• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • If The Police Can Give Protection, They Will Sit In The Court With A Revolver And Sword, Implement The Protection Act, Otherwise Give The License Of The Revolver.

वकीलों की गिरफ्तारी पर बड़ा बयान:इंदौर बार एसोसिएशन अध्यक्ष बोले- हम रिवॉल्वर और तलवार लेकर कोर्ट आएंगे, लाइसेंस दें

इंदौर2 महीने पहले

इंदौर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष दिनेश पांडे ने कहा है कि हम रिवॉल्वर और तलवार लेकर कोर्ट में आएंगे। दरअसल, 5 अक्टूबर को जबलपुर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट के बाहर धरने पर बैठे वकीलों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इसके विरोध में गुरुवार को राज्य अधिवक्ता परिषद के कहने पर वकील हड़ताल पर हैं। जबलपुर की घटना पर ही दिनेश पांडेय ने यह बयान दिया है।

इंदौर बार एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा है कि यदि पुलिस कोई कदम नहीं उठाती है, तो हम रिवॉल्वर और तलवार लेकर जिला कोर्ट में आया करेंगे। इसके अलावा हमारे पास कोई अन्य विकल्प नहीं है। न हम कोई विवाद करना चाहते हैं, न ही हम अपराधी बनना चाहते हैं। हम कानून को अपने हाथ में नहीं लेना चाहते हैं। लेकिन, इस तरह की घटना इंदौर में होती है तो बार एसोसिएशन उसका मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार है। यदि वकीलों के प्रोटेक्शन एक्ट की मांग नहीं सुनी जाती है, तो हमें रिवॉल्वर के लाइसेंस दे दिया जाए, जिससे कि हम अपनी सुरक्षा स्वयं कर सकें।

8 हजार केस की सुनवाई प्रभावित

जबलपुर की घटना को लेकर इंदौर में भी वकील हड़ताल पर हैं। डिस्ट्रिक्ट और हाई कोर्ट की इंदौर बेंच में इसके चलते करीब 8 हजार केस की सुनवाई प्रभावित है।

ये था मामला

जबलपुर डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में गेट नंबर एक से एंट्री रोके जाने पर 5 अक्टूबर को वकील धरने पर बैठ गए थे। इसी बीच प्रधान जिला सत्र न्यायाधीश नवीन कुमार सक्सेना की कार पहुंची तो वकीलों ने रोक ली। मजबूरन उन्हें पैदल ही अंदर जाना पड़ा था। नाराज जिला सत्र न्यायाधीश ने इसकी शिकायत एसपी-कलेक्टर से कर दी थी। इसके बाद पांच थानों का बल मौके पर पहुंचा और वकीलों को गिरफ्तार कर लिया था। कुछ देर बाद सभी को छोड़ दिया गया था।

हाईकोर्ट के जस्टिस श्रीधरन भी पहुंचे थे

घटना की जानकारी पर हाईकोर्ट के जस्टिस अतुल श्रीधरन भी मौके पर पहुंच थे। उन्होंने जबलपुर जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सुधीर नायक व सचिव राजेश तिवारी से बातचीत की। साथ ही पार्किंग समस्या दूर करने का भरोसा दिलाया था। बेसमेंट पार्किंग का निरीक्षण किया था।

ये भी पढ़ें:- MP में आज वकील हड़ताल पर

खबरें और भी हैं...