इंदौर में दिखे क्रिकेट के अजब-गजब फैन:जैन संत से लेकर नेत्रहीन, चार महीने तक पैसा इकट्‌ठा कर टैटू बनवाने वाले मजदूर भी आए

इंदौर6 दिन पहले

24 जनवरी को इंदौर के होलकर स्टेडियम में इंडिया-न्यूजीलैंड का मैच हुआ। मैच को देखने कई फैंस यहां पहुंचे। ऐसे ही कुछ अजब-गजब फैंस से दैनिक भास्कर ने खास बात की। आप भी देखिए इन फैंस का क्रिकेट और क्रिकेटर को लेकर कितना जुनून है...

हर बार की तरह इस बार भी इंदौर में हुए क्रिकेट मैच को देखने क लिए इंदौरियों में काफी उत्साह दिखा। परिवार, दोस्तों और छोटे बच्चों तक को लेकर क्रिकेट प्रेमी स्टेडियम पर दिखे। चेहरे पर तिरंगा बनवाकर, अपने पसंदीदा क्रिकेटर की जर्सी पहनकर दर्शक यहां पहुंचे। हाथों में तिरंगा और अलग-अलग स्लोगन लिखे बैनर लेकर भी आए। इनमें रोहित शर्मा का एक फैन ऐसा था, जिसमें अपनी पीठ पर ही रोहित शर्मा के फोटो, नाम और जर्सी के नंबर का परमानेंट टैटू ही बना लिया।

विद्या सागर महाराज के शिष्य और जैन संत पहुंचे मैच देखने

वैसे तो ये जैन संत है, लेकिन क्रिकेट के भी बड़े फैन हैं। वे क्रिकेटर बनना चाहते थे, मगर संत बन गए। इनका नाम है प्रदीप शास्त्री पीयूष। उन्होंने बताया वे जबलपुर से आए हैं। वे आचार्य श्री विद्यासागर महाराज के शिष्य हैं। महाराज से पूछा कि वे मैच देखने क्यों आए तो, उन्होंने कहा जब वे छोटे थे 5-6 साल के तब से उन्हें क्रिकेट का शौक है। उस उम्र में वे क्रिकेट खेलते थे। बनना था क्रिकेटर साधु बन गए। इसके पहले चेन्नई में आईपीएल मैच देखने का मौका मिला था।

फिलहाल वे इंदौर आए हुए थे, इसलिए यहां मैच देखने पहुंचे। पांच दिन से वे इंदौर में ही रुके हैं। 1987 में उन्होंने गर्म कपड़े और जूते-चप्पल का त्याग किया हुआ है। 24 घंटे में एक ही बार भोजन करते है। आचार्य श्री विद्यासागर महाराज से ही उन्होंने ललितपुर में दीक्षा ली। 21 साल की उम्र में उन्होंने घर छोड़ दिया था वे डबल एमए और पीएचडी कर चुके है। पुराने खिलाड़ियों में कपिल देव उनके फेवरेट हैं। वे मैच टीवी और मोबाइल पर भी देखते हैं। आखिरी में कहा देश भावना हमारे अंदर है। हमारा भारत है। भारत की टीम 3-0 से मैच जीते। यही कामना लेकर मैच देखने आया था।

देख नहीं सकते मगर सुनने आए क्रिकेट मैच

इंदौर के क्रिकेट के एक फैन हैं आशीष चौहान। ये देख नहीं पाते मगर मैच का आनंद लेने के लिए होलकर स्टेडियम पहुंचे। वे अपनी बहन के साथ यहां पर आए थे। उनका कहना है कि उन्हें क्रिकेट का काफी शौक है। इंदौर में मैच होने पर वे स्टेडियम में इंडिया-न्यूजीलैंड के मैच का सुनकर आनंद लेने आए। उन्होंने बताया कि वे ब्लाइंड क्रिकेट मैच भी खेलते हैं।

उनका फेवरेट खिलाड़ी विराट कोहली है। बहन अंजलि चौहान बताती हैं कि भाई को क्रिकेट का बहुत शौक है। भाई शुरू से ब्लाइंड है। भाई पहले बच्चों के साथ खेलते थे। फिलहाल वे एमए की पढ़ाई भी कर रहे हैं। वे इस मैच को पूरी तरह से देख नहीं सकते, लेकिन वे सुनकर इसका लुत्फ उठाते हैं।

400 रुपए रोज कमाता हूं, टैटू के लिए बचाए पैसे

ये फैन हैं इंदौर का सन्नी गोस्वामी। सन्नी 400 रुपए रोज कमाता है। सन्नी अपने आप को टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा का बड़ा फैन बताता है और हो भी क्यों न। सन्नी ने रोहित शर्मा के नाम, उनके फोटो और जर्सी के नंबर 45 को अपनी पीठ पर ही परमार्नेंट बना लिया। टैटू बनवाने के लिए करीब 15 हजार रुपए खर्च भी हुए। इसलिए इन पैसों की व्यवस्था करने के लिए पिछले कई महीनों से वे पैसा बचा रहे थे।

तीन महीने पहले ही सन्नी ने रोहित के फोटो, नाम और जर्सी नंबर का टैटू अपनी पीठ पर बनवाया। इतना ही नहीं सन्नी अक्षय कुमार का भी फैन है, इसलिए उसने पीठ पर अक्षय कुमार का नाम भी लिखवाया है। मगर सन्नी रोहित का बड़ा फैन है। उसकी इच्छा है कि वह रोहित शर्मा से एक बार मुलाकात कर सके।

बैसाखी लेकर पहली बार पहुंचे मैच देखने

इंदौर के रहने वाले है रामेश्वर नागर। एक्सीडेंट में वे अपना एक पैर गंवा चुके है। मगर क्रिकेट का इतना शौक है कि वे अपने नाती के साथ इंडिया-न्यूजीलैंड का मैच देखने पहुंचे थे। उन्होंने बताया कि वे देवास में बिजली कंपनी में काम करते हैं। कुछ साल पहले देवास जाते वक्त ट्रक से उनका एक्सीडेंट हो गया था। इस हादसे में उनका एक पैर चला गया। मगर उनका जोश कम नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि वे पहली बार स्टेडियम पर मैच देखने आए। उनके फेवरेट खिलाड़ी है विराट कोहली है। क्रिकेट का शुरू से शौक रहा है और मैच देखना अच्छा लगता है। नाती सार्थक नागर ने कहा कि नाना को बताया कि इंदौर में मैच होने वाला है। वे काफी उत्साहित हो गए कि मैच देखने चलेंगे।