पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंदौर में उत्साह का टीका:वैक्सीन लगवाने 1 घंटा पहले पहुंचे बुजुर्ग, कई अस्पतालाें में भीड़ उमड़ी, PC सेठी में पुलिस ने संभाला मोर्चा, टीके की तय संख्या दोपहर में ही हुई पूरी

इंदौर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
टीका लगवाने के लिए इस प्रकार से बुजुर्ग अस्पताल में लाइन लगाकर बैठे रहे। - Dainik Bhaskar
टीका लगवाने के लिए इस प्रकार से बुजुर्ग अस्पताल में लाइन लगाकर बैठे रहे।

कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम के तहत तीसरे चरण में अब 60 साल से अधिक उम्र और गंभीर बीमारी से पीड़ित 45 साल से ज्यादा वालों को टीका लगाया जा रहा है। बुधवार सुबह 9 बजे से जिले के 12 सेंटरों पर वैक्सीनेशन का काम शुरू हुआ। लेकिन टीका लगवाने को लेकर बुजुर्गों में उत्साह इतना ज्यादा है कि वे सुबह एक घंटे पहले ही अस्पताल पहुंचकर लाइन में लग गए। कई अस्पतालों में तो स्थिति ऐसी रही कि भीड़ इतनी ज्यादा हो गई कि पुलिस ने मोर्चा संभाला और बुजुर्गों को समझाइश दी। इसके पहले सोमवार को 10 केंद्रों पर कुल 1357 लोगों को टीके लगाए गए थे।

सुबह से ही बुजुर्ग टीका लगवाने अस्पताल पहुंच गए थे।
सुबह से ही बुजुर्ग टीका लगवाने अस्पताल पहुंच गए थे।

बुधवार सुबह एमवाय, पीसी सेठी, भंडारी अस्पताल सहित 12 केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम शुरू हुआ। कोरोना के एक बार फिर से बढ़ते प्रकोप को देखते बुजुर्ग बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन के लिए पहुंच रहे हैं। शासकीय अस्पतालों में जहां नि:शुल्क टीका लगाया जा रहा है। वहीं, निजी अस्पतालों में इसके लिए 250 रुपए चार्ज किए जा रहे हैं। सुबह-सुबह एमवाय हो, पीसी सेठी अस्पताल हो, वर्मा यूनियन हो या फिर भंडारी अस्पताल हो। हर जगह पर हाउस फुल नजर आया। यहां पर टीका लगवाने पहुंचे बुजुर्गों को संभालना मुश्किल हो रहा था। पीसी सेठी में जहां दो जवानों ने व्यवस्था संभाली। वहीं, भंडारी अस्पताल में स्टाफ ने मोर्चा संभाला। उनका कहना था कि सुबह पहले घंटे में ही 250 से 300 लोग टीका लगवाने पहुंच गए थे। इसमें से कुछ रजिस्ट्रेशन करवाकर आए थे तो कुछ बिना रजिस्ट्रेशन के ही थे। उन्हें बड़ी मुश्किल से समझाकर घर रवाना किया गया।

वर्मा यूनियन के बाहर लंबी कतार देखने को मिली।
वर्मा यूनियन के बाहर लंबी कतार देखने को मिली।

आधार कार्ड और बीमारी की पर्ची रख रहे साथ
कोविड वैक्सीन 60 प्लस और गंभीर बीमारी वालों को लगाया जा रहा है। ऐसे में टीका लगवाने आ रहे लोग अपने साथ आधार कार्ड और बीमारी के दस्तावेज भी लेकर आ रहे हैं। यहां पर जो डायबिटीज, हार्ट या किडनी जैसी बीमारी से पीड़ित हैं, उन्हें टीका लगाया जा रहा है। सीएमएचओ डॉक्टर प्रवीण जड़िया ने बताया कि बुधवार को दो सेंटर बढ़ाकर 12 कर दिए गए हैं। टीके को लेकर बुजुर्गों में खासा उत्साह देखा जा रहा है। बड़ी संख्या में लोग टीका लगवाने आ रहे हैं। सभी को बारी आने पर टीका लगाया जाएगा। अस्पताल के संसाधन के अनुसार टीका लगाने की संख्या निर्धारित की गई है। कहीं, 250 तो कहीं 500 की संख्या निर्धारित की गई थीं। हालांकि बुधवार का तय की गई संख्या तो दोपहर होते-होते पूरी हो गई थी। इसके बाद परमिशन लेकर फिर से संख्या बढ़ाई गई। वर्मा यूनियन में तो दोपहर में ही करीब 500 बुजुर्ग टीका लगवा चुके थे। वहीं, भंडारी में 250 बुजुर्गों को टीका लगाया जा चुका था।

डॉ. मनोज भटनागर ने मांगीलाल चुरिया हॉस्पिटल में टीका लगवाया।
डॉ. मनोज भटनागर ने मांगीलाल चुरिया हॉस्पिटल में टीका लगवाया।

केंद्र बढ़ाने की जरूरत
जिले में 60 साल से अधिक और को-मोर्बिड कंडीशन (एक से अधिक रोग वाली स्थिति) वाले लोगों की संख्या साढ़े आठ लाख मानी जा रही है। गौरतलब है कि करीब 70 हजार हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स का टीकाकरण करने में डेढ़ माह का समय लगा। अब उन्हें दूसरा डोज लगाया जा रहा है। इसके बाद सीनियर सिटीजंस को भी बूस्टर डोज की बारी आएगी। इसके लिए टीकाकरण केंद्रों की संख्या बढ़ाना होगी। दूसरे दिन भी बुजुर्गों में टीका लगवाने को लेकर ना केवल जागरूकता नजर आई, बल्कि उत्साह भी नजर आया।

भारती शुक्ला टीका लगवाने के बाद रसीद दिखाती हुईं।
भारती शुक्ला टीका लगवाने के बाद रसीद दिखाती हुईं।

ऐसे करें रजिस्ट्रेशन
हितग्राही ओपन स्लॉट के माध्यम से खुद के मोबाइल में COWIN-2.0 एप डाउनलोड कर सीधे रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। कोविड टीकाकरण केंद्रों में वैक्सीनेशन ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन रिजर्व स्लॉट और ओपन स्लॉट के माध्यम से किया जाएगा। शासकीय स्वास्थ्य संस्थाओं में टीकाकरण निःशुल्क रहेगा और निजी अस्पतालों में अधिकतम 250 रुपए प्रति व्यक्ति भुगतान करना होगा।

खबरें और भी हैं...