टंट्या मामा के बलिदान दिवस का कार्यक्रम स्थल बदला:अब पातालपानी नहीं नेहरू स्टेडियम में होगा आयोजन, तैयारियां शुरू

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नेहरू स्टेडियम का अवलोकन करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
नेहरू स्टेडियम का अवलोकन करते अधिकारी।

वनवासी समाज के अमर क्रांतिकारी टंट्या मामा के बलिदान दिवस 4 दिसम्बर को पातालपानी में होने वाला कार्यक्रम स्थल बदल दिया गया है। अब यह कार्यक्रम 4 दिसम्बर को ही नेहरू स्टेडियम में होगा। आईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि बारिश के चलते यह बदलाव किया गया है। इसके साथ ही दोपहर को कलेक्टर मनीषसिंह के साथ अधिकारियों की टीम नेहरू स्टेडियम में पहुंची और तैयारियां करने को लेकर स्थिति जानी।

बारिश के कारण पातालपानी में प्रतिमा अनावरण स्थल की हो गई ऐसी स्थिति।
बारिश के कारण पातालपानी में प्रतिमा अनावरण स्थल की हो गई ऐसी स्थिति।

पूर्व कार्यक्रम के अनुसार तीन दिसम्बर को शाम गौरव यात्रा इन्दौर शहर में प्रवेश करेगी। खंडवा ज़िले के बड़ौदा अहिर और रतलाम ज़िले से दो यात्राएं निकली थी, जिनका समागम धार में होगा और यह सम्मिलित रूप से इंदौर में तीन दिसंबर को पहुंचेगी। फिर इंदौर के राजबाडा में इनका स्वागत होगा। राजबाडा पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे लेकिन सारी स्थिति बारिश पर निर्भर रहेगी। 4 दिसम्बर की सुबह लगभग नौ बजे यात्रा नेहरू स्टेडियम से शुरू होकर भंवरकुआ चौराहा पहुंचेगी जहां इस चौराहे का नया नाम टंट्या भील चौराहा के नाम से समारोहपूर्वक किया जाएगा। कार्यक्रम में नामकरण के शिलालेख का अनावरण भी किया जाएगा। यहीं से लगभग 5 हजार की संख्या में मोटर साइकिलों की रैली भी पातालपानी के लिए प्रारंभ होने वाली थी जो अब नहीं जाएगी। उधर, टंट्या भील की नवीन प्रतिमा भी स्थापना के लिए ग्वालियर से आ चुकी है। प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान 4 दिसम्बर को पातालपानी में टंट्या मामा के प्रतिमा अनावरण के बाद वहीं संबोधित करने वाले थे लेकिन वे प्रतिमा अनावरण कम नेहरू स्टेडियम पहुंचेंगे और संबोधित करेंगे। जल्द ही नए कार्यक्रम की रूपरेखा जारी की जाएगी। हालांकि कार्यक्रम स्थल बदलने के पीछे कुछ और भी कारण सामने आए हैं।

खबरें और भी हैं...