पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Kailash Vijayvargiya; Bjp Secretary Reacton After Sanjay Raut Compares Mamata Banerjee With Rani Ahilyabai

अब तीसरी लहर की चिंता सताने लगी:विजयवर्गीय बोले - शुरुआत में वैक्सीन पर कुछ ने राजनीति की, 15 दिन में मांग होने लगेगी पूरी, इंदौर में ऑक्सीजन सरप्लस में

इंदौर4 महीने पहले
विजयवर्गीय ने बीमा अस्पताल को मां कनकेश्वरी देवी लाइफ लाइन सपोर्ट एम्बुलेंस भेंट की।

काेरोना को लेकर इंदौर में स्थिति अब कंट्रोल में है। पॉजिटिव मरीजों की संख्या भी कम आ रही है। हमें अब भविष्य की चिंता करना होगी, क्योंकि तीसरी लहर भी आ सकती है। इंदौर देश में एक ऐसा जिला रहा, जहां ऑक्सीजन की कमी नहीं हुई। हमारे पास सरप्लस ऑक्सीजन है। आसपास के जिलों में भी ऑक्सीजन सप्लाई कर रहे हैं।

पीथमपुर से जनसहयोग से साढ़े 5 हजार सिलेंडर प्रतिदिन मिल रहे हैं। अब वहां से भी सिलेंडर उठना कम हो गए हैं। मुझे पता चला है, आज एक हजार सिलेंडर ही उठे हैं। हम भविष्य के लिए भी ऑक्सीजन की तैयारी कर रहे हैं। 15 दिनों में पर्याप्त वैक्सीन मिलने लगेगी। तीसरी लहर आने के पहले कोशिश है, वैक्सीनेशन ज्यादा से ज्यादा हो जाए। यह बात भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कही।

विधायक निधि से नंदानगर के बीमा अस्पताल को शुक्रवार को मां कनकेश्वरी देवी लाइफ लाइन सपोर्ट एम्बुलेंस भेंट करने पहुंचे विजयवर्गीय ने कहा, वैक्सीनेशन की जब शुरुआत हुई तो कुछ राजनीतिक दलों ने इसमें राजनीति की। जैसे, छत्तीसगढ़ के सीएम ने वैक्सीनेशन करवाने से मना कर दिया। सपा के नेताओं ने कहा कि यह मोदी जी का इंजेक्शन है, हम नहीं लगवाएंगे। जब प्रोडक्शन ज्यादा हो गया और राज्यों ने वैक्सीन नहीं उठाई, तो सरकार ने एक्सपोर्ट किया। अब अचानक से डिमांड आई। प्रोडक्शन की एक सीमा है। डिमांड के हिसाब से इसे बढ़ाया जा रहा है। कुछ और कंपनियों को प्रोडक्शन के अधिकार दिए जा रहे हैं। 15 दिन में जरुरत के हिसाब से वैक्सीन मिलने लगेगी। यदि कोई राज्य ग्लोबल टेंडर से सीधे कंपनियों से वैक्सीन मंगाना चाहता है, तो वह ऐसा कर सकता है।

मंत्री उषा ठाकुर के यज्ञ वाले बयान को लेकर कहा कि यज्ञ भी विज्ञान है। यज्ञ के जरिए बारिश हुई है। कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि कोविड महामारी हवा से भी फैल सकती है, इसलिए यज्ञ के जरिए हवा की शुद्धिकरण होगी। मैं ठाकुर के बयान का विरोध भी नहीं करूंगा और ना ही एकदम सहमति भी प्रदान नहीं करूंगा। वैज्ञानिक पद्धति से यज्ञ करने पर पर्यावरण को लाभ मिलता है।

वहीं, ब्लैक फंगस को लेकर कहा कि यह बीमारी अभी नई है। देश में इसकी मेडिसिन उपलब्ध नहीं है। इसका रॉ मटेरियल जर्मनी से आता है, लेकिन उन्होंने सप्लाई करना बंद कर दिया है। रॉ मटेरियल लाने के लिए सरकार कोशिश कर रही है।

खबरें और भी हैं...