बीएससी नर्सिंग:2019 में प्रवेश लिया, लेकिन परीक्षा अब तक नहीं

इंदौर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मेडिकल यूनिवर्सिटी बार-बार स्थगित कर रही टाइम-टेबल, इस साल भी एडमिशन तय नहीं

बीएससी नर्सिंग कोर्स को लेकर जबलपुर स्थित मेडिकल यूनिवर्सिटी बार-बार एक्जाम स्थगित कर रही है। यूनिवर्सिटी की लापरवाही का खामियाजा छात्रों को भुगतना पड़ रहा है। 2019-20 सत्र में प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों की एक भी एग्जाम अब तक नहीं हो पाई है। छात्रों को नए टाइम-टेबल का इंतजार है।

चौंकाने वाली बात यह है कि यूनिवर्सिटी अपने ही फैसलों को बार-बार बदल रही है। छात्र अब यूनिवर्सिटी के खिलाफ कोर्ट जा रहे हैं। यही नहीं वे जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखेंगे। दरअसल यूनिवर्सिटी पहले इन छात्रों को जनरल प्रमोशन के आधार पर पास करने का निर्णय दे चुकी थी। फिर यू टर्न ले लिया। ओपन बुक एग्जाम की भी बात चली लेकिन निर्णय नहीं हो सका।

सत्र 2020-21 के विद्यार्थी भी इंतजार में

चार वर्ष के इस कोर्स के 2019 सत्र के विद्यार्थियों की एग्जाम पिछले साल सितंबर में होना थी। इस माह उनकी सेकंड ईयर की एग्जाम रहती, लेकिन लापरवाही का आलम यह है कि अब तक प्रथम वर्ष की एग्जाम भी नहीं हो पाई है। न ही छात्रों को टाइम-टेबल मिला है। इधर, 2020 सत्र के विद्यार्थियों की प्रथम वर्ष की एग्जाम इस माह होना थी, लेकिन वे भी इंतजार कर रहे हैं।

कॉलेज एसाेसिएशन के अवधेश दवे व रवि भदाैरिया का कहना है कि एक्जाम में देरी से छात्राें व कॉलेजाें काे बहुत नुकसान हाे रहा है। नई एडमिशन प्रक्रिया में भी कई दिक्कतें हैं। अगर सुधार नहीं हुआ ताे स्थापित कॉलेजाें के सामने संकट खड़ा हो जाएगा।

छात्र बोले- अब जनरल प्रमोशन दें

छात्रों का कहना है कि कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए 2019-20 के फर्स्ट, सेकंड और थर्ड ईयर के छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन के हिसाब से अंक दिए जाएं। यदि जनरल प्रमोशन नहीं दे सकते तो परीक्षाएं ऑनलाइन या ओपन बुक के माध्यम से ली जाएं। चार साल के कोर्स की डिग्री चार साल में ही पूरी की जाए।

जब पीएससी और डीएवीवी एग्जाम ले सकते हैं तो ये क्यों नहीं?

  • इसी साल 21 से 26 मार्च तक एमपी पीएससी ने राज्य सेवा मुख्य परीक्षा 2020 आयोजित की।
  • इसी साल 25 जुलाई को सवा तीन लाख छात्रों की राज्य सेवा प्री एग्जाम- 2020 भी आयोजित की गई।
  • डीएवीवी ने 31 अगस्त और 4 सितंबर को सीईटी आयोजित की। सवाल यह है कि जब ये सारी एग्जाम हो सकती है तो बीएससी नर्सिंग की क्यों नहीं हुई।
खबरें और भी हैं...