• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Jalud's Leakage, Yashwant Sagar's Line, The Third Phase Line In The Eastern Region Became The Reason

आधा इंदौर 4 दिन से प्यासा:जलूद का लीकेज नहीं हुआ ठीक, यशवंत सागर और पूर्वी क्षेत्र में तृतीय चरण लाइन पर भी चल रहा दुरुस्तीकरण काम

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पिछले 4 दिनों से आधा इंदौर प्यासा है। इसके पीछे 3 जगह चल रहे नगर निगम के काम कारण है। सबसे पहले जलूद के यहां लीकेज हुई लाइन को लेकर दुरुस्तीकरण का काम जारी है। इसके बाद यशंवत सागर के यहां भी टूटी पड़ी लाइन का काम भी चल रहा है। वहीं, पूर्वी क्षेत्र में नर्मदा का तृतीय चरण की लाइन का भी काम किया जा रहा है।

नर्मदा और यशवंत सागर की पाइप लाइनों में सुधार के चलते शहर में बुधवार को भी जल संकट रहा। सुबह से ही पानी के लिए लोग यहां-वहां भटकते रहे। शहर में ये स्थिति पिछले 4 दिनों से है।नगर निगम का दावा है कि एक-दो दिन में संकट से निजात मिल जाएगी। नर्मदा प्रोजेक्ट के कार्यपालन यंत्री संजय श्रीवास्तव का कहना है कि जलूद में लीकेज होने से रिपेयरिंग का काम चल रहा है।

इसी तरह, यंशवत सागर में लाइन भी टूट गई है। इसका सुधार किया जा रहा है। वहीं, पूर्वी रिंगरोड पर 11 एमएम व्यास नर्मदा तृतीय चरण की पाइप इंटर कनेक्शन का काम किया जा रहा है। इस कारण टंकियां नहीं भर पाई हैं। जल्द शहर में स्थिति सामान्य करने की कोशिश कर रहे हैं।

यहां की टंकियां हुई प्रभावित, 60 से अधिक कॉलोनी प्यासी
जल संकट के बीच बुधवार को भी पूर्वी इलाके में नानक नगर, स्कीम नंबर 54, महावीर नगर, स्कीम नंबर 140, खजराना की पानी की टंकियां खाली रहीं। इसी बीच, पश्चिम इलाके में किला मैदान, पल्हर नगर, संगर नगर सहित अन्य छोटी पानी की टंकियों तक पानी नहीं पहुंचा। इसके चलते दोनों इलाकों में करीब 60 से अधिक कॉलोनियां प्यासी रहीं। लोगों ने बोंरिंग, टैंकरों का सहारा लिया। इस दौरान निगम ने भी टैंकर चलाकर मदद नहीं की।