इंदौर में बुजुर्ग की दूसरे डोज को ना:बोले- बीवी मर जाएगी तो रोटी कौन देगा; गोली मार दो, फांसी चढ़ा दो ...टीका नहीं लगवाएंगे

इंदौर8 महीने पहले

इंदौर में 10% (2.80 लाख) लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज नहीं लगा है। लोग आनाकानी कर रहे हैं। रालामंडल इलाके के एक गांव में बुजुर्ग ने वैक्सीन नहीं लगवाने की जिद पकड़ ली। हेल्थ डिपार्टमेंट की टीम ने बुजुर्ग को मनाने की हरसंभव कोशिश की, लेकिन बुजुर्ग का साफ कहना था- चाहे तो गोली मार दो, फांसी पर ही चढ़ा दो, लेकिन टीका नहीं लगवाऊंगा।

बुजुर्ग ने टीम को कहा- पहला टीका लगवाने के बाद उनकी पत्नी 15 दिन बिस्तर पर पड़ी रही। अगर उसे कुछ हो गया तो मुझे रोटी कौन देगा। मुख्यमंत्री शिवराज या फिर प्रधानमंत्री मोदी ही क्यों न आ जाएं, टीका तो नहीं लगवाऊंगा।

जिले में 100% सेकेंड डोज के लिए नगर निगम और NGO की टीम्स घर-घर पहुंच रही हैं। 80 मोबाइल वैन भी एक्टिव हैं। पहले डोज के आधार पर लोगों को फोन कर वैक्सीनेशन सेंटर आने की अपील की जा रही है। कई परिवारों में शादियां हैं, इसके चलते लोग नहीं आ रहे हैं। ऐसे में उन्हें समझाइश दी जा रही है कि वे पहले आकर वैक्सीन लगवाएं।

इंदौर में दिसंबर में अब तक 14 केस
शहर में पिछले 24 घंटे में कोरोना का 1 केस मिला है। इससे एक दिन पहले 3 दिसंबर को 6 केस मिले थे। 2 3 दिसंबर को 3 केस आए थे। 1 दिसंबर को 4 केस थे।

MP में 94% लोगों को पहला डोज

मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की गंभीरता को कम करने के लिए लगातार वैक्सीनेशन अभियान जारी है। अब तक प्रदेश में 94% लोगों को पहला डोज लग गया है। दूसरा डोज भी 70% ने लगवा लिया है। अभी भी दिसंबर 2021 तक पात्र आबादी को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य पूरा करने के लिए रोज 7.35 लाख डोज लगाने होंगे। प्रदेश में अब 8, 15 और 22 दिसंबर को वैक्सीनेशन महाअभियान होगा। (पढ़िए पूरी खबर)