बड़ी कार्रवाई:महल कचहरी; दिनभर विवाद शाम को 4 मकान ध्वस्त किए

इंदौर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मुकाती महल पर कार्रवाई के बाद पीछे की दीवार को अब धीरे-धीरे ढहाएंगे। - Dainik Bhaskar
मुकाती महल पर कार्रवाई के बाद पीछे की दीवार को अब धीरे-धीरे ढहाएंगे।
  • बाधा डालने पर 6 लोग गिरफ्तार

जवाहर मार्ग से पागनीसपागा तक बनने वाली रिवर साइड रोड में सबसे बड़ी बाधा महल कचहरी के मुकाती महल के चार मकानों को आखिरकार गुरुवार को प्रशासन और निगम की टीम ने बलपूर्वक तोड़ दिया। कार्रवाई का विरोध करने वाले पालीवाल परिवार व उनसे जुड़े छह लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। अब सिर्फ एक मकान बाकी है, जिस पर स्टे है।

सुबह 10.30 बजे सबसे पहला विवाद पालीवाल परिवार के राकेश पालीवाल व परिजन ने किया। उनका कहना था स्मार्ट सिटी द्वारा विकास के नाम पर मनमानी की जा रही है। नदी का बहाव मोड़कर हमारे घर को तोड़ा जा रहा है। विवाद नहीं थमा तो एसडीएम अंशुल खरे, सीएसपी दिशेष अग्रवाल व उपायुक्त लता अग्रवाल चंद्रभागा ब्रिज पर आकर बैठ गए।

तब एडीएम पवन जैन मौके पर पहुंचे और राकेश पालीवाल व उनके परिवार के सागर, उत्सव व अन्य से बात की। पालीवाल परिवार का कहना था कि अगर प्रशासन को जमीन लेना है तो उन्हें बदले में जमीन दे, वे फ्लैट में नहीं रहना चाहते। इस पर एडीएम ने कहा नहीं माने तो हमारे पास सख्ती का भी रास्ता है। इस पर परिवार के लोगों ने कहा हमारा सामान निकलवा दो, यहीं सड़क पर त्योहार मनाकर जाएंगे।

  • 370 मीटर लंबाई है रोड की
  • 24 मीटर होगी चौड़ाई
  • 10 महीने पहले शुरू किया बाधाएं हटाना
  • 275 परिवारों को शिफ्ट कर चुके
  • 250 मीटर में रिटेनिंग वॉल बना चुके हैं

रैन बसेरा में सामान शिफ्टिंग पर बिफर गया परिवार

एडीएम ने कहा सामान अभी अस्थाई रूप से कहीं रखवा देते हैं, फिर जमीन या फ्लैट का विवाद निपटा लेंगे। इस पर अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह ने बताया रैन बसेरा में सामान रख सकते हैं तो परिजन बिफर गए और कहा रैन बसेरे में हम लोग रहेंगे क्या।

इन लोगों पर शासकीय काम में बाधा का केस दर्ज हुआ

पुलिस ने गौरव पिता राकेश, उत्सव पिता राकेश, राकेश पिता चतुर्भुज, कबीर पिता विनोद साहू, जयेश पिता संजय जोशी, सागर पिता उदय पालीवाल पर शासकीय कार्य में बाधा का केस दर्ज किया है।

बड़ा फायदा... पश्चिम और पूर्व का ट्रैफिक जुड़ सकेगा

यह रोड पश्चिम से पूर्व के ट्रैफिक को जोड़ने वाली लाइफ लाइन साबित होगा। कलेक्टोरेट क्षेत्र से एमजी रोड आने वाले हर दिन के करीब 5 लाख वाहन चालकों को इसका फायदा होगा। अभी इन वाहन चालकों को एमजी रोड पहुंचने से पहले राजबाड़ा क्षेत्र के भारी ट्रैफिक से गुजरना पड़ता है। रोड बनने ही वाहन सीधे जवाहर मार्ग और वहां से संजय सेतु होते हुए एमजी रोड पर आ सकेंगे।

खबरें और भी हैं...