UPSC-CAPF में AIR-29 रैंक होल्डर ने बताए सक्सेस टिप्स:इंदौर के ऐश्वर्य बोले- एग्जाम में वेटेज के हिसाब से सब्जेक्ट पर फोकस करें, रिवीजन भी होना चाहिए

इंदौर9 महीने पहले

UPSC (संघ लोक सेवा आयोग) की CAPF (सेंट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स) एग्जाम- 2020 में इंदौर के ऐश्वर्य उपाध्याय ने ऑल इंडिया में 29वीं रैंक हासिल की है। ऐश्वर्य केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीनस्थ, प्रथम श्रेणी वर्ग में असिस्टेंट कमांडेंट के लिए सिलेक्ट हैं। ऐश्वर्य से दैनिक भास्कर से खास चर्चा की। उन्होंने एग्जाम के थ्योरी और फिजिकल में सफलता हासिल करने के जरूरी टिप्स एंड ट्रिक्स शेयर किए। जो इस एग्जाम की तैयारी कर रहे स्टूडेंट्स के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।

प्लानिंग करें, 3 से 4 बार रिवीजन जरूरी
ऐश्वर्य उपाध्याय ने कहा कि एग्जाम का सिलेबस काफी वास्ट है। टाइम लाइन लंबा है। पहले प्लानिंग पर फोकस करें। कुछ दिन यह फिगर आउट किया कि मेरे सबसे स्ट्रांग सब्जेक्ट और सबसे कमजोर सबजेक्ट कौन से हैं। एग्जाम में किन सब्जेक्ट्स पर ज्यादा फोकस या वेटेज दिया जाता है। साइंस को ज्यादा वेटेज दिया, जो मेरा कमजोर विषय था। जो मेरे स्ट्रांग सबजेक्ट थे, उन पर कम फोकस किया। इस तरह प्लानिंग कर डेली शेड्यूल बनाया। स्ट्रांग और वीक सब्जेक्ट में कितने नंबर आ रहे हैं, इसके लिए टेस्ट सीरीज की। कई बारि रिवीजन किया। मुझे लगता है 3 से 4 बार रिवीजन से एग्जाम क्लियर किया जा सकता है।

टाइम मैनेजमेंट भी जरूरी
उन्होंने बताया कि डांस और स्पोर्ट्स मेरा पैशन रहा है। इसकी वजह से घर से बाहर ज्यादा रहा। शुरू में एग्जाम की तैयारी के लिए फ्लो में बैठना मुश्किल रहा। 4 से 5 घंटे ही बैठ पाता था। धीरे-धीरे तैयारी का टाइम बढ़ाया। 12 से 14 घंटे पढ़ाई की। मेरा मानना है कि अगर आप 4 घंटे भी फोकस होकर पढ़ाई करते हैं, तो 12 घंटे जितना कंटेंट निकाल सकते हैं।

तैयारी के दौरान नींद कम हो गई थी, स्ट्रेस लेवल बढ़ गया था। एग्जाम के पहले 7 से 8 घंटे सोने की कोशिश की। रिवीजन ज्यादा किए, रोजाना स्लॉट्स बनाए। जैसे, सुबह 7 से 9 बजे तक एक सब्जेक्ट पढ़ना है। 10 से 1 बजे तक एक टेस्ट देना है। 2 से 4 दूसरा सब्जेक्ट करना है। इस तरह टाइम स्लॉट्स में डिविजन करने से मदद मिली।

फिजिकल की ऐसे करें तैयारी
ऐश्वर्य ने कहा कि रिटर्न एग्जाम के 2 महीने बाद फिजिकल होता है। इसमें 4 टेस्ट होते हैं। इसके लिए दो महीने मेहनत की। एग्जाम के वक्त सिटिंग ज्यादा बढ़ जाती है। फिजिकल एक्टिविटी भी नहीं की। रोज सुबह फिजिकल की प्रैक्टिस की। रनिंग, शार्टपुट, लॉग जंप की प्रैक्टिस की। इससे फिजिकल एग्जाम में आसानी रही। हर दिन प्रैक्टिस करने से फिजिकल एग्जाम क्लियर कर सका। सेंट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स पोस्ट के लिए आप जा रहे हो, इसलिए डिसिप्लिन और उनके इंस्ट्रक्शन को मानना काफी जरूरी है।

एग्जाम स्टेज के मुताबिक फोकस करें
ऐश्वर्य उपाध्याय ने कहा कि जो इसकी तैयारी कर रहे, वे ध्यान रखें कि एग्जाम का जो स्टेज आ रहा है, उस पर फोकस करें। जैसे, रिटर्न एग्जाम है, तो उस पर फोकस करें क्योंकि एग्जाम में दो पेपर आते हैं। एक ऑब्जेक्टिव दूसरा सब्जेक्टिव, इसलिए आपको न्यूज पेपर रोज पढ़ना होगा। एग्जाम में अंतरराष्ट्रीय, राष्ट्रीय स्तर पर क्या चल रहा है, इसके सीधे सवाल भी एग्जाम में पूछे जा सकते हैं। इंटरव्यू के वक्त डिटेल एप्लिकेशन फॉर्म को अच्छे से स्टडी करें, जो आपने डिटेल दी है। उसके आसपास से प्रश्न पूछे जा सकते हैं।

खबरें और भी हैं...