केंद्रीय मंत्री से मिले आयुष मंत्रालय के पदाधिकारी:गडकरी ने कहा कि मैं होम्योपैथिक दवा ही सेवन करता हूं, शरीर में इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता

इंदौर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्रीय मंत्री गडकरी से चर्चा करते आयुष मंत्रालय 
के सदस्य डॉ. दुबे। - Dainik Bhaskar
केंद्रीय मंत्री गडकरी से चर्चा करते आयुष मंत्रालय के सदस्य डॉ. दुबे।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के गुरुवार को इंदौर में रहने के दौरान उनसे आयुष मंत्रालय के पदाधिकारी ने मुलाकात की। इस दौरान गडकरी ने कहा कि मैं खुद होम्योपैथिक दवा का सेवन करता हूं। होम्योपैथी चिकित्सा सदैव लाभकारी होती है। शरीर में इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। यह जटिल बीमारियों से बचाती है व रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ाती है।

मंत्रालय के पदाधिकारी डॉ. एके द्विवेदी ने उन्हें अवगत कराया कि 2015 से ही आयुष मंत्रालय के लिए सतत् काम किया जा रहा है। आयुष मंत्रालय के तहत केन्द्रीय होम्योपैथिक अनुसंधान परिषद् में होम्योपैथी तथा होम्योपैथी अनुसंधान जुड़े सभी सलाह को महत्वपूर्ण माना जाता है। कोरोना और ब्लैक फंगस के दौरान बैठकों में इसकी महत्ता बताई गई।

होम्योपैथी दवाएं डेंगू की रोकथाम में कारगर

इस दौरान होम्योपैथी इलाज से अप्लास्टिक एनीमिया के ठीक हुए मरीजों के दस्तावेज भी गडकरी को बताए गए। देश के प्रतिष्ठित अस्पतालों से इलाज कराने के बाद भी जब लोगों तकलीफ कम नहीं होती तो वे होम्योपैथी की ओर रुख करते हैं। होम्योपैथी की दवाएं डेंगू की रोकथाम व प्लेटलेट्स बढ़ाने में भी कारगर हैं। इस पर गडकरी ने डॉ. दुबे के इस दिशा में किए जा रहे कामों को सराहा। इस मौके पर शंकर लालवानी, भाजपा नगर अध्यक्ष गौरव रणदिवे, पूर्व विधायक जीतू जिराती आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...