पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

हजयात्रा:हज जाना 80 हजार रुपए से ज्यादा महंगा, अभी इंदौर से 360 आवेदन

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • ऑनलाइन आवेदन करने की आखिरी तारीख 10 जनवरी, उड़ान से 72 घंटे पहले हर यात्री को कराना होगा आरटी-पीसीआर टेस्ट

हाजियों को 2019 में हुई हज की तुलना में इस बार 80 हजार रुपए से ज्यादा रुपए खर्च करना होंगे। 2019 में हज करने के लिए हाजियों को 2 लाख 50 हजार रुपए चुकाना पड़े थे। इस बार मुंबई से जाने वाले प्रति यात्री का 3 लाख 29 हजार 279 रु. का खर्च संभावित है। उड़ान से 72 घंटे पहले हरेक हजयात्री को आरटी-पीसीआर टेस्ट भी कराना होगा।

इस बार सऊदी अरब वीसा फीस के नाम पर हज यात्रियों से 300 रियाल वसूलेगा। वैट की दर भी 5 से बढ़ाकर 15% कर दी है। हज के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की आखिरी तारीख 10 जनवरी तय की है। हजयात्रा अगस्त में संभव है। काेरोना के चलते यात्रियों को कई तरह की पाबंदियों और हिदायतों के साथ हज करना होगा। सऊदी अरब सरकार ने मक्का-मदीना में परिवहन, आवासीय व भोजन की व्यवस्थाएं बदली हैं।

यह बदलाव हुए.. यात्रियों को खाना बनाने की सुविधा नहीं होगी, होटल से भोजन खरीदकर खाना होगा
पूर्व जिला हज कमेटी के अध्यक्ष फारूक राइन के अनुसार मप्र से अब तक करीब 2585 ऑनलाइन आवेदन आ चुके हैं। इसमें इंदौर से 360 से ज्यादा फॉर्म जमा हुए हैं। पहले सऊदी अरब में हाजी ग्रीन एवं अजीजिया श्रेणी में ठहरते थे। ग्रीन कैटेगरी में पांच सितारा सुविधाओं के साथ सऊदी के हरम शरीफ के आसपास ठहराया जाता था। वहीं, अजीजिया श्रेणी में खर्च कम होने के कारण 10 से 15 किमी दूर ठहराया जाता था। इसमें हाजी साथ में आटा, दाल, चावल सहित अन्य सूखा सामान लेकर जाते थे और वहीं खाना बनाते थे। इस बार दोनों श्रेणियों को खत्म कर दिया है। सभी को एक ही श्रेणी में ठहराया जाएगा। हाजियों को खाना बनाने की सुविधा नहीं होगी।

पाबंदी... इनको हज पर जाने की नहीं होगी अनुमति
गर्भवती महिलाओं को हजयात्रा पर जाने की इजाजत नहीं है। इसी तरह किडनी, लिवर, कैंसर, हार्ट से संबंधित रोगियों की यात्रा पर भी उनकी स्वास्थ्य सुरक्षा की खातिर प्रतिबंध लगा दिया गया है। वहीं, 18 साल से कम व 65 वर्ष से ज्यादा उम्र के लोग भी हज पर नहीं जा सकेंगे।

जुर्माना... आवेदन निरस्त कराने पर देना पड़ेंगे रुपए
कोई हजयात्रा आवेदन निरस्त कराता है तो उसे रुपए देना होंगे। 31 मार्च तक की अवधि में एक हजार जबकि 1 से 30 अप्रैल तक पांच हजार और उड़ान के दिन यात्रा निरस्त करने पर यह राशि 25 हजार रुपए या एकतरफ के किराए की राशि के बराबर राशि वसूली जाएगी।

फीस.. इस बार छह हजार रुपए लगेंगे वीजा के लिए
सऊदी अरब पहली बार हज यात्रियों से फीस वसूली के नाम पर 300 रियाल वसूलेगा। भारतीय मुद्रा में यह 6 हजार रुपए के लगभग राशि होगी। वैट फीस 5 फीसदी बढ़ाकर 15 फीसदी कर दी है। हज कमेटी ऑनलाइन फॉर्म जमा करने के लिए 300 रुपए ले रही है।

महंगाई... इन कारणों से ज्यादा चुकाना होगा पैसा
कार्यालय अधीक्षक एवं प्रभारी कार्यपालन अधिकारी मसूद अख्तर सिद्दीकी के अनुसार मक्का एवं मदीना में हजयात्रियों की परिवहन की व्यवस्था में बड़ा बदलाव हुआ है। अब 45 सीटर बस में 15 यात्री ही बैठ सकेंगे। इसका किराया तीन गुना ज्यादा देना होगा। कोरोना के कारण इस बार यात्रा अवधि 30 से 35 दिन रहेगी। पूर्व में यह अवधि 35 से 45 दिन तक रहती थी। हाजियों को कितने दिन क्वारेंटाइन रहना होगा, फिलहाल तय नहीं है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें