कोरोना के नए वैरिएंट ऑमिक्रॉन ने बढ़ाई चिंता:इंदौर में दिसंबर में 3 हजार शादियां, होटल-मैरिज गार्डन बुक; जनवरी की बुकिंग से कतरा रहे लोग

इंदौर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल - Dainik Bhaskar
फाइल

शहर में कोरोना मरीजों की संख्या में उतार-चढ़ाव तथा 8 देशों में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के आने से इंदौर में जिला प्रशासन के साथ आम लोगों की चिंता बढ़ गई है। खासकर उन लोगों की जिनके परिवारों में शादियां हैं तथा उसके लिए होटल, मैरिज गार्डन, बैण्ड आदि बुक हो चुके हैं। लोगों को इस बात का डर है कि अगर शादियों के दौरान अगर संक्रमण बढ़ा या नए वैरिएंट की दस्तक हुई तो समारोहों पर इसका असर पड़ सकता है। कई परिवार तो ऐसे हैं जिन्होंने पिछले साल कोरोना के कारण शादियां टाल दी थी और संक्रमण कम होने के बाद जब सारे प्रतिबंधों से छूट मिली तो सारे कार्यक्रम तय किए लेकिन अब चिंता सताने लगी है।

वैसे मामले में शासन ने सार्वजनिक कार्यक्रमों, विवाह समारोह को लेकर अभी किसी प्रकार की गाइड लाइन नहीं बनाई है और न ही प्रतिबंध लगाया है लेकिन जिन परिवारों में शादियां हैं वे और होटल, मैरिज गार्डन, बैण्ड संचालक दुविधा में है कि अब किसी भी प्रकार का प्रतिबंध न हो, नहीं तो उन्हें काफी नुकसान होगा। इंदौर होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुमित सूरी ने बताया शहर में करीब 300 होटल व गार्डन 15 दिसम्बर तक बुक हैं क्योंकि देवी उठनी ग्यारस से शुरू हुए मुहूर्त का सिलसिला जारी है। इन अवधि में करीब 2 हजार शादियां व उनके रिसेप्शन हैं। ऐसी ही 15 जनवरी मलवास होने के बावजूद करीब 1 हजार रिसेप्शन के लिए पहले ही बुकिंग हो चुकी है। दरअसल अब वे लोग भी पार्टियां दे रहे हैं जिनकी कोरोना काल में शादी हो चुकी है लेकिन प्रोटोकॉल के लिए रिसेप्शन आयोजित नहीं कर सके थे। इस तरह करीब 3 हजार कार्यक्रम होने हैं। अभी किसी ने बुकिंग निरस्त नहीं की है लेकिन इसे लेकर चिंता जरूर है।

जनवरी से बैंड बुकिंग में लोग पीछे हटे

मप्र बैंड एसोसिएशन के अध्यक्ष अब्दुल सलाम नौशाद ने बताया कि 15 दिसम्बर तक के मुहूर्त में लगभग सभी बैंड बुक हैं। ऐसे ही पहले लोग जनवरी से मार्च के बीच की शादियों की बुकिंग के लिए भी तैयार थे लेकिन अब सिर्फ पूछताछ करके जा रहे हैं। शहर में हाल ही में बढ़े कोरोना मरीज और नए ओमिक्रॉन वैरिएंट को लेकर उनके मन में तरह-तरह के सवाल है। इसके चलते वे बैंड ही बुक नहीं करा रहे हैं जिसके चलते व्यवसाय पर इसका असर दिखाई देना शुरू हुआ है जबकि अभी ऐसी कोई स्थिति नहीं। कई लोगों का मानना है कि वे शादी के आठ दिन के पहले की स्थिति देखकर बैण्ड बुक करेंगे।

परिवारों में भी चिंता, सब तैयारियां हो चुकी हैं

चिंता तो उन लोगों में भी है जिनके परिवार में शादियां हैं। स्कीम 78 निवासी श्रीकांत काटे के बेटे की शादी 1 दिसम्बर को है। निमंत्रण पत्र बांटे जा चुके हैं। पिछली बार बेटी की शादी भी कोरोना प्रोटोकॉल के पालन में ही हुई थी। अब बेटे की शादी के पूर्व से ही शहर में संक्रमण नियंत्रण में था लेकिन अब उतार-चढ़ाव व नए वैरिएंट को लेकर चिंता बनी हुई है कि किसी प्रकार का व्यवधान नहीं आए। रानीपुरा निवासी कुरील परिवार के बेटे का विवाह कार्यक्रम 3 दिसम्बर को है तथा तैयारियां हो चुकी है। अब सिर्फ 4 दिन बाकी हैं। ऐसे ही शिव सिटी निवासी रमेश जाधव की बेटी की 14 दिसम्बर को शादी है। पिछले साल कोरोना के कारण यह शादी टल गई थी। अब गार्डन बुकिंग के साथ तैयारियां हो चुकी है लेकिन कोरोना संक्रमण व नए वैरिएंट को लेकर चिंता जरूर है।

रपोर्ट पर नए नियम के साथ होगी सख्ती

‘ओमिक्रॉन’ के सामने आने के बाद ज्यादातर देश-विदेशों से आने वाले यात्रियों को लेकर सख्त जांच व्यवस्था लागू कर रहे हैं। भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी रविवार रात ही विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए नई गाइड जारी की है। इसके तहत यूरोपीय देशों सहित 11 अन्य देशों को रिस्क कैटेगरी में रखा है, जहां से आने वाले सभी यात्रियों की भारत आने पर एयरपोर्ट पर ही आरटीपीसीआर जांच की जाएगी, वहीं अन्य देशों से आने वाले यात्रियों में से भी पांच प्रतिशत यात्रियों की यह जांच की जाएगी। देश में यह व्यवस्था 1 दिसंबर से लागू होगी। इसके तहत दुबई से हर बुधवार को इंदौर आने वाली फ्लाइट के यात्रियों में से रेंडमली पांच प्रतिशत यात्रियों की यह जांच एयरपोर्ट पर करना होगी। यात्रियों को पिछले 14 दिनों का यात्रा रिकार्ड भी देना होगा। वहीं उन्हें एक सेल्फ डिक्लेरेशनल फार्म भी जमा करना होगा, जिसमें उनके द्वारा दी गई सभी जानकारी की सत्यता की जिम्मेदारी होगी। कोई भी जानकारी बाद में गलत पाई जाने पर यात्री के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

पॉजिटिव आने पर प्रोटोकॉल का पालन

गाइड लाइन में रिस्क कंट्रीज की लिस्ट हर एअरपोर्ट पर सौपी गई है। जिसमें रेंडमली आरटीपीसीआर जांच जाना है। अगर इनमें से कोई यात्री पॉजिटिव आता है तो वही प्रोटोकॉल करेगा। जो रिस्क कंट्री से आने वाले यात्री के पॉजिटिव आने पर बनाए गए हैं। इसके साथ ही उसे कोरेनटाईन के साथ अन्य व्यवस्था देखना होगी। सभी दूर यह गाईड लाईन बुधवार से ही लागू होगी। इंदौर में दुबई से आने वाली अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट भी सप्ताह में एक बाद बुधवार को ही आती है। नई गाइड लाइन के तहत विमानतल प्रबंधन को जांच करना होगी।

पिछली हिस्ट्री भी तलाशेगे

वायरस के नए वैरिएंट को देखते हुए दुबई फ्लाइट के यात्रियों की जानकारी भी निकाली जाएगी। पिछली बार दो अलग-अलग मामले में यात्री कोरोना से जुडे हुए मिले थे जिसमें उन्हें यात्रा नही करने के साथ उपचार के लिए भेजा गया था। फिलहाल इंदौर एयरपोर्ट पर सभी यात्रियों के लिए व्यवस्था कठोर की जा रही है। इसमें लापरवाही बिल्कुल नहीं होने की बात कही गई है।