• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Kovin Portal Server Crashed, Nobody's OTP Came, Then Someone Got The Message Of Try Again, 15 Lakhs To Be Vaccinated In Indore

18+ कोरोना वैक्सीन का महाडोज:कोविन पोर्टल का सर्वर क्रैश, किसी का ओटीपी नहीं आया तो किसी को ट्राय अगेन का मैसेज मिला, इंदौर में 15 लाख को लगना है वैक्सीन

इंदौर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

देश में 18 और इससे ज्यादा उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन एक मई से शुरू होगा। इसके लिए रजिस्ट्रेशन आज से यानि 28 अप्रैल शाम 4 बजे से शुरू होना था, लेकिन 4 बजते ही कोविन पोर्टल क्रैश हो गया। लोगों को आरोग्य सेतु और उमंग ऐप पर भी ऐसी ही समस्या का सामना करना पड़ा। दरअसल, 18 से 44 साल के लोग बिना रजिस्ट्रेशन के टीका नहीं लगवा सकेंगे।

ऐसे में पोर्टल क्रैश होने से लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इंदौर में भी रजिस्ट्रेशन कर रहे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। मोबाइल नंबर डालने के बाद कई का ओटीपी नहीं आया, ताे कई को ट्राय अगेन का मैसेज आ गया। लोग बार-बार ट्राय करते रहे। बता दें कि इंदौर में करीब 15 लाख लोगों को इस वर्ग में वैक्सीन लगना है।

इंदौर में इस आयु वर्ग के करीब 15 लाख लोग हैं। टीकाकरण अधिकारी डाॅ. तरुण गुप्ता बताते हैं कि 15 लाख की आबादी को जल्द टीका लगे, हमारी कोशिश यही है। इसे देखते हुए हम हर वार्ड में 3 वैक्सीनेशन सेंटर बनाने जा रहे हैं।

इस प्रकार से ओटीपी के लिए लोग इंतजार करते रहे, लेकिन अंत में ओटीपी नहीं मिल रहा था।
इस प्रकार से ओटीपी के लिए लोग इंतजार करते रहे, लेकिन अंत में ओटीपी नहीं मिल रहा था।

इसके अलावा ग्रामीण इलाकों में भी सवा 100 सेंटर में टीकाकरण होगा। 45 से अधिक उम्र के कुल 10 लाख लोगों का टीकाकरण किया जाना था, जिनमें से चार लाख बच गए हैं। उनका टीकाकरण भी साथ-साथ चलेगा। उधर, अब तक छह लाख से ज्यादा टीके लगे हैं। इनमें से 6 लाख 1139 ने पहला डोज लगवाया और 86 हजार ने दूसरा डोज लगवाया है।

10,892 हजार स्वास्थ्य कर्मियों ने दूसरा डोज नहीं लगवाया
अब तक 41 हजार 423 स्वास्थ्य कर्मियों को पहला टीका लगाया जा चुका है। इनमें से 30 हजार 531 ने दूसरा डोज लगवाया है। यानी 10 हजार 892 ने दूसरा डोज नहीं लगवाया है। स्वास्थ्य विभाग के पास ऐसा कोई डेटा नहीं है कि किन कारणों से इन्होंने टीका नहीं लगवाया है।

84 फीसदी ग्रामीण लगवा चुके हैं वैक्सीन!
सांसद लालवानी ने बताया, अभी तक 7.46 लाख लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है। इसमें 4.70 लाख शहरी और 2.76 लाख ग्रामीण एरिया के लोग हैं। यदि इस वैक्सीनेशन को दोनों क्षेत्र की आबादी के हिसाब से देखें तो शहर में पात्र आबादी में 52 फीसदी और ग्रामीण में पात्र आबादी का 84 फीसदी ने टीका लगवाया। यानी जिस तरह ग्रामीण एरिया मतदान के लिए जागरूक रहता है, उसी तरह वैक्सीन के लिए भी जागरूकता दिखाई। इसलिए गांव में कोरोना नियंत्रण में। वैसे इंदौर जिले में 18 साल से ऊपर के 17 लाख लोग वैक्‍सीन लगवाने की पात्रता रखते हैं।

श्रेणीडोजटीकाकरण
हेल्थकेयरपहला डोज41,423
हेल्थकेयरदूसरा डोज30,531
फ्रंटलाइनपहला डोज42,919
फ्रंटलाइनदूसरा डोज20,238
45 साल से 60 सालपहला डोज2,95,191
45 साल से 60 सालदूसरा डोज9,567
60 साल से अधिकपहला डोज2,21,606
60 साल से अधिकदूसरा डोज25,870
खबरें और भी हैं...