• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Not Even Two Lakhs Were Distributed In The Rejuvenation Scheme; The Doctors Who Were Adamant For More Amount, Only Scored The Reward.

इनाम राशि के बंटवारे को लेकर विवाद:कायाकल्प योजना में आए दो-दो लाख बांटे ही नहीं; ज्यादा राशि के लिए अड़े डॉक्टर तो इनाम ही गोल कर दिया

इंदौर2 महीने पहलेलेखक: नीता सिसौदिया
  • कॉपी लिंक
शहर के शिवबाग कॉलोनी व बड़ी ग्वालटोली के सरकारी अस्पतालों के कर्मचारियों को अच्छा काम करने पर प्रदेश सरकार ने 2-2 लाख का पुरस्कार दिया था। - Dainik Bhaskar
शहर के शिवबाग कॉलोनी व बड़ी ग्वालटोली के सरकारी अस्पतालों के कर्मचारियों को अच्छा काम करने पर प्रदेश सरकार ने 2-2 लाख का पुरस्कार दिया था।

शहर के दो सरकारी अस्पताल में काम करने वाली टीम के लिए कायाकल्प योजना के तहत भेजा गया दो-दो लाख का इनाम छह महीने बाद भी उन्हें नहीं मिला है। अब कर्मचारी इनाम की राशि ढूंढकर लाने वाले को पुरस्कार देने की घोषणा कर रहे हैं। शहर के शिवबाग कॉलोनी व बड़ी ग्वालटोली के सरकारी अस्पतालों के कर्मचारियों को अच्छा काम करने पर प्रदेश सरकार ने 2-2 लाख का पुरस्कार दिया था।

आला अधिकारियों ने इसमें से 75% का उपयोग स्वास्थ्य केंद्र के विकास में व शेष 25% कर्मचारियों को देने के निर्देश दिए थे। 50-50 हजार स्टाफ को बांटने थे, जो अब तक नहीं बांटे गए हैं। सूत्रों का कहना है कि इसकी बड़ी वजह इनाम राशि के बंटवारे को लेकर विवाद है, डॉक्टर्स ज्यादा काम के लिए ज्यादा हिस्सा मांग रहे है। इसलिए सारा मामला अटका हुआ है।

हिसाब भी नहीं दिया- सूत्रों का कहना है कि मार्च में मिशन डायरेक्टर ने सीएमएचओ डाॅ. बीएल सैत्या से रिपोर्ट भी तलब की थी, लेकिन नौ महीने बाद भी विभाग खर्च का हिसाब तक नहीं दे पाया है। इस बारे में बड़ी ग्वालटोली केंद्र की प्रभारी डॉ. अनुभा गंगराड़े का कहना है कि केंद्र के विकास का काम चल रहा है। कर्मचारियों के चेक बने थे, लेकिन गलती होने से रिजेक्ट हो गए।