इंदौर में कपड़ा कारोबारी ने लगाई फांसी:तीन पन्ने के सुसाइड नोट में लिखे कर्ज के लिए परेशान करने वालों के नाम

इंदौर4 महीने पहले

इंदौर में एक रेडीमेड कपड़ों के कारोबारी ने कर्ज और प्रॉपर्टी विवाद से तंग आकर फांसी लगा ली। वह लोगों से रुपए के लेनदेन और भाई से प्रॉपर्टी विवाद को लेकर काफी तनाव में था। रात में पूरे परिवार के साथ बैठकर टीवी देखी। इसके बाद सोने के लिए कमरे में चला गया। सुबह पत्नी ने उसे फंदे पर लटके देखा। फिलहाल पुलिस ने सुसाइड नोट जब्त कर जांच शुरू की है।

TI संजय शुक्ला के मुताबिक संगम नगर में रहने वाले नवीन पुत्र हरस्वरूप वर्मा को सुबह 5 बजे के करीब पत्नी ने फंदे पर लटके देखा। इसके बाद बच्चों को उठाकर पुलिस को मामले की सूचना दी। नवीन की रामबली नगर में रेडीमेड कपड़ों की फैक्ट्री थी। रात में वह बच्चों के साथ बातचीत करने के बाद सो गया था। जिसके बाद पत्नी सुबह जब पानी पीने उठी तो पति को फंदे पर लटके देखा।

तीन पन्ने के सुसाइड नोट में लिखी कर्ज की बात
कारोबारी ने तीन पन्ने का सुसाइड नोट लिखा है। जिसमें भास्कर,शिवराम और केशव नामक व्यक्तियों द्वारा रुपए के लेनदेन को लेकर परेशान करने की बात कही है। नवीन को कई लोगों से रुपए लेना थे। लेकिन नवीन के सीधेपन का फायदा उठाकर लोग उसे रुपए वापस नहीं कर रहे थे। जिसके चलते उसे बाजार से कर्ज लेना पड़ा था। इधर एक पुश्तैनी मकान को लेकर उसका अपने ही सगे भाई से भी प्रॉपर्टी का विवाद चल रहा था। इस सबके चलते वह पिछले कई दिनों से तनाव में था।

दो परिचितों पर जताया भरोसा
नवीन ने अपने दो परिचित पीयूष और गिरधारी के बारे में भी सुसाइड नोट में लिखा है। जिसमें दोनों से परिवार का ध्यान रखने की बात कही है। इसके साथ ही दोनों बेटों को नसीहत दी है कि वह आय से ज्यादा खर्च नहीं करे। नवीन के परिवार में उसके दो बेटे और बेटी है। बड़ा बेटा दो रेस्टोरेंट चलाता है। पुलिस के मुताबिक सुसाइड नोट को जांच में लिया गया है।