• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Our Weather Station Gave The Best, Accurate Information; 'Indore Police Training Institute' Again Tops In Hard Core Training Of Women Constables

नंबर 1 शहर को फिर दो अवॉर्ड:हमारा मौसम केंद्र सबसे अच्छा, सटीक जानकारी दी; महिला कांस्टेबल की हार्ड कोर ट्रेनिंग में ‘इंदौर पुलिस ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट’ फिर अव्वल

इंदौर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 05 कर्मचारी 24 घंटे, 12 महीने सेवाएं देते हैं
  • 1250 महिला कांस्टेबल सालभर में लेती हैं ट्रेनिंग

देवी अहिल्याबाई एयरपोर्ट पर स्थित मौसम केंद्र ने इंदौर का मान बढ़ाया है। इसे देश में एयरपोर्ट पर स्थित सबसे अच्छे मौसम केंद्र से नवाजा गया है। एयरपोर्ट से फ्लाइट संचालन से पहले सटीक जानकारी देना मौसम केंद्र की जिम्मेदारी होती है। इंदौर कार्यालय द्वारा ठंड, गर्मी, बरसात की सटीक जानकारी एयरपोर्ट अथाॅरिटी को दी जा रही है।

एयरपोर्ट से फ्लाइट को मौसम की सही जानकारी नहीं मिलने के कारण उड़ान भरने में कभी भी परेशानी नहीं हुई। इस प्रमुख सेवा की वजह से देश का सबसे अच्छा मौसम केंद्र इंदौर को घोषित किया गया है। एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) परिसर से मौसम केंद्र संचालित हो रहा है। पांच कर्मचारी 12 महीने, 24 घंटे सेवाएं दे रहे हैं।

मौसम का पूर्वानुमान, बारिश, ठंड, गर्मी के आंकड़े बताने के आधुनिक उपकरण यहां लगे हैं। इन्हें भी केंद्रों का आंकलन करन में देखा गया था। केंद्र के प्रमुख एसपी गुप्ता, विवेक छलोत्रे के मुताबिक देशभर के 90 मौसम केंद्रों का आकलन डीजीसीए ने किया था। इसमें इंदौर के केंद्र को श्रेष्ठ घोषित किया गया है।

पुलिस विभाग में नव आरक्षकों को सर्वश्रेष्ठ ट्रेनिंग देने के लिए इंदौर पुलिस ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट को एक बार फिर देश में अव्वल इंस्टिट्यूट का अवॉर्ड मिला है। इस अवॉर्ड के साथ 20 लाख रुपए की राशि और यूनियन होम मिनिस्ट्री ट्रॉफी भी दी जाएगी। इंस्टिट्यूट के संचालक एएसपी प्रमोद सोनकर ने बताया यह दूसरी बार है, जब हमारे इंस्टिट्‌यूट को यूनियन होम मिनिस्ट्री ट्रॉफी मिली है। 2020-21 में स्टेट यूनियन टेरिटरी में कांस्टेबल कैटेगरी में नेशनल लेवल पर ये अवॉर्ड मिला है। सबसे अहम ताकत ये है कि हमारा इंदौर का इंस्टिट्यूट महिला कांस्टेबल तैयार करने के मामले में सबसे आगे है।

एसपी ने बताया हमारे यहां पुरुषों की तरह ही महिला कांस्टेबल को ट्रेंड किया जाता है। फिर चाहे इनडोर ट्रेनिंग हो या आउट डोर, महिला कांस्टेबलों को वही ट्रेनिंग दी जाती है, जो पुरुषों को मिलती है। यही वजह है कि देशभर में सर्वाधिक महिला आरक्षक हमारे इंस्टिट्यूट से ही ट्रेंड होकर निकलती हैं। एक साल में हमारे यहां से 1250 कांस्टेबल ट्रेंड होकर दीक्षांत परेड करते हैं। इस बार हमारी परेड की कमांडर भी महिला थीं, जिन्होंने पूरे परेड को कमांड किया था।

खबरें और भी हैं...