• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • New Boom In IT, In 4 Months 800 Professionals From Indore Joined Companies From Pune, Bangalore, Hyderabad In One And A Half Times Package Sitting At Home

भास्कर Original:आईटी में नया बूम, 4 महीने में इंदौर के 800 प्रोफेशनल ने घर बैठे डेढ़ गुना पैकेज में पुणे, बेंगलुरू, हैदराबाद की कंपनियां जॉइन की

इंदौर2 महीने पहलेलेखक: संजय गुप्ता
  • कॉपी लिंक
कोविड के बाद तकनीक के अधिक इस्तेमाल से बढ़े अवसर। - Dainik Bhaskar
कोविड के बाद तकनीक के अधिक इस्तेमाल से बढ़े अवसर।

कोविड के बाद इंदौर की आईटी कंपनियों में काम करने वाले प्रोफेशनल्स को नए अवसर मिल रहे हैं। अनलॉक के बाद करीब चार महीन में ही 800 से ज्यादा लोगों ने घर बैठे ही पुणे, बेंगलुरू, नोएडा, हैदराबाद की बड़ी आईटी कंपनियां जॉइन की हैं। इनके सैलरी पैकेज भी 50% से ज्यादा बढ़ गए हैं।

जो पैकेज पहले औसत 10 लाख सालाना था, वह 15 लाख से ज्यादा का हो चुका है। कई लोगों ने ऑफर लेटर में यह शर्त भी लिखवा ली है कि वे अभी वर्क फ्रॉम होम ही करेंगे। आईटी में नए अवसरों की प्रमुख वजह कोविड के कारण हर काम में तेजी से बढ़ रहा तकनीक का उपयोग है। इसे पूरा करने के लिए बड़ी कंपनियों को अतिरिक्त टीम की जरूरत पड़ रही है। टेलेंट सर्च के जरिए इंदौर सहित अन्य शहरों की कंपनियों में काम कर रहे लोगों को लुभावने पैकेज देकर बुलाया जा रहा है।

बड़ी कंपनियों में इन टेक्नोलॉजी के एक्सपर्ट की ज्यादा मांग

आईटी के जानकारों की मानें तो इस समय आर्टिफिशियल इंटेलीजेंसी, क्लाउड, पायथन, मशीन लर्निंग, बिग डेटा, बिजनेस इंटेलीजेंस, ऑटोेमेशन के एक्सपर्ट की सबसे ज्यादा मांग है। जावा की भी मांग है, लेकिन वह धीरे-धीरे आउटडेटेड हो रहा है।

हमारा आईटी मजबूत रहे, इसलिए सरकार इंदौर में कोविड काल में 113 कंपनियों को 18 करोड़ रुपए की सब्सिडी दे चुकी

मप्र शासन आईटी कंपनियों को जमीन, कर्मचारी ट्रेनिंग व अन्य काम के लिए सब्सिडी देती है। दो सालों के कोविड दौर में ही 113 आईटी कंपनियां 18 करोड़ सब्सिडी ले चुकी हैं, जिससे वह अपने लिए कर्मचारी तैयार कर रही हैं। साढ़े चार साल में 267 कंपनियां 31 करोड़ 34 लाख की सब्सिडी ले चुकी हैं।

कई लोगों ने कुछ ही दिनों के अंतराल में दो से तीन कंपनियां बदलीं, ऑफर लेटर से ही बढ़वाया पैकेज

इम्पीटस के वाइस प्रेसीडेंट संजीव अग्रवाल बताते हैं कि कोविड की दूसरी लहर के बाद अच्छे काम करने वालों की डिमांड बढ़ी है। कई लोग ऐसे भी हैं, जिन्होंने एक कंपनी से ऑफर लेटर लेकर दूसरी कंपनी में बड़ा पैकेज ले लिया। वहां जॉइनिंग ली और छोड़कर तीसरी कंपनी जॉइन कर ली। उन्होंने अपना पैकेज तो बढ़वा लिया, लेकिन कंपनी को मुश्किल में डाल दिया।

इंदौर में सैकड़ों एम्प्लॉयज ने आईटी कंपनियां बदली हैं और बड़े ग्रुपों में गए हैं। रेड बैंक के नरेंद्र सेन बताते हैं कि 50 फीसदी से ज्यादा का सैलरी पैकेज तीन से चार माह में ही बढ़ गया है, इसलिए कंपनियां अब नए लोगों को लेकर उनकी पॉलिशिंग में ध्यान दे रही हैं। आगे जाकर कैंपस प्लेसमेंट अधिक होंगे, क्योंकि बड़ी कंपनियों के पैकेज को देखते हुए उन्हें तोड़कर वापस लाना आसान नहीं होगा।

  • 30 बड़ी व मध्यम आईटी कंपनियां इंदौर में
  • 200 से ज्यादा छोटी कंपनियां हैं
  • 10 हजार कर्मचारी हैं
  • 02 बड़ी आईटी कंपनी टीसीएस व इन्फोसिस हैं
  • 02 हजार करोड़ से ज्यादा का टर्न ओवर है इंदौर आईटी सेक्टर का