ड्रग माफियाओं पर भी नकेल:असम की फर्जी कंपनियों के नाम से बेच रहे थे दवाइयां, केस

इंदौर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

असम की फर्जी नाम की कंपनियों से इंदौर में दवाइयां सप्लाय करने वाली फार्मा कंपनी के खिलाफ केस दर्ज कर दवाइयों के 72 बॉक्स जब्त किए हैं

एएसपी (क्राइम ब्रांच) जीपी पाराशर को सूचना मिली थी कि जारोलिया चेम्बर स्थित पूर्णिमा मेडिकल एजेंसी द्वारा काफी समय से अमानक स्तर के नकली दवाइयों को रखा जा रहा है। इस पर पुलिस ने औषधि प्रशासन के साथ वहां दबिश दी तो वहां PECAF–AZ Tablets व DENSAF-0 Tablets दवाइयों के बॉक्स में PECAF–AZ Tablets व DENSAF-0 Tablets के बॉक्स लेवल लगाकर उस पर निर्माता का नाम मे. प्रगति रेमेडिज प्लांट न.143 जीएस रोड लिंक उल्लू वाई गोवाहाटी (असम) लिखा होना पाया गया। इसी तरह DENSAF-0 Tablets के बॉक्स लेवल पर निर्माता के नाम में मे. दिव्या इंटरप्राइसेस ग्रीन पथ, जीएस रोड लिंक गोवाहाटी (असम) 171008 लिखा होना पाया गया। दोनों ही फर्मों का पता एक जैसा होने के कारण इंटरनेट पर जानकारी निकाली तो इन नामों की कंपनियां ही नहीं मिली। मामले में पूर्णिमा मेडिकल एजेंसी के संचालक संतोष राठौर की फर्म द्वारा बिल भी मौके पर प्रस्तुत नहीं किए जा सके। इस पर औषधि प्रशासन ने संयोगितागंज थाने में केस दर्ज कराया गया। फर्म द्वारा इंदौर व म.प्र. के अन्य विभिन्न मेडिकल स्टोर्स को उक्त दवाइयां सप्लाय की जा रही थी। टीम ने मौके से इन दवाइयों के 72 बॉक्स जब्त किए हैं।

खबरें और भी हैं...