पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बच्चों के छत पर खेलने पर पाबंदी:छत पर खेल रहे बच्चों को यहीं रहने वाले ने दी धमकी, बोला - अब आए तो टांगे तोड़कर छत से फेंक दूंगा, महिला से बोला - जिसे बुलाना है, बुला ले

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नूतन ने वीडियो जारी कर अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी। - Dainik Bhaskar
नूतन ने वीडियो जारी कर अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी।

यदि अब बच्चों में मैंने छत पर खेलते देखा, तो उनकी टांग तोड़कर उन्हें नीचे फेंक दूंगा। यह शब्द अपार्टमेंट में रहने वाले एक व्यक्ति के यहीं रहने वालों बच्चों से कहे। महिला का आरोप है कि वह बच्चों के साथ छत पर टहल रही थी, तभी वहीं रहने वाले एक व्यक्ति ने उसके और बच्चों के साथ बदतमीजी की। उन्हें धमकाते हुए दोबारा छत पर नहीं आने की कहा। बात नहीं मानने पर उसने बच्चों की टांग तोड़ने की धमकी दी है। महिला की शिकायत पर पुलिस ने मामले को जांच में लिया है।

मामला जूनी इंदौर थाना क्षेत्र के खातीवाला टैंक स्थित सुकंचन अपार्टमेंट का है। पुलिस के अनुसार फरियादी नूतन शर्मा ने आरोपी मोईज बोरीवाला के खिलाफ केस दर्ज करवाया है। नूतन ने बताया कि वह सेकंड फ्लोर पर रहती हैं। शाम करीब साढ़े 6 बजे चार साल की मेरी बेटी और जेठानी के दो बच्चों के छत पर टहल रही थी। उसी दौरान छत के नीचे ही रहने वाले मोईज नामक व्यक्ति ऊपर आए और बच्चों को डांटने लगे। उन्होंने कहा कि अब छत पर मत खेलना। अब अगर छत पर आए तो तुम्हारी टांगें तोड़ दूंगा और छत से नीचे फेंक दूंगा।

नूतन ने जब आपत्ति ली, तो वह गाली-गलौज करने लगा। अपशब्द कहते हुए बोला कि यदि बच्चों को अब छत पर देख लिया, तो इनकी टांगें तोड़कर फेंक दूंगा। मैंने जब मामले का वीडियो बनाना चाहा, तो उसने हाथ पकड़ा और मोबाइल छुड़ा लिया। साथ ही, हाथ मरोड़ते हुए बोला कि जो करना है, कर लो। मैंने कहा कि मैं इसकी शिकायत पुलिस को करूंगी, तो बोला कि पुलिस, एसपी, सीएसपी जिसे चाहो बुला लो। चाहो तो कलेक्टर को भी बुला लाओ। मुझे अब से छत पर दिखना मत। मैं ऐसा ही हूं, तुमसे जो बन पड़े कर लो। नूतन ने मामले की शिकायत जूनी इंदौर थाने में की है।

नूतन का कहना है, कोराेना का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। ऐसे में बच्चों की सुरक्षा जरूरी है। बच्चे अभी सड़क पर खेल नहीं सकते। ऐसे में अपार्टमेंट जैसी जगहों पर बच्चों के खिलने के लिए एक मात्र साधन छत ही है। ऐसे में कोई व्यक्ति ऐसे अपशब्द कहेगा, तो भविष्य में यह किसी प्रकार की गंभीर घटना का रूप ले सकती है।

खबरें और भी हैं...