इंदौर को वंदे भारत का इंतजार बरकरार:जयपुर के लिए मार्च में चलने की संभावना, जबलपुर की तारीख पक्की नहीं

इंदौर11 दिन पहले

प्रदेश की पहली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन के इंदौर से जनवरी में शुरू होने की संभावना जताई जा रही थी। कहा तो ये भी जा रहा था कि इंदौर में एनआरआई सम्मेलन के दौरान आने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी औपचारिक शुरुआत कर सकते हैं। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। रेलवे अब तकनीकी कमियां बता रहा है लेकिन तब रेलवे ने लगभग पूरी तैयारी कर ली थी।

इंदौर-जयपुर और इंदौर-जबलपुर के लिए ट्रेन को चलाने का प्रस्ताव है लेकिन फिलहाल तारीख तय नहीं हुई है। रेलवे के अधिकारी भी इस संबंध में साफतौर पर कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं है कि ट्रेन कब तक चलेगी, हालांकि उन्हें तैयार रहने के लिए कहा गया है। फिर भी माना जा रहा है कि इंदौर से जयपुर के बीच एक वंदे भारत ट्रेन मार्च से शुरू हो सकती है। लेकिन जबलपुर के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है।

पहले प्रस्तावित रूट जान लीजिए
रेलवे सूत्रों के अनुसार इंदौर और जयपुर के बीच वंदे भारत ट्रेन का रूट उज्जैन वाला रहेगा। वंदे भारत ट्रेन जयपुर के दुर्गापुरा से दोपहर 3.10 बजे चलेगी। ये सवाई माधोपुर, नागदा, उज्जैन से होते हुए रात 12.15 बजे इंदौर पहुंचेगी। वापसी में ये ट्रेन सुबह 5.50 बजे चलकर उज्जैन, नागदा, सवाई माधोपुर होते हुए दुर्गापुरा (जयपुर) पहुंचेगी। जबलपुर के लिए भोपाल के रास्ते ही इस ट्रेन को चलाया जा सकता है।

पहले ही शुरू हो गई थी तैयारियां
रेलवे पीआरओ खेमराज मीणा के मुताबिक वंदे भारत ट्रेन कब चलेगी ये फिलहाल तय नहीं है, लेकिन इंदौर में ट्रेन के संचालन की तैयारियां एक से डेढ़ महीने पहले ही शुरू हो गई थी। ट्रेन के मेंटेनेंस सहित अन्य सुविधाओं को लेकर भी कार्य हुए हैं। हमारी तरफ से तैयारी लगभग पूरी कर ली गई है। यह ट्रेन 52 सेकंड में 100 किमी की रफ्तार पकड़ सकती है।

इसलिए वंदे भारत की अधिक मांग
दरअसल, वंदे भारत ट्रेन में मॉडर्न सुविधाएं हैं। इसकी गति इसे दूसरी ट्रेनों से अलग बनाती है। यह ट्रेन 160-180 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल सकती है, इसलिए देशभर में इस ट्रेन की काफी मांग है।

यात्रियों को मिलेगी ये सुविधा
वंदे भारत ट्रेन में वाई-फाई कंटेंट ऑन डिमांड की सुविधा भी दी गई है। हर कोच में 32 इंच की स्क्रीन लगाई गई है, जो यात्रियों को सूचना और इंफोटेनमेंट प्रदान करती है। एग्जीक्यूटिव कोच में 180 डिग्री घूमने वाली हैं। वहीं रेलवे अधिकारियों के अनुसार ट्रेन का टिकट तो प्रीमियम रहेगा। सेमी हाई स्पीड ट्रेन है इसलिए इसका किराया ज्यादा रहेगा। हालांकि यहां का किराया अभी तय नहीं हुआ है।

अधिकारियों को तैयार रहने के निर्देश पहले ही मिल चुके

इंदौर में रेलवे के मामलों के जानकारी नागेश नामजोशी बताते हैं कि वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन का इंदौर से संचालन कब शुरू होगा। अभी इस संबंध में स्थिति स्पष्ट नहीं है। हां इतना जरूर है कि अधिकारियों को तैयार रहने के लिए काफी पहले ही कह दिया गया है।

सेमी हाईस्पीड ट्रेन जनवरी से शुरू करने की चर्चा थी, रेलवे ने कहा- तकनीकी वजह

इंदौर से जयपुर के बीच सेमी हाईस्पीड वंदे भारत ट्रेन का संचालन नहीं होगा, जबकि जनवरी के शुरुआत में इसे शुरू करने की चर्चा थी। रविवार से इंदौर में शुरू हुए दो दिवसीय प्रवासी भारतीय सम्मेलन के दौरान ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मध्यप्रदेश की पहली वंदे भारत ट्रेन को शुरू करने की चर्चा थी, जो इंदौर से जयपुर के बीच शुरू होती। इस संबंध में वेस्टर्न रेलवे के सीपीआरओ सुमित ठाकुर का कहना है कि संचालन की कोई आधिकारिक सूचना ही नहीं थी। अगर होती तो इसका व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाता। उधर, नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे के सीपीआरओ कैप्टन शशि किरण ने भी कहा कि इस तरह की कोई आधिकारिक सूचना नहीं थी। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

तीसरी वंदे भारत ट्रेन गांधीनगर से मुंबई सेंट्रल के लिए 30 सितंबर 2022 को शुरू की गई है। इसके बाद हिमाचल के ऊना से दिल्ली के लिए ट्रेन शुरू की गई है।
तीसरी वंदे भारत ट्रेन गांधीनगर से मुंबई सेंट्रल के लिए 30 सितंबर 2022 को शुरू की गई है। इसके बाद हिमाचल के ऊना से दिल्ली के लिए ट्रेन शुरू की गई है।