पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंदौर के 3 युवकों की दर्दनाक मौत:बारात में जा रही कार सड़क किनारे बबूल के पेड़ में घुसी, अगला हिस्सा चकनाचूर; कार में फंसे ड्राइवर के शव को आधे घंटे बाद निकाला जा सका

इंदौर/देवास3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आगे से कार के दबने के कारण चालक जितेंद्र का शव अंदर ही फंस गया था। आधे घंटे की मशक्कत के बाद निकाला गया। - Dainik Bhaskar
आगे से कार के दबने के कारण चालक जितेंद्र का शव अंदर ही फंस गया था। आधे घंटे की मशक्कत के बाद निकाला गया।
  • इंदाैर-बैतूल नेशनल हाईवे पर चापड़ा के पास हुई घटना, एक काे गंभीर हालत में देवास रेफर किया

इंदाैर-बैतूल नेशनल हाईवे पर चापड़ा में गुरुवार शाम बारात में जा रही सड़क किनारे बबूल के पेड़ में घुस गई। कार की रफ्तार इतनी तेज थी कि वह अनियंत्रित होकर दूसरी साइड चली गई। हादसे में कार का अगला हिस्सा पूरी तरह से चकनाचूर हाे गया। 3 युवकाें की माैके पर ही माैत हाे गई। आगे चालक के साइड में बैठा युवक गंभीर रूप से घायल हाे गया, जिसे देवास रेफर किया गया।

पुलिस के अनुसार नेहरू नगर राऊ इंदौर निवासी जितेंद्र पिता ब्रजलाल चाैहान (26) के साले की शादी थी। इसमें शामिल होने के लिए जितेंद्र अपने दोस्त राेहित पिता कालू मुनिया (22), कान्हा उर्फ कन्हैया पिता देवकरण (22) और आकाश पिता मुकेश जाटव (22) के साथ किसी परिचित की कार लेकर ससुराल मातमाेर थाना बागली आए थे। यहां से जितेंद्र के साले की बारात उज्जैन के पास जा रही थी। ये चाराें भी बारात के पीछे कार में जा रहे थे।

कार रांग साइड जाकर सड़क किनारे बबूल के पेड़ में घुस गई।
कार रांग साइड जाकर सड़क किनारे बबूल के पेड़ में घुस गई।

चापड़ा से एक किलाेमीटर दूर नेमावर की ओर गंगाराम पाटीदार के मकान के सामने कार दूसरी साइड जाकर एक बबूल के पेड़ में घुस गई। कार जैसे ही पेड़ से टकराई तेज आवाज आई और उसे सुनकर आसपास के लाेग माैके पर पहुंचे। हादसे में कार चला रहे जितेंद्र चाैहान, राेहित मुनिया एवं कान्हा उर्फ कन्हैया की माैके पर ही माैत हाे गई। जबकि जितेंद्र के साइड में बैठा आकाश जाटव गंभीर रूप से घायल हाे गया। इधर, सूचना मिलते ही बागली थाना प्रभारी जयराम चाैहान माैके पर पहुंचे। ग्रामीणाें की मदद से पुलिस ने तीनाें युवकाें के शव और गंभीर घायल आकाश काे बाहर निकाला। पुलिस ने सभी को बागली अस्पताल पहुंचाया, जहां से आकाश काे देवास रैफर कर दिया गया।

पुलिस ने सभी को बागली अस्पताल पहुंचाया, जहां से आकाश काे देवास रेफर कर दिया गया।
पुलिस ने सभी को बागली अस्पताल पहुंचाया, जहां से आकाश काे देवास रेफर कर दिया गया।

​​​दबने से चालक फंसा, आधे घंटे की मशक्कत के बाद निकाला
प्रत्यक्षदर्शियाें के अनुसार कार की गति इतनी तेज थी कि उसका अगला हिस्सा पूरी तरह से चकनाचूर हाे गया। आगे से कार के दबने के कारण ड्राइव कर रहे जितेंद्र का शव अंदर ही फंस गया था, जिसे ग्रामीणाें और पुलिस ने करीब आधे घंटे की मशक्कत के बाद निकाला।

खबरें और भी हैं...