• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Garden And Hotel hall Operators Will Also Be Responsible If There Are More Than 250 Guests In The Marriage Ceremony

प्रशासन ने विस्तृत कोविड गाइड लाइन जारी की:विवाह समारोह में 250 से अधिक मेहमान होने पर गार्डन और होटल-हॉल संचालक भी होंगे जिम्मेदार

इंदौर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोविड-19 की तीसरी लहर से निपटने के लिए राज्य सरकार की मंजूरी के बाद विस्तृत गाइड लाइन जारी कर दी है। विवाह समारोह में 250 की संख्या को यथावत रखते हुए कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा यदि यह संख्या ज्यादा हुई तो आयोजकों के साथ होटल-हॉल या मैरिज गार्डन संचालक, टेंट संचालक, केटरर्स पर भी प्रतिबंधात्मक कार्रवाई होगी। अलग-अलग क्षेत्रों में कोविड मरीजों की संख्या को देखते हुए एसडीएम को कंटेनमेंट जोन बनाने के निर्देश दिए हैं। ऐसे जोन में 7 दिन तक कोविड प्रोटोकॉल का पालन जरूरी होगा।

काेविड रोकथाम के लिए यह निर्णय भी, नहीं मानने पर होगी कानूनी कार्रवाई

  • मास्क को लेकर और सख्ती होगी। निगम को कहा है कि मास्क नहीं पहनने पर 200 रुपए का चालान बनाया जाए। अभियान में और टीमें बढ़ाकर इसका पूरी तरह पालन करवाएं। यदि निकाय के कर्मचारी के साथ इस संबंध में कोई अभद्रता करता है तो उसे थाने ले जाकर धारा 188 के तहत केस दर्ज करवाया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में यह व्यवस्था सीईओ जनपद देखेंगे।
  • रात्रिकालीन कर्फ्यू 11 से सुबह 5 बजे तक रहेगा। अनावश्यक घूमने वालों पर कार्रवाई होगी।
  • जिला प्रशासन की अलग-अलग टीमें अब सैंपलिंग पर भी नियंत्रण रखेंगी।
  • 8 सरकारी कोविड केयर सेंटर के अलावा इंडेक्स मेडिकल कॉलेज में 500 बेड और सेवा कुंज में 300 बेड का सेंटर स्थापित किया गया है। यहां का शुल्क 700 रुपए प्रतिदिन होगा। इसकी मॉनिटरिंग अपर कलेक्टर पवन जैन करेंगे।
  • कोविड केयर सेंटर और हेल्पलाइन नंबर 1075 से आम जनता को चिकित्सा परामर्श, टेली मेडिसिन, बेड की व्यवस्था और मरीजों की संख्या पर नजर रखी जाएगी।
  • कोविड केयर सेंटर की जिम्मेदारी आईडीए सीईओ विवेक श्रोत्रिय और चिकित्सा संबंधी काम डॉ. अमित मालाकार देखेंगे।
  • 51 फीवर क्लिनिक भी पूरे समय चलेंगे। इनकी मॉनिटरिंग संबंधित क्षेत्र के एसडीएम करेंगे।
  • मुख्यमंत्री नि:शुल्क कोविड केयर उपचार योजना का काम एडीएम अजयदेव शर्मा देखेंगे। आयुष्मान योजना में 48 अस्पताल रजिस्टर्ड हैं। 8 अस्पताल अगले तीन दिन में और जुड़ जाएंगे। अस्पताल संचालकों की जिम्मेदारी होगी कि वे इस योजना का पूरा लाभ जनता को दें।
  • जिले में कोविड प्रबंधन और सरकारी-निजी अस्पतालों पर नियंत्रण अपर कलेक्टर अभय बेड़ेकर देखेंगे। उनके निर्देशन में ही जिले के सभी अधिकारी, सीएमएचओ व उनकी टीम पूरा काम देखेगी।
खबरें और भी हैं...