15 लाख महीना कमाने वाली महिला ठग के शौक:फॉरेन टूर और मुंबई-गोवा के पब में वीकेंड पार्टीज; चौकीदार हैं पिता

इंदौर9 महीने पहलेलेखक: कपिल राठौर

इंदौर की राऊ पुलिस ने करोड़ों रुपए की ठगी करने वाली पूजा थापा को 30 अप्रैल तक रिमांड पर लिया है। पूजा फर्जी एडवाइजरी कंपनी के जरिए ठगी कर रही थी। राइफल मैन को ठगने के मामले में पुलिस ने युवती और उसके साथी युवकों को पकड़ा था। पूछताछ में उन्होंने मास्टरमाइंड पवन और पूजा के नाम बताए थे। जानकारी के मुताबिक इन दोनों ने आठ महीने में एक करोड़ रुपए कमाए। यानी हर महीने लगभग 15 लाख रुपए। जबकि यही महिला पहले 12 हजार रु. महीने की नौकरी करती थी।

पुलिस ने पवन को तो दो दिन पहले पकड़ लिया था, लेकिन पूजा फरार थी। पुलिस ने उसकी बहन और मां पर दबाव बनाया। वहीं जीजा को भी हिरासत में ले लिया। जिसके बाद पूजा ने बुधवार को सीधे कोर्ट में सरेंडर कर दिया। आपको बताते हैं पूजा के ठगी की कहानी...

इंदौर के शेखर प्लेनेट में रहने वाली पूजा उर्फ आशी उर्फ शैफाली पर आरोप है कि उसने दादाजी ट्रेडर्स, ए वाय ट्रेडर्स, प्रखर जी और विजय नाम की फर्जी कंपनियां बनाईं। फिर लोगों से निवेश कराने और रुपए दोगुने करने की बात पर ठगी का खेल शुरू किया। पूजा सामान्य परिवार से आती है, लेकिन उसके शौक काफी महंगे हैं। वह वीकेंड पर मुंबई, गोवा और बेंगलुरु के पबों में पार्टी करने जाती थी। पिता मामूली सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करते हैं, लेकिन पूजा लग्जरी लाइफ जीती है। वह कई विदेश यात्रा भी कर चुकी है।

दवा कंपनी में गार्ड हैं पिता
पूजा थापा के पिता दवा कंपनी में गार्ड की नौकरी करते हैं। करीब 15 साल पहले वह पूजा की मां से अलग हो गए थे। जिसके बाद बड़ी बेटी अमृता उनके साथ रहने लगी, जबकि पूजा और छोटी बहन पायल अपनी मां के साथ रहने लगे। पूजा ने पहले मोहित और पंकज की एडवाइजरी कंपनी में नौकरी की। विजय नगर पुलिस मोहित को पहले ही पकड़ चुकी है। यहां पूजा करीब 500 लोगों के स्टाफ को संभालती थी, लेकिन उसका नाम सामने नहीं आया था। इसके बाद पवन और साथ में काम करने वाले अन्य साथियों की मदद से उसने खुद की कंपनियां डालीं।

बहन को फ्लाइट से शिमला भेजा
पुलिस ने पूजा को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। पुलिस को उसकी बहन अमृता की जानकारी मिली। पुलिस ने उसके पति प्रशांत चित्रे को हिरासत में लिया। प्रशांत की ये दूसरी शादी थी। पहली पत्नी से तलाक के बाद उसने अमृता से शादी की । प्रशांत पेशे से मैकेनिक है। वह और अमृता पहले देवास में ऑटोमोबाइल कंपनी में साथ काम करते थे। दोनों के बीच अफेयर हुआ। जिसके बाद पूजा ने उनकी शादी करवा दी। पूजा ने अपने खर्च से दोनों को शादी के बाद फ्लाइट से शिमला और मनाली घूमने भेजा था।

मास्टरमाइंड पूजा थापा ने बुधवार सुबह कोर्ट में सरेंडर कर दिया।
मास्टरमाइंड पूजा थापा ने बुधवार सुबह कोर्ट में सरेंडर कर दिया।

उठाती है पूरे परिवार का खर्च
पूजा के पिता अलग हो गए, लेकिन जरूरत पड़ने पर पूजा ही उनका खर्च उठाती थी। बहन अमृता के पास वह खर्चे के लिए रुपए भेजती थी। छोटी बहन पायल और पूजा की शादी नहीं हुई। दोनों अपनी मां के साथ इंदौर में रह रही थीं। पुलिस के मुताबिक उसने अपनी बहनों के नाम भी कुछ प्रॉपर्टी खरीद रखी है। इसकी जानकारी जुटाई जा रही है।

AU बैंक में मिला लॉकर
पूजा और उसकी बहन अमृता के AU बैंक में लॉकर होने की बात सामने आई है। जानकारी के मुताबिक इस लॉकर में करीब 8 लाख रुपए की ज्वेलरी रखी हुई है। जो पूजा ने अपनी बहन दी थी।

पुलिस ने पूजा को 30 अप्रैल तक का रिमांड पर लिया है।
पुलिस ने पूजा को 30 अप्रैल तक का रिमांड पर लिया है।

चार दिन की रिमांड पर लिया
राउ पुलिस ने बुधवार को पूजा को जिला कोर्ट से हिरासत में लिया है। पुलिस ने उसे 30 अप्रैल तक का रिमांड पर लिया है। इस दौरान पूजा से उन कंपनियों की जानकारी निकाली जाएगी, जिसमें वह लोगों से रुपए इन्वेस्ट कराती थी। पुलिस के मुताबिक उन्हें शंका है कि उक्त कंपनियां परिवार के लोगों के नाम से बनाई थीं। पूछताछ में पूजा कई नामों के खुलासे भी कर सकती है।

ये भी पढ़ें- पुलिस की सख्ती से डर कर पहुंची कोर्ट,एडवाइजरी में करोड़ों की ठगी की मास्टर माइंड है पूजा थापा