पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Knocked In The State From Maharashtra Via Barwani, Khargone And Khandwa Four Days Ago, Likely To Reach Indore In A Day Or Two

मानसून की दस्तक:महाराष्ट्र से बड़वानी, खरगोन और खंडवा के रास्ते प्रदेश में चार दिन पहले दी दस्तक, एक-दो दिन में इंदौर पहुंचने की संभावना

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इंदौर में गुरुवार को बारिश नहीं हुई लेकिन उमस रही। बादल भी छाए। अधिकतम तापमान 36.40  रहा। तस्वीर यशवंत सागर तालाब की है। - फोटो|ओपी सोनी - Dainik Bhaskar
इंदौर में गुरुवार को बारिश नहीं हुई लेकिन उमस रही। बादल भी छाए। अधिकतम तापमान 36.40 रहा। तस्वीर यशवंत सागर तालाब की है। - फोटो|ओपी सोनी

मुंबई में मूसलधार बरसने के बाद बुधवार को मानसून ने इंदौर संभाग के बड़वानी, खरगोन, खंडवा, बुरहानपुर जिले के रास्ते पश्चिमी मप्र में प्रवेश किया है। पिछले साल के मुकाबले चार दिन पहले ही मानसून ने आमद दर्ज करा दी है। एक-दो दिन में मानसून के इंदौर में भी दस्तक देने के पूरे आसार हैं।

अरब सागर के साथ-साथ बंगाल की खाड़ी में भी सिस्टम बन रहे हैं। यानी पूरे प्रदेश में शुरुआती बारिश अच्छी रहने के आसार हैं। 2020 में मानसून ने प्रदेश में इंदौर से दस्तक दी थी। अरब सागर से आए सिस्टम ने प्रदेश में प्रवेश किया था तो इंदौर को अपना केंद्र बनाया था। 14 जून को मानसून सक्रिय हो गया था। समय से एक दिन पहले ही घोषणा की गई थी।

एक हफ्ते जल्दी क्यों?
मौसम विशेषज्ञ एके शुक्ला के मुताबिक मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल थीं। इसकी रफ्तार भी तेज थीं। इसकी दोनों ब्रांच सक्रिय थी। यह महाराष्ट्र भी तय समय से पहले पहुंच गया था।

3-4 दिन भीगेगा इंदौर

अगले तीन-चार दिन इंदौर, भोपाल संभाग सहित प्रदेश के कई इलाकों में अच्छी बारिश हो सकती है। होशंगाबाद हरदा और सीहोर जिलों में भारी बारिश भी हो सकती है। इन संभागों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

तीन घंटे तक चट्‌टान के सहारे मझधार में फंसे रहे 4 बच्चे, सभी को सुरक्षित निकाला

सागर जिले के रनगुआं गांव में सुनार नदी गुरुवार सुबह अचानक उफान पर आ गई। नदी में घूमने गए 9 से 12 साल उम्र के चार बच्चे पानी में घिर गए। करीब 100 मीटर चौड़ी नदी के बीचों-बीच वे एक चट्टान पर खड़े होकर एक-दूसरे का हाथ थामें खड़ेे रहे। करीब 12 बजे सागर से एसडीआरएफ की टीम पहुंची और डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद एक-एक कर बच्चों नाव में बैठाकर बाहर निकाला।

खबरें और भी हैं...