रियल एस्टेट कर्मी की हत्या का दोस्त पर शक:इंदौर आए परिवार ने बताया- रात 12.30 बजे भोपाल DPS में टीचर पत्नी से बात की, कहा था- बाद में कॉल करता हूं

इंदौर16 दिन पहले

इंदौर में रियल एस्टेट कर्मचारी देवांशु मिश्रा की हत्या के बाद परिवार रीवा से गुरुवार दोपहर बाद यहां पहुंचा। उसकी पत्नी पिता के कंधे पर सिर रख रोती रही। परिवार ने कहा कि उन्हें दोस्त पर ही शक है। वो कहानी गढ़ रहा है। पत्नी की देवांशु से बुधवार रात 12.30 बजे आखिरी बार बात हुई थी। उसने कुछ देर बाद कॉल करने का कहा था। देवांशु के पिता रविशंकर मिश्रा रीवा में नामी बिल्डर हैं। फैमिली के कई बड़े पॉलिटिशियन्स के साथ रिश्ते हैं।

मामला बुधवार देर रात 2 बजे का है। देवांशु के दोस्त सतीश का दावा है कि वे पार्टी कर बाइक से लौट रहे थे। बॉम्बे हॉस्पिटल के नजदीक बाइक से आए हमलावरों ने हमारी गाड़ी को ओवरटेक किया। बदमाशों ने अपने साथ आई लड़की को साथ ले जाने को कहा। इस बात पर बहस हुई और हमलावरों ने देवांशु पर चाकू से वार कर दिए। उसने घायल देवांशु को उसके कमरे पर ले जाकर सुला दिया। सुबह बिस्तर पर वह मृत मिला।

परिवार दोपहर बाद इंदौर आया।
परिवार दोपहर बाद इंदौर आया।

भोपाल DPS में टीचर है पत्नी

देवांशु की पत्नी भारती DPS भोपाल में टीचर है। देवांशु के पिता ने बताया कि दो माह पहले उन्होंने बेटे को इंदौर आने से रोका था, लेकिन वह नहीं माना। पत्नी भारती ने कहा कि उसके पति को धोखे से मारा गया है। हत्या के पीछे जरूर कोई बड़ी वजह है। देवांशु से बुधवार रात 12.30 बजे मोबाइल पर बात हुई थी। देवांशु ने बिजी होने की बात करते हुए कुछ देर में कॉल करने को कहा था। इसके बाद से देवांशु का मोबाइल बंद हो गया।

राजनेताओं के आते रहे कॉल
एमवाय अस्पताल में पोस्टमॉर्टम के दौरान देवांशु के परिवार के लोगों की मदद के लिए कई राजनेताओं के कॉल आते रहे। पुलिस अधिकारियों के पास भी मामले में कई कॉल प्रदेश स्तर से आए। परिवार ने इस हत्याकांड को लेकर किसी से भी पहले की रंजिश को लेकर इनकार किया है।

इंदौर में लिफ्ट नहीं देने पर हत्या:बॉम्बे हॉस्पिटल के पास रियल एस्टेट कर्मचारी से युवती ने लिफ्ट मांगी, नहीं दी तो उसके साथियों ने सीने में चाकू घोप दिय