बड़े दिलवाली इंदौर पुलिस:आधी रात में सायकल से कर रहा था फूड डिलीवरी, पुलिस ने दिला दी बाइक

इंदौर7 महीने पहले

फूड डिलीवरी बॉय को सायकल पर डिलीवरी करते देख इंदौर पुलिस ने उसे नई बाइक दिला दी। इसके लिए विजय नगर थाने के स्टाफ ने अपनी एक दिन की सेलेरी दी। डिलीवरी बॉय के पास बाइक खरीदने के पैसे नहीं थे इसलिए वह सायकल पर ही डिलीवरी करता था।

विजय नगर थाना थाना प्रभारी तहजीब काजी ने बताया कि वे कुछ दिनों पहले गश्त पर थे। तभी उन्होंने साइकल से एक फूड डिलीवरी बॉय को देखा वह बहुत तेज गति से खाना डिलीवरी करने जा रहा था। काजी ने उसे रोक लिया। डिलीवरी बॉय ने कहा उसके पास बाइक खरीदने के पैसे नहीं हैं। और वह इतना भी नहीं कमाता कि पेट्रोल के पैसे चुका सके। इसके बाद थाना प्रभारी ने अपने पूरे स्टाफ से एक-एक दिन का वेतन इकट्‌ठा कर उसे एक नई बाइक दिला दी है।

पहले दिन फूड डिलीवरी का काम पूरा करने के बाद थाने पर पहुंचा जय। उसने कहा मैंने पहले ही दिन बाइक से एक हजार रुपए कमा लिए। उसने पूरे थाने को मिठाई भी खिलाने का कहा।
पहले दिन फूड डिलीवरी का काम पूरा करने के बाद थाने पर पहुंचा जय। उसने कहा मैंने पहले ही दिन बाइक से एक हजार रुपए कमा लिए। उसने पूरे थाने को मिठाई भी खिलाने का कहा।

घर में मां-भाई, रोज का खर्च भी नहीं निकल पाता
टीआई काजी ने बताया कि जय हल्दे निवासी (18 ) मालवी नगर ने बताया कि सायकल से कई बार खाना लेट पहुंचाने के कारण उसे ग्राहकों से डांट भी सुननी पड़ती थी। घर में मां और छोटा भाई है। रोज का खर्च चलाने के लिए 300 से 400 रुपए खर्च होते हैं। पिता 2 सालों से मजदूरी करने नासिक गए हैं। टीआई ने इसके बाद विजयनगर स्टाफ के एक दिन का वेतन इकट्‌ठा कर 32 हजार रुपए डाउन पेमेंट जमा कर उसे नई बाइक दिलवा दी।

थाने से फोन आया तो डर गया, पहुंचा तो गाड़ी दिला दी -
जय ने कहा रविवार दोपहर उसके पास विजयनगर थाने से फोन आया। थाने बुलाने के नाम वह डर गया। मां ने कहा कि कुछ गलत तो नहीं करा है। जय हिम्मत जुटा कर थाने पहुंचा तो डरकर साइकिल भी थाने के बाहर ही खड़ी कर दी। तब टीआई ने उससे कहा तुम्हें एक नई बाइक दिला देते हैं। किश्त जमा कर पाओगे? जय ने इसके लिए तत्काल हां कर दी।

गाड़ी लेने के बाद सीधे निकल गया काम पर, पहले ही दिन एक हजार रुपए कमाए
जय को नई बाइक मिलने के बाद वह सीधे फूड डिलीवरी करने निकल गया। देर रात डिलेवरी ख़त्म होने के बाद वह फिर थाने पहुंचा और टीआइ को बताया कि उसने शाम 5 से रात 12 बजे तक 1 हजार रुपए कमा लिए हैं।

थाने आया साइकल से निकला बाइक से।
थाने आया साइकल से निकला बाइक से।