। यदि तुम्हारे पास 500-2000 रुपए के नोट हों तो बदल लो, मैं तुम्हें 10 प्रतिशत रुपए ज्यादा दूंगा। आरोपी ने मंगलवार रात सुयश अस्पताल के पास पैसे एक्सचेंज करने का कहा। रवींद्र एक बैग मे 500 व 2000 के नोट में कुल 5 लाख रुपए लेकर उस व्यक्ति के बताए स्थान पर पहुंचा। वहां सौरभ गुप्ता व दिलीप उर्फ राज मुले इंतजार कर रहे थे।

बैग खोल कर देखा तो अंदर थे नकली नोट

सौरभ और दिलीप ने कहा कि हमे पैसे एक्सचेंज करने के लिए भेजा है। आरोपी रवींद्र के बैग से अपना बैग एक्सचेंज कर चले गए। गली में जाकर बैग खोल कर देखा तो बैग मे ऊपर-ऊपर बच्चोंके मनोरंजन वाले नकली नोट थे। तथा नीचे कोरे कागजों की गड्‌डी रखी थी।

खबरें और भी हैं...