बच्चों की परमिशन पर बड़ों का गरबा!:इंदौर के ऑक्सफोर्ड कॉलेज ने परमिशन ली 800 बच्चों की और बुला लिए 5 हजार से ज्यादा यूथ; संचालक पर दर्ज हो सकता है एक और केस

इंदौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इंदौर के जिस ऑक्सफोर्ड कॉलेज में गरबा और फिर गैर हिंदुओं की एंट्री पर हंगामा हुआ, वहां परमिशन सिर्फ 800 बच्चों की थी। रविवार रात 9 बजे तक की ही इजाजत SDM पराग जैन ने दी थी। तय समय के बाद भी गरबा जारी था। पुलिस के मुताबिक आयोजक अक्षांशु तिवारी ने बच्चों के नाम पर 5 हजार से ज्यादा युवा इकट्‌ठा कर लिए थे। थाने तक में इसकी जानकारी नहीं दी गई थी। गरबे में कोविड गाइडलाइंस का भी उल्लंघन हुआ। कॉलेज संचालक पर एक और केस दर्ज हो सकता है।

TI संतोष यादव ने बताया कि गरबे में पकड़ाए गैर हिंदू युवकों हबीब, वाजिद, शाहिद, अदनान और अय्यूब पर प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की गई है। कॉलेज संचालक और आयोजक अक्षांशु तिवारी पर भी केस दर्ज किया है। TI के मुताबिक, अक्षांशु को पूछताछ के लिए दोबारा थाने बुलाया जा सकता है। बच्चों की परमिशन लेकर युवाओं का आयोजन कराने पर पूछताछ के बाद एक और केस गलत जानकारी देने का दर्ज किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि अक्षांशु के कॉलेज के अलावा दो स्कूल और हैं। स्कूली बच्चों के नाम पर ही उसने परमिशन मांगी थी।

गरबा स्थल।
गरबा स्थल।

कुछ कहने से बच रहे अफसर
SDM द्वारा इतने बढ़े स्तर के आयोजन को लेकर अनुमति दी गई थी। संबंधित थाने गांधीनगर को इसकी जानकारी ही नहीं दी गई। मामले में पुलिस के बड़े अधिकारी और SDM कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

बजरंग दल जिला प्रमुख का दावा- जुटे थे 25 हजार
बजरंग दल के जिला प्रमुख तनु शर्मा ने बताया कि सूचना मिली थी कि बिना परमिशन के गरबा का आयोजन रखा गया है। जब हम वहां पहुंचे तो 800 की परमिशन थी, लेकिन मौके पर 25 हजार युवक-युवतियां जुटे थे। कुछ गैर हिंदू लड़के भी हिंदू लड़कियों के साथ गरबा करते पाए गए। चार लड़कों को तो हमने खुद पकड़कर पुलिस को सौंपा।

यहां पढ़िए पूरा मामला:-
इंदौर ऑक्सफोर्ड कॉलेज में VHP, बजरंग दल ने रुकवाया गरबा

पढ़िए, MP के छोटे से गांव का यह लड़का कैसे बना MBA चायवाला, गुंडों की मार तक खाना पड़ी