पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • MP Election News; BJP Candidate Tulsi Silavat Filed Nomination For Sanwer Assembly By election

कांग्रेस पर तंज:कैलाश विजयवर्गीय ने कहा- सिंधिया मोदी की फास्ट ट्रेन में बैठे तो चुन्नू-मुन्नू की दुकान बंद हुई, शिवराज को नालायक कहने वाले ही सबसे बड़े गद्दार

इंदौर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कैलाश विजयवर्गीय ने कहा - भाजपा प्रत्याशी तुलसी सिलावट सांवेर से 50 हजार वोटों से चुनाव जीतेंगे।
  • सांवेर में जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कमलनाथ, दिग्विजय सिंह पर साधा निशाना
  • बोले- शिवराजजी जैसे संत नेता को कहते हैं नालायक है, शिवराजजी नालायक हैं और तुम लायक हो, किस लायक हो भैया तुम?

सांवेर विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी तुलसी सिलावट ने बुधवार को नामांकन दाखिल कर दिया। नामांकन से पहले सभा में भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को चुन्नू-मुन्नू कहा। राहुल गांधी को पप्पू कहकर तंज कसा। कैलाश ने कहा- सिंधिया जी अपने साथियों के साथ मोदी रूपी फास्ट ट्रेन में क्या बैठे, चुन्नू-मुन्नू की दुकान बंद हो गई। आलू डालकर सोना निकालने वाले पप्पू ने कहा था- 8 दिन में किसानों का कर्ज माफ नहीं हुआ तो मुख्यमंत्री बदल दूंगा। अब बताओ गद्दार कौन है? ये शिवराज को गद्दार, नालायक, भूखा, नंगा बोल रहे हैं। तुम बता दो, तुम कितने लायक हो।

विजयवर्गीय बोले - कांग्रेस के नेताओं की हालत यह है कि ये दोनों चुन्नू-मुन्नू, दिग्विजय और कमलनाथ इतने कलाकार हैं कि जब विधानसभा के चुनाव हो रहे तो मैं भी सब दूर प्रचार कर रहा था। मैं भी देख रहा था हेलिकॉप्टर से कि चुन्नू और मुन्नू की सभा में कितनी भीड़ होती थी। कहीं 50 की और कहीं 100 की भीड़ होती थी। लोग आते ही नहीं थे इनकी सभा में। इसके बाद इन्होंने सिंधिया जी को पकड़ा और अपना वचन पत्र थमा दिया। सिंधिया जी खानदानी आदमी। उन्होंने ने भी चुन्नू मुन्नू की बातों में आकर बाहें ऊंची कर कह दिया कि हां किसानों का 2 लाख तक का कर्ज माफ होगा। 8 दिन में हम माफ कर देंगे। 8 दिन निकले 15 दिन निकले, 8 महीने निकल गए। सिंधिया जी ने कहा कमलनाथ जी आपने पूरे प्रदेश में मुझसे कहलवाया कि कर्ज माफ होगा। दूधवालों को बोनस मिलेगा। वे कहते अभी जल्दी में हूं, खजाने में पैसा नहीं है। चलो-चलो बाद में देखते हैं। ये चुन्नू-मुन्नू दोनों मुख्यमंत्री बन गए और प्रदेश में ट्रांसफर उद्योग शुरू कर दिया। एक ट्रांसफर कर रहा था, दूसरा नोट गिर रहा था।

मंत्री तुलसी सिलावट मंच पर लड़खड़ाए तो पूर्व विधायक राजेश सोनकर ने उन्हें संभाला।
मंत्री तुलसी सिलावट मंच पर लड़खड़ाए तो पूर्व विधायक राजेश सोनकर ने उन्हें संभाला।

रमेशजी की दादागीरी है कि मैंने सारे प्रोटोकाॅल का उल्लंघन किया
कैलाश ने कहा कि मैं क्षमा चाहता हूं कि बहुत सारे प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर रहा हूं अभी, मेरी सभा सिंधियाजी के क्षेत्र में है। कल 11 बजे से ही वहां सभा थी, लेकिन रमेशजी (रमेश मेंदोला, इंदौर क्रमांक दो से भाजपा विधायक) की दादागीरी है, बोले कि यहां आना ही पड़ेगा आपको। इस पर वहां की दो सभाएं कैंसिल की। यहां से वापस अशोकनगर और गुना जाऊंगा, इसलिए सभी प्रोटोकॉल को तोड़कर आपसे मुखातिब हो रहा हूं। कार्यकर्ताओं का जोश देखकर कह सकता हूं कि तुलसी 50 हजार से ज्यादा वोट से जीतेंगे। मैंने कहा दिया और यदि इसके बाद होश खो दिया तो गलत हो जाएगा, इसलिए जोश के साथ होश भी उस दिन तक चाहिए, जिस दिन हम अपने मतदाता को पोलिंग बूथ तक नहीं पहुंचा देते। जब तक होश और जोश कायम रखना है।

भगवा झंडे के बीच सिलावट ने कार्यकर्ताओं का अभिवादन स्वीकार किया।
भगवा झंडे के बीच सिलावट ने कार्यकर्ताओं का अभिवादन स्वीकार किया।

तुलसी ने गलत ट्रेन पकड़ ली थी, अब सही ट्रेन में सवार हुए
विजयवर्गीय ने तुलसी को लेकर कहा कि ये बहुत अच्छे इंसान हैं। कई बार होता है कि एक अच्छा आदमी गलत पार्टी में हाेता है। स्टेशन पर खड़े थे, जाना था कानपुर, आगरा की ट्रेन में बैठ गए। बाद में पता चला कि ये तो गलत ट्रेन है। रास्ते में उतरकर कानपुर वाली ट्रेन पकड़ ली। यही काम तुलसीरामजी ने किया। पहले गलत ट्रेन में बैठे थे। अब सही ट्रेन में आ गए। हम उस ट्रेन के यात्री हैं, इसलिए हमारी जवाबदारी है कि हम इन्हें जगह दें। सांवेर की जनता इन्हें हजारों वोट से अपना आशीर्वाद देगी। उन्होंने दोनों हाथ उठवाकर कसम खिलवाई कि सिलावट को हजारों वोट से जिताएंगे। मंच पर बैठे हम सबकी यह इज्जत का सवाल है। नर्मदा मैया तुलसी ने लाकर दी हैं। गंगाजी को भागीरथ लेकर आए, गंगाजी में डुबकी लगाने से जो लाभ मिलता है, वह नर्मदाजी के दर्शन से मिलता है। अब तो आपके घर में नर्मदाजी आ रही हैं। इसलिए सिलावट को आपको आशीर्वाद देना है।

कार्यकर्ताओं की भीड़ देखकर गदगद हुए नेता।
कार्यकर्ताओं की भीड़ देखकर गदगद हुए नेता।

अहंकार देखिए चुन्नूजी का, सिंधियाजी काे कह दिया उतर जाओ सड़क पर
सिंधियाजी ने एक दिन कह दिया- यदि आपने किसानों का कर्जमाफ नहीं किया तो मैं किसानों के साथ सड़क पर खड़ा हो जाऊंगा। अहंकार देखिए आप चुन्नूजी का। चुन्नूजी ने कह दिया- आ जाओ सड़क पर। इस देश में मोदी एक्सप्रेस बहुत फास्ट चल रही है। धारा 370 हटा दी, राम मंदिर बनाया, जो कहा- करके दिखा दिया। सिंधियाजी ने अपने मित्रों को बुलाया और बोले- हमने वचन दिया था, लेकिन यह सरकार कर्ज माफ नहीं कर सकती। हम गलत ट्रेन में हैं, दूसरी ट्रेन पकड़ना चाहिए। मोदीजी की किसानों के हित वाली, देश के विकास वाली ट्रेन चल रही थी। सिंधियाजी जैसे ही माेदी एक्सप्रेस में बैठे चुन्नू-मुन्नू की दुकान बंद हो गई। वे फटाक से नीचे आ गिरे।

सभा में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे।
सभा में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे।

असली गद्दार ताे चुन्नू-मुन्नू हैं
विजयवर्गीय ने कहा कि धोखा किसने दिया। गद्दार कौन हैं। चुन्नू-मुन्नू ही गद्दार हैं। शिवराजजी जैसे संत नेता को कहते हैं- नालायक है। शिवराजजी नालायक हैं और तुम लायक हो, किस लायक हो भैया तुम। तुम इसी लायक हो कि तुमको सिंधियाजी ने सड़क पर ला दिया। शिवराज हमारे नेता हैं। उन्होंने प्रदेश का विकास किया, किसानों को सही रास्ता दिखाया। भाजपा की सरकार के पहले किसान सोसायटी से 18 फीसदी ब्याज पर कर्जा लेते थे। 4 साल में यह डबल हो जाता था। 8 साल में चार गुना हो जाता था। एक लाख का कर्ज लिया और फसल बिगड़ गई तो 4 साल बाद 4 लाख हो जाता था। किसान कर्ज में डूब जाता था। शिवराज ने आते ही किसानों को बुलाया और पूछा- क्या चाहिए तुम्हें, वे बोले- बिना ब्याज के कर्ज। उन्होंने कहा- जाओ तथास्तु, ये शिव महाराज हैं। हमें 24 घंटे बिजली चाहिए, जाओ तथास्तु 24 घंटे बिजली आने लगी। हमें सड़क चाहिए, गांव तक सड़क दे दी तथास्तु... गरीब कन्याओं की शादी को लेकर कहा- मैं मामा हूं चिंता करने की जरूरत नहीं है।

मंच पर भाजपा के सभी बड़े नेता मौजूद रहे।
मंच पर भाजपा के सभी बड़े नेता मौजूद रहे।

हम भूखे-नंगे हैं, इसलिए हमें मालूम है उनका दर्द
कैलाश ने कहा कि तीर्थ कराने वाले शिवराज नालायक हैं क्या। गद्दार, नालायक के बाद अब एक नया शब्द बोला- भूखा-नंगा। बाप रे.. मेरा जन्म मील मजदूर के यहां हुआ। तुलसी भैया का जन्म एक सब्जी बेचने वाले के यहां हुआ। तुम भैया किस्मत वाले हो कि उद्योगपति के यहां पैदा हो गए। तुम्हारे पास पैसा, कार, बंगला है- ये मानते हैं हम। लेकिन तुम्हारी नीयत कैसी है जो बोलते हो वो करते नहीं हो, नीयत के खराब हो तुम। हम भूखे-नंगे हैं, हमें मालूम है उनका दर्द क्या है। इसलिए हमने गरीबों के हित की कल्याणकारी योजनाएं चलाईं। तुम्हारे जैसे बेईमान नहीं हैं कि वोट लेकर एसी के भीतर बैठ जाएं।

टाॅर्च लेकर खोजोगे तो भी नहीं मिलेगा कर्जमाफी वाला किसान
28 विधानसभा में उपचुनाव मैंने आज तक नहीं देखे। जो अच्छे लोग कांग्रेस में थे, वे अब भाजपा में आ गए हैं। मध्य प्रदेश की राजनीति में इतने हल्के शब्दों का इस्तेमाल आज तक नहीं हुआ। कमलनाथ के मुंह से एक-एक कर जो शब्द निकल रहे हैं, उनके जरिए उनका चरित्र पता चलता है। आपके नेता श्रीमान पप्पूजी जो कहते हैं- इधर से आलू डालो, उधर से सोना निकालो। उन्होंने कहा था 8 दिन में किसानों का 2 लाख का कर्जमाफ कर देंगे। नहीं तो मुख्यमंत्री बदल दूंगा। प्रदेश में टाॅर्च लेकर खोजो एक भी किसान का 2 लाख का कर्जमाफ नहीं हुआ।

रैली के रूप में कार्यकर्ता सभास्थल तक पहुंचे।
रैली के रूप में कार्यकर्ता सभास्थल तक पहुंचे।

सीमा में खड़े जवानों तक पहुंचे सांवेर की जनता की आवाज
विजयवर्गीय ने मंच पर आते ही भारत माता की जय बुलवाया। आवाज कम आने पर बोले- ऐसे में मजा नहीं आएगा भाई। ये आवाज शिवराज, मोदी और नड्डाजी तक पहुंचा चाहिए। यह आवाज सीमा पर खड़े जवानों तक पहुंचा चाहिए कि सांवेर की जनता भी आपके साथ है। कर दो चढ़ाई चीन पर, चिंता की कोई बात नहीं है।