मंदिर की चौखट पर गुंडे का मर्डर:हिस्ट्रीशीटर को कमिश्नर करने वाले थे सोमवार को जिलाबदर, पालदा में हनुमान मंदिर के बाहर मिली खून से सनी लाश

इंदौर8 महीने पहले

इंदौर के पालदा इलाके में मंदिर के बाहर एक गुंडे की हत्या कर दी गई। वह छावनी इलाके में रहता था। उस पर करीब दस से अधिक अपराध दर्ज थे। गुंडे की जिलाबदर की फाइल पर सोमवार को कमिश्नर को साइन करना थी। लेकिन सुबह ही उसका दूसरे थाना क्षेत्र में शव पड़ा मिला। पुलिस को मृतक के एक साथी की ही तलाश है जिसके बारे में वह परिवार के लोगो को कहकर रात में निकला था।

मंदिर के बाहर पड़ा था शव।
मंदिर के बाहर पड़ा था शव।

TI शशिकांत चौरसिया के मुताबिक पालदा तौल कांटे के पास हनुमान मंदिर पर एक शव पड़े होने की सूचना मिली थी। मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने मृतक की पहचान शुभम पुत्र अरूण सिलावट निवासी पारसी मोहल्ले के रूप में की। शुभम रात में अपने कुछ साथियों के साथ निकला था। देर रात तक वह घर नही आया। परिवार के पास सुबह उसकी मौत की सूचना पहुंची। अधिकारियों के मुताबिक शरीर पर चाकू और सिर पर किसी भारी वस्तु से मारने के निशान मिले हैं। पुलिस ने इलाके के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले हैं। पुलिस के मुताबिक शुभम के पिता हम्माली का काम करते हैं। जबकि उसका एक छोटा भाई पढ़ाई करता है।

शव पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद मंदिर के बाहर सफाई करता कर्मचारी।
शव पोस्टमार्टम के लिए भेजने के बाद मंदिर के बाहर सफाई करता कर्मचारी।

कमिश्नर करने वाले थे जिलाबदर
जानकारी के मुताबिक शुभम पर करीब दस से अधिक अपराध दर्ज हैं। 2017 में उसने भंवरकुआ इलाके में ही फर्शी मारकर एक युवक की अपने साथियों के साथ मिलकर हत्या की थी। उस पर जेल से छूटने के बाद 2018 और 2020 में दो बार रासुका के तहत कार्रवाई भी की गई थी। इसके बाद शुभम पर मारपीट जैसे कुछ अपराध दर्ज हुए थे। संयोगितागंज पुलिस ने शुभम की जिलाबदर फाईल तैयार की थी। सोमवार को कमिश्नर को उस पर साइन करना थी। इसके बाद पुलिस उसे जिले की सीमा के बाहर छोड़ आती। लेकिन सुबह ही भंवरकुआ में उसकी हत्या हो गई।

जीतू ने की थी मारपीट,रात में मिलने का कहकर निकला था

शुभम के परिवार के लोगो ने बताया कि शुभम रात में जीतू काले से मिलने जाने का कहकर निकला था। जीतू ने छह माह पहले भी शुभम से मारपीट की थी। दोनो में सुलह हो गई थी। रात में फिर से जीतू ने उसे बुलाया था। जीतू पर चोरी ओर अवैध वसूली को लेकर भंवरकुआ में केस दर्ज है। रात में शुभम ओर जीतू की भी मुलाकात हुई थी। पुलिस के मुताबिक उन्हें यह जानकारी मिली है कि रात में जीतू के साथ दो ओर लोग थे। अधिकारियों के मुताबिक हत्यारों के नाम को लेकर अभी जल्दबाजी नही की जा सकती है।

शव को रखकर थाने के बाहर चक्कजाम

शुभम के परिवार के लोग पोस्टमार्टम के बाद उसके शव को भंवरकुआ थाने लेकर पहुंचे थे। यहां उन्होंने शव को रखकर चक्कजाम किया। परिवार के लोग उसके साथी जीतू काले को पकड़ने ओर हत्यारों को फांसी की मांग देने की बात कर रहे थे। यहां सूचना के बाद ACP और टीआई पहुंचे थे। बाद में उन्हें समझाइश देकर रवाना किया गया। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक इस मामले में कुछ लोगो को हिरासत में लिया गया है।

खबरें और भी हैं...