• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Krishna Paliwal's Composition 'Daughters' Of Bhopal; ... Divided God's Boon Into Two Sides, Respected The Son And Insulted The Daughter

BHASKAR कला-साहित्य मंच:इंदौर की कृष्णा पालीवाल की रचना 'बेटियां';... ईश्वर के वरदान को दो पक्षों में बांट दिया, बेटे को सम्मान और बेटी का अपमान किया

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जन्म लिया बेटी ने जब जब

ताने कसे हैं लोगों ने तब तब॥

क्यों किया जाता है भेद तब

दोनों ईश्वर की देन है जब॥

बेटा होता तो पैसे कमाता

क्या पैसा मानवता से भी ज्यादा॥

ईश्वर के वरदान को दो पक्षों में बांट दिया

बेटे को सम्मान और बेटी का अपमान किया॥

कहते हैं समाजवादी बहू नहीं तुम लक्ष्मी हमारी

फिर क्यों यह लक्ष्मी सम्मान नहीं पा रही॥

पायल की छम-छम होती थी जिन पैरों में

क्यों है बेड़िया उनके बहू होने पे॥

बेटा कमाएगा जब पैसे अनेक

तो क्यों लिया जाता है दहेज॥

हर पल अपमान सहती है

क्योंकि बेटियां पराई होती हैं॥

टूटे अरमानों के टुकड़ों को समेटे जाती हैं

बेटियां हर समय दूसरों के पैरों तले कुचली जाती हैं॥

आजादी दे कर तो देखो उन्हें

वह तुम्हारा नाम भी आबाद कर देगी॥

फिर नहीं होगा बेटी जन्म का अफसोस तुम्हें

बेटा ही नहीं बेटी भी दिलाएगी सम्मान तुम्हें॥

खबरें और भी हैं...