पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ऑपरेशन कर्क:करोड़ों रुपए की टैक्स चोरी के आरोपी किशोर वाधवानी ने सुप्रीम कोर्ट से वापस ली याचिका

इंदौर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
10 जुलाई शुक्रवार को डीजीजीआई ने इंदौर के साकेत नगर स्थित किशोर वाधवानी के घर से काफी दस्तावेज जब्त किए थे साथ ही परिसर को सील भी कर दिया है। - Dainik Bhaskar
10 जुलाई शुक्रवार को डीजीजीआई ने इंदौर के साकेत नगर स्थित किशोर वाधवानी के घर से काफी दस्तावेज जब्त किए थे साथ ही परिसर को सील भी कर दिया है।
  • पान मसाला और सिगरेट के अवैध कारोबार में 500 करोड़ से ज्यादा की टैक्स चोरी का आरोपी है वाधवानी
  • जिला कोर्ट में भी वाधवानी ने खुद के खर्च पर हाॅस्पिटल में भर्ती कराने की मांग की थी लेकन कोर्ट ने 27 तक जेल भेजा

पान मसाला और सिगरेट के कारोबार में 500 करोड़ से ज्यादा की टैक्स चोरी में गिरफ्तार उद्योगपति किशोर वाधवानी ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की रिट पिटिशन वापस ले ली है। वाधवानी की ओर से सीनियर एडवोकेट मुकुल रोहतगी ने अदालत में कहा कि सक्षम कोर्ट में अर्जी दायर करने के लिए पिटिशन वापस लेना है। सुप्रीम कोर्ट ने अर्जी वापस लेने के साथ याचिका खारिज कर दी। 

वहीं इसी मामले में दूसरे आरोपी नितेश वाधवानी की याचिका पर बुधवार को सुनवाई होगी। सुप्रीम कोर्ट के तीन जजेस की खंडपीठ सुनवाई करेगी। नितेश ने तीन अर्जी दायर की है। अंतरिम जमानत दी जाने, डीजीजीआई की पूरी कार्रवाई पर रोक लगाई जाने और जितने भी शपथ पत्र लिए गए हैं उन्हें निरस्त किए जाने की मांग की गई है। चीफ जस्टिस आॅफ इंडिया एसए बोबड़े की अध्यक्षता वाली खंडपीठ इस याचिका पर सुनवाई करेगी। किशोर वाधवानी को फिलहाल न्यायिक हिरासत में रखा गया है। विगत शुक्रवार को डीजीजीआई ने साकेत स्थित घर से काफी दस्तावेज जब्त किए और परिसर को सील किया है।

 खुद के खर्च पर हाॅस्पिटल में भर्ती कराने की मांग की, 27 तक जेल भेजा
गिरफ्तार किशोर वाधवानी की हिरासत अवधि बढ़ गई है। सिंडिकेट में शामिल विजय नायर, अशोक डागा और अमित बोथरा को भी 27 जुलाई तक जेल में रहना होगा। न्यायिक मजिस्ट्रेट बृजेश सिंह ने इस संबंध में आदेश दिए। वाधवानी के वकील की ओर से तर्क दिए गए कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है, वह खुद के खर्च पर प्राइवेट हाॅस्पिटल में उपचार कराना चाहते हैं, मंजूरी दी जाए। डीजीजीआई के विशेष लोक अभियोजक चंदन एरन ने कहा जेल मैन्युअल के हिसाब से उपचार हो रहा है। वाधवानी को कोई गंभीर बीमारी नहीं है। वाधवानी द्वारा किया अपराध गंभीर आर्थिक प्रकृति का है। कोर्ट ने सभी को 27 जुलाई तक जेल में ही रखने के आदेश दिए।

  • गिरफ्तारी के समय से ही वाधवानी लगातार अपने स्वास्थ्य का हवाला देकर जमानत की मांग कर रहा है। जून में गिरफ्तारी के समय मुंबई कोर्ट में कोरोना का हवाला दिया था लेकिन रिपोर्ट निगेटिव आई। इसके बाद से लगातार वह सोते समय ऑक्सीजन की जरूरत होने व अन्य बीमारियों की बात कह रहा है। हालांकि अभी तक जेल में उसके स्वास्थ्य को लेकर कोई समस्या नहीं आई है।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

    और पढ़ें