भास्कर एक्सक्लूसिवनिजी कंपनी के GM का पूरा सुसाइड नोट:मुझे मारने के लिए पत्नी को पिस्टल दी, जहरीला केमिकल दे रहे थे...

कपिल राठौर। इंदौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इंदौर में महालक्ष्मी नगर के पास रहने वाले जनरल मैनेजर हितेश पाल ने शनिवार रात सुसाइड कर लिया। दो पेज के सुसाइड नोट में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। पत्नी की बेवफाई से आहत होकर वह किस तरह डिप्रेशन में चल रहा था? पिता से बातचीत में इस बात का खुलासा हुआ। पिता ने डॉक्टर के पास जाने की सलाह दी। एक दिन पहले ही इसकी रिपोर्ट आई तो पता चला कि शरीर में किसी तरह का केमिकल दिया जा रहा है, जो नुकसानदायक है। इधर, सीसीटीवी कैमरों की रिकॉर्डिंग में भी पत्नी की गतिविधियां संदिग्ध नजर आने लगीं।

लसूड़िया पुलिस के मुताबिक हितेश ने सुसाइड के पहले दो पन्नों का नोट लिखा था। इसमें अपनी पत्नी, उसके दोस्त कृष्णा राठौर रतलाम और सहेली रानी (मनासा) का जिक्र किया। हितेश के सुसाइड की इनसाइड स्टोरी जानेंगे, लेकिन इससे पहले पढ़िए हितेश का शब्दश: सुसाइड नोट...

मैं हितेश पाल पिता लक्ष्मण जी पाल निवासी, 551, एमआर-6, महालक्ष्मी नगर, इंदौर आत्महत्या (जो कि मर्डर है) करने जा रहा हूं। क्योंकि कल दिनांक 10 फरवरी 2023 को मैंने अपनी पत्नी को उसके आशिक कृष्णा राठौर के साथ रंगे हाथों महालक्ष्मी नगर स्थित महालक्ष्मी मंदिर के गार्डन में पकड़ा। वाट्सएप के माध्यम से मैं पिछले कुछ दिनों से इन दोनों पर नजर रखे था। और कल जाकर ये लोग पकड़ में आए।

मुझे चैट के माध्यम से पता चला कि ये दोनों कृष्णा राठौर के रूम पर मिला करते थे। 10 फरवरी को भी ये मंदिर से रूम पर ही जाने वाले थे। जो नंबर जिन पर आपस में चैटिंग होती थी वो इस प्रकार हैं xx898xxx98 और कृष्णा राठौर का नंबर जो बबीता के नाम से सेव था xxxxxxxxxx।

हितेश और उसकी पत्नी। दूसरे चित्र में कृष्णा राठौर, जिस पर हितेश ने सुसाइड नोट में कई आरोप लगाए हैं।
हितेश और उसकी पत्नी। दूसरे चित्र में कृष्णा राठौर, जिस पर हितेश ने सुसाइड नोट में कई आरोप लगाए हैं।

इन दोनों नंबरों की चैटिंग निकाली जाए, क्योंकि मिलना-जुलना सब पिछले 1 से 1.5 साल से चल रहा है। मेरी बीवी कई बार कृष्णा राठौर को महंगे गिफ्ट दिया करती थी और कहती थी कि ये मेरा भाई है। पेमेंट का भी लेनदेन करती थी। हद तो तब हो गई जब पत्नी ने कुछ दिन पहले JEEP Compass कार नंबर xxxxxxxx कृष्णा को गिफ्ट की, जो कि उसके नाम पर है। जिसका मुझे आज पता चल रहा है।

इन सब में रानी उदासी (भाभी मनासा) भी शामिल है। ये तीनों लोग मिलकर मेरे घर इंदौर में तथा रानी उदासी के घर (मनासा) में तांत्रिक क्रियाएं करते थे। मुझे पिछले एक साल से धीमा जहर दे रहे थे। जिस वजह से मैं सुस्त रहने लगा और मेरा पूरा शरीर काला पड़ गया। जो कि पोस्टमॉर्टम में पता चल जाएगा। उक्त विषय में पुलिस प्रशासन से निवेदन रहेगा कि सारी चैटिंग खंगाले और दोषियों को सजा दे।

मेरी बीवी तांत्रिक क्रिया तथा मुझे कुछ खिलाकर सारी प्रॉपर्टी अपने नाम करती गई। जो मेरे मरने के बाद मेरे बेटे युवराज तथा मेरे माता-पिता को दी जाए। वो मुझे मारना चाहती थी, तभी उसने सभी पॉलिसी में नॉमिनी में अपना नाम डलवाया।

मेरी मौत (धीमे जहर से मर्डर) के जिम्मेदार ये तीन लोग हैं
1. मेरी पत्नी
2. कृष्ण राठौर पुत्र कैलाश राठौर, रतलाम (मावा वाला)
3. रानी उदासी, मनासा

अब जानिए दूसरे पन्ने पर क्या लिखा है हितेश ने...

जीवन में जिन लोगों ने मेरा साथ दिया मैं उनका धन्यवाद करता हूं...
1. सोनू सर (मेरे बड़े भाई समान मेरे गुरु)
2. मेरे माता-पिता, भाई-बहन।
3. प्रशांत शुक्ला (भाई)
4. मेरी बुआ का लड़का राधेश्याम
सबका दिल से धन्यवाद।

बेटा युवराज तू अभी ये सब समझने के लिए छोटा है, पर तेरी मां एक डायन और चरित्रहीन औरत है। तू अपने दादा-दादी के पास रहना।
सोनू सर और राधेश्याम तुम सबको ये केस जीतना है।
सोनू सर आप मुझे जो बैलेंस 8 लाख देने वाले हैं, वो आप मेरे भाइयों राजेश पाल और राधेश्याम के साथ केस में लगाना। कोई चीज की कमी मत होने देना।

इन्वेस्टिगेशन करते समय आपको हमारे मंदिर में तांत्रिक क्रियाओं की चीजें मिल जाएंगी। जो ये सब लोग मेरे ऊपर करा करते थे। और बोलते थे कि इसलिए तुम्हारे पास इतना पैसा है। अगर हम ये नहीं करेंगे तो आपका पैसा और इज्जत दोनों चली जाएगी। इस कृष्णा राठौर के मेरी बीवी तथा रानी उदासी के अलावा भी कई औरतों से संबंध हैं। मुझे डराने के लिए कृष्णा राठौर ने एक पिस्टल भी मेरी बीवी को दे रखी थी जो मुझे कल कपड़ों में से मिली। उसे मैंने हमारे बेडरूम के ऊपर बने फर्नीचर पर रख दी है। वो भी बरामद करें।
ये शरीफों की दुनिया नहीं है...
हितेश...

हितेश की पत्नी। उसने भाजपा विधायक रमेश मेंदोला के साथ अपना ये फोटो वाट्सएप की प्रोफाइल पर लगा रखा है।
हितेश की पत्नी। उसने भाजपा विधायक रमेश मेंदोला के साथ अपना ये फोटो वाट्सएप की प्रोफाइल पर लगा रखा है।

अब जानिए हितेश के पिता ने क्या कहा

हितेश के पिता ने बताया कि बेटा पिछले कुछ माह से परेशान चल रहा था। एक माह से उसकी बॉडी में काफी बदलाव हुआ। हितेश ने बताया था कि उसे रोज-रोज चक्कर आते हैं। वह जल्दी थक जाता है। ऑफिस में काम करते हुए नींद आने लगती है। शरीर काला पड़ रहा है। डॉक्टर से बात कर ट्रीटमेंट कराया। हितेश ने बताया था कि उसे कुछ जहरीला केमिकल दिया जा रहा है। जिससे उसके शरीर में रिएक्शन शुरू हो गए।

भाई बोला- हितेश ने पहले कैमरे का कनेक्शन निकाला, फिर फंदे पर झूला

हितेश के भाई राजेश के मुताबिक रात में वह कमरे पर आया। इसके बाद उसने अपने घर में लगे कैमरों का कनेक्शन निकाल दिया। इसके बाद उसने सुसाइड कर लिया। राजेश ने कहा- भाई की पत्नी और कृष्णा के रंगे हाथ पकड़ाए जाने के बाद तीनों के बीच काफी विवाद हुआ था। हितेश ने पत्नी के खिलाफ थाने जाने की बात कही थी, लेकिन इससे पहले हितेश की पत्नी को कृष्णा लसूड़िया थाने ले गया और उसके पति के खिलाफ ही शिकायत कर दी।

बड़े भाई राजेश ने कहा कि हितेश पर उसकी पत्नी ने मारपीट करने और चरित्र शंका के आरोप लगाए। इस शिकायत के आधार पर पुलिस ने हितेश को बयान के लिए बुलाया था। इससे हितेश बुरी तरह डर गया था। यही कारण था कि जब पापा यहां आए तो हितेश ने उन्हें घर न बुलाकर होटल में ही रुकवाया। राजेश ने बताया कि हितेश ने अपने घर में कैमरे लगवाए थे। जिसकी डायरेक्ट फीड वह देखता था। उसने कई बार देखा कि उसकी गैर मौजूदगी में कृष्णा का उसके घर का आना-जाना था। उस वक्त बेटा युवराज भी स्कूल जाने के कारण घर पर नहीं होता था। कई बार इसी कैमरे पर हितेश ने घर में तांत्रिक क्रियाएं करते हुए भी कृष्णा और पत्नी को देखा था। जिसके बाद हितेश का दोनों पर शक गहराने लगा था।

सुसाइड नोट का पहला पेज।
सुसाइड नोट का पहला पेज।

दो साल पहले पड़ोसी बनकर आया था कृष्णा

राजेश के मुताबिक हितेश मनासा का रहने वाला है। वहीं उसकी पत्नी नजदीक के गांव सरवानिया महाराज की रहने वाली है। 2008 में दोनों की शादी पारिवारिक राजी-मर्जी से हुई थी। हितेश करीब 10 साल पहले पत्नी और बेटे युवराज को लेकर इंदौर आ गया। यहां स्पेस पार्क के पास महालक्ष्मी नगर में फ्लैट ले लिया। पत्नी इंदौर में ऑनलाइन कपड़ों का काम करने लगी। जबकि हितेश कंपनी में कामों में व्यस्त रहने लगा।

राजेश के मुताबिक जिस बिल्डिंग में हितेश अपनी पत्नी और बेटे युवराज के साथ रहता था। उसी बिल्डिंग में कृष्णा किरायेदार बनकर फ्लैट में आया था। कृष्णा के परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं। यहां हितेश की पत्नी से पहचान होने के साथ उसने बताया था कि वह उसे बहन की तरह ट्रीट करता है।

सुसाइड नोट का दूसरा पेज।
सुसाइड नोट का दूसरा पेज।

छह भाई-बहन में सबसे छोटा

हितेश के परिवार में राजेश सबसे बड़े हैं। इनसे छोटी चार बहनें हैं, जिनकी शादी हो चुकी है। हितेश छह भाई-बहन में सबसे छोटा और सबसे ज्यादा पढ़ा-लिखा था। हितेश के पिता बिजली कंपनी से कुछ साल पहले ही रिटायर हुए हैं। जबकि उसके ससुर बैंक से रिटायर हुए हैं। सुसाइड नोट में जिस रानी का जिक्र किया गया है। वह उसकी पत्नी की सहेली है।

खबरें और भी हैं...