• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • From Your Name To Where You Live, Keep Complete Information About Where You Live, You Have Already Given Interviews, So Keep These Things In Mind

MPPSC का इंटरव्यू देना है तो...:नाम से लेकर जहां रहते हैं और जहां से पढ़े, वहां की पूरी जानकारी रखें; जानिए एक्सपर्ट क्या कहते हैं

इंदौर7 महीने पहले

MPPSC-2019 का रिजल्ट आने के बाद कैंडिडेट्स इंटरव्यू की तैयारी कर रहे हैं। अगर आप इंटरव्यू दे चुके हैं या पहली बार देने वाले हैं, तो आपको किन बातों का ध्यान रखने की जरूरत है? आपने जो पर्सनल डिटेल दी है, उसमें से कैसे प्रश्न पूछे जा सकते हैं। ये सब जानेंगे MPPSC इंटरव्यू बोर्ड के पूर्व सदस्य व रिटायर्ड कर्नल मनोज बर्मन (मार्गदर्शक, फोर्स डिफेंस एकेडमी, इंदौर) से।

रिटायर्ड कर्नल मनोज बर्मन के मुताबिक इंटरव्यूअर हर कैंडिडेट्स की हर चीज को नोटिस करते हैं। उनके पास उसकी पूरी कुंडली या कहें कि पूरा डाटा होता है। उन्हें पता रहता है कि आप पहले कितनी बार इंटरव्यू दे चुके हैं, उसका रिजल्ट क्या रहा। अगर आप ऐसे कैंडिडेट हैं, तो कई बार इंटरव्यूअर पूछते हैं कि आपका पिछला प्रदर्शन कैसा रहा? पिछली बार सफल क्यों नहीं हो पाए? इस सवाल का उचित जवाब देने की जरूरत है।

कई बार अभ्यर्थी भाषा या बॉडी लैंग्वेज से ऐसा कहने का प्रयास कर जाते हैं कि इंटरव्यू में कम नंबर मिले, इस कारण सफल नहीं हो सके, ऐसा न करें। ऐसे में लगता है कि आप इंटरव्यू लेने वाले पर ही उंगली उठा रहे हैं कि आपने सही आकलन नहीं किया, कम नंबर दिए। आपका जवाब होना चाहिए कि शायद मेरे प्रयास में कमी रह गई होगी। नहीं तो उनका दूसरा सवाल होगा कि रिटर्न एग्जाम में कितने नंबर हासिल किए थे। इसलिए यही जवाब देने का प्रयास करें कि मेरे प्रयास में कमी रह गई होगी। जो कमी रह गई थी, वह दूर कर दोबारा आया हूं क्योंकि यही मेरा लक्ष्य है।

अपने नाम के साथ हॉबी की भी रखें डिटेल
रिटायर्ड कर्नल मनोज बर्मन ने कहा कि इंटरव्यू में जाने के पहले अभ्यर्थियों को मध्यप्रदेश के बारे में सभी बातें पता होनी चाहिए। कई बार मध्यप्रदेश के संभाग और उनके नाम पूछे गए, लेकिन कई अभ्यर्थी ऐसे थे जिन्हें इसकी जानकारी कम थी या न के बराबर थी। अभ्यर्थी जिस जिले में रहते हैं, वहां की जलवायु, मिट्टी सहित अगर वहां नेशनल पार्क हो, नदी हो, सरकार का कोई प्रोजेक्ट हो। ऐसी तमाम जानकारी होना जरूरी है।

अपने बायोडाटा के बारे में पता हो

अभ्यर्थियों ने जो बायोडाटा भरा है, उसमें अपना नाम, परमानेंट एड्रेस, हॉबी सहित कई जानकारी भरी होती है। अभ्यर्थियों से उनके नाम का अर्थ, जिस स्कूल या कॉलेज में वे पढ़े उसकी स्थापना, किस उद्देश्य से उसे खोला गया, ये प्रश्न पूछे जा सकते हैं। अगर आपकी हॉबी संगीत है, आपका कोई पसंदीदा संगीतज्ञ है, तो उनकी पूरी जानकारी। उनके गीत को किसने लिखा, किसने कंपोज किया, किस फिल्म में वह संगीत आया? ऐसे कई प्रश्न पूछे जा सकते हैं, जिसकी पूरी डिटेल अभ्यर्थियों को पता होनी चाहिए।

इनको खुद तैयार करना होगा अपना जवाब
उन्होंने कहा कि कई बार इंटरव्यू में एमबीबीएस डॉक्टर, बीडीएस डॉक्टर और स्पेशल कोर्स करने वाले भी आ जाते हैं। उनसे पूछा जाता है कि आपने इतने कठिन प्रयास किए, डॉक्टर बने। फिर यहां क्यों आना चाहते हैं? इस सवाल का अभ्यर्थियों को खुद ही जवाब तैयार होगा। क्योंकि इसके कारण अलग-अलग हो सकते हैं। जब भी इस सवाल का जवाब दें, तो वह जवाब समुचित बनाकर दें।

MPPSC इंटरव्यू के टिप्स:इंटरव्यू रूम के अंदर जाते ही झलके आपका कॉन्फिडेंस, आंसर ऐसा दें कि उससे दूसरा प्रश्न न बने

UPSC-CAPF में AIR-29 रैंक होल्डर ने बताए सक्सेस टिप्स:इंदौर के ऐश्वर्य बोले- एग्जाम में वेटेज के हिसाब से सब्जेक्ट पर फोकस करें, रिवीजन भी होना चाहिए