• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Indore Coronavirus Updates; Collector Manish Singh On Madhya Pradesh Indore Total COVID 19 Cases and Death Toll

इंदौर / कलेक्टर बोले- लोगों ने बीमारी छिपाई इसलिए कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 10 फीसदी पर पहुंची

इंदौर कलेक्टर ने 7 नए निजी अस्पताल एस्मा के तहत अधिकृत किए हैं। इंदौर कलेक्टर ने 7 नए निजी अस्पताल एस्मा के तहत अधिकृत किए हैं।
X
इंदौर कलेक्टर ने 7 नए निजी अस्पताल एस्मा के तहत अधिकृत किए हैं।इंदौर कलेक्टर ने 7 नए निजी अस्पताल एस्मा के तहत अधिकृत किए हैं।

  • शहर में कोरोनावायरस के संदिग्धों के उपचार के लिए अस्पतालों की संख्या बढ़ाई जा रही है
  • इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 235 पर पहुंच गई है

दैनिक भास्कर

Apr 10, 2020, 02:09 PM IST

इंदौर. कलेक्टर मनीष सिंह ने शुक्रवार को कहा कि इंदौर में लोगों ने बीमारी की बात छिपाई, इसलिए कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 10 फीसदी पर पहुंची। कोरोना संदिग्धों के उपचार के लिए अस्पतालों की संख्या बढ़ाई जा रही है। इंदौर में कोरोना पॉजिटव मरीजों की संख्या बढ़कर 235 हो गई है।

कलेक्टर ने कहा कि इंदौर में इस बीमारी की मृत्यु दर 10 फीसदी के आसपास पहुंचने का कारण यह है कि यहां लोगों ने देर से बीमारी या उसके लक्षण के बारे में बातया। खजराना, चंदन नगर हाथीपाला, नयापुरा जैसे क्षेत्र में वायरस पहले ही फैल चुका था लेकिन वहां के लोगों ने यह बात छुपा ली। हालांकि प्रशासन ने ऐसे सभी स्थानों व क्षेत्रों को पूरी तरह से सील कर दिया है जिससे संक्रमण के फैलने का खतरा काफी कम हो गया है।

जनाजे में शामिल होने के कारण 20 को हुआ कोरोना

कलेक्टर सिंह ने कहा कि टाटपट्‌टी बाखल में यदि करोना के 20 पॉजिटिव मरीज मिले हैं तो वह जनाजे में शामिल होने के कारण मिले है। क्योंकि लोग भोले हैं उन्हें नहीं पता की संक्रमण फैल सकता है। इसलिए प्रशासन ने जनाजे और शवयात्रा में 5 से अधिक व्यक्तियों के शामिल होने पर रोक लगा दी है। इसके साथ ही गुरुवार रात यह आदेश भी जारी कर दिया गया है कि अस्पताल में कोरोना के अलावा किसी भी अन्य बीमारी से यदि किसी की मृत्यु होती है तो शव को अस्पताल से मृतक के घर ले जाने के बजाया सीधे शमशान घाट या कब्रिस्तान ले जाया जाएगा। इसके अलावा जिले की सीमा से बाहर शव ले जाने पर भी रोक लगा दी गई है।

नए अस्पतालों को किया अधिकृत

प्रशासन द्वारा कोरोना संदिग्धों के लिए येलों कैटेगरी में अस्पतालों का चयन किया गया है। इन अस्पातलों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। ईएसआई को इस श्रेणी में शामिल किया गया है। इसके अलावा कोरोना पॉजिटिव मरीजों के उपचार के लिए चोइथराम अस्पताल को रेड श्रेणी में शामिल किया गया है। वहीं 7 नए अस्पतालों को ग्रीन कैटेगरी में शामिल किया गया है। इन अस्पतालों में कोरोना के अलावा अन्य बीमारियों का उपचार किया जाएगा। ग्रीन श्रेणी में शामिल अस्पतालों में मयूर अस्पताल , गोकुलदास अस्पताल, सुयश अस्पताल, अरिहंत अस्पताल, सिनजीर् अस्पताल, विशेष अस्पताल व महू का प्रगति अस्पताल शामिल है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना