बाएं से दिखेगा मोदी का चीता, दाएं से मध्यप्रदेश:NRI सम्मेलन में एक और अनूठी कला; देखिए पहली झलक

इंदौर5 महीने पहलेलेखक: अमित सालगट
  • कॉपी लिंक

इंदौर में प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए मप्र और PM मोदी की ब्रांडिंग के लिए गजब का एनामॉर्फिक आर्ट तैयार किया गया है। यह आर्ट देखने में रोचक होने के साथ ही इसमें ऐसी चीज छिपी हैं जो इस आर्ट के दोनों तरफ जाने पर ही नजर आती है। इस आर्ट को पीएम नरेंद्र मोदी से लेकर यहां आने वाले तमाम लोग निहारेंगे।

जानिए इस आर्ट में क्या कुछ छिपा है और इसे कैसे तैयार किया गया

इस आर्ट को मुंबई अर्थात स्टूडियो के आर्टिस्ट बना रहे हैं। शुक्रवार को ये आर्ट पूरी तरह से बनकर तैयार हो जाएगा। इसे ब्रिलियंट कन्वेशन सेंटर के एंट्री गेट पर रखा गया है। इस आर्ट में एंगल का गजब का खेल देखने को मिलेगा। अगर आप इस आर्ट को सीधे हाथ की तरफ से देखेंगे तो इसमें सीएम शिवराज का इन्वेस्ट MP लिखा नजर आएगा, जबकि उल्टे हाथ पर देखने पर पीएम मोदी द्वारा शिवपुरी के पाल-कूनो अभयारण्य में छोड़े गए चीते की तस्वीर देखने को मिलेगी। इस आर्ट को बीच में से देखने पर इसमें मप्र की इंडस्ट्रियल ग्रोथ को दर्शाने वाली जगहों और टूरिस्ट प्लेसेस की तस्वीरें देखने को मिलेगी।

अब पढ़िए कैसे तैयार हुआ ये एनामॉर्फिक आर्ट और कितना वक्त लगा

एनामॉर्फिक आर्ट को तैयार होने में 15 से 20 दिन का समय लगा। इस आर्ट को तैयार करने में टेक्नोलॉजी की काफी मदद ली गई है। पहले इसे कम्प्यूटर पर 3D फार्म या कहे कि डिजिटल फार्म में तैयार किया गया है। इस प्रोसेस में 10 दिनों का समय लगा, जिसे 5 आर्टिस्ट ने पूरा किया। इसके बाद इसके फेब्रिकेशन का काम किया गया, जिसमें 7 दिन का वक्त लगा। इसका काम मुंबई स्थित अर्थात स्टूडियो की वर्कशॉप में पूरा हुआ है। इसके बाद इसे ट्रांसपोर्ट कर इंदौर लाया गया। ये प्रोसेस पूरी होने के बाद इसे ब्रिलियंट कन्वेशन सेंटर पर इंस्टॉल किया जा रहा है। यह काम भी काफी बारिक है। 6 दिन से यहां पर इसे इंस्टॉल करने का काम जारी है। करीब 30 से 40 प्रतिशत काम ही शेष रहा है, जो शुक्रवार को पूरा हो जाएगा।

इन आर्टिस्ट ने तैयार किया है ये एनामॉर्फिक आर्ट, किन्हें मिला प्रोजेक्ट

इस आर्ट को तैयार करने वाले है आर्टिस्ट है आकाश नामदेव, जितेंद्र पटेल, हिरण मशरू, देवल वाला, अमोल बावले। ये आर्टिस्ट मुंबई के हैं और अर्थात स्टूडियो इनकी कंपनी का नाम है। आर्टिस्ट जितेंद्र पटेल ने बताया कि इस आर्ट का प्रोजेक्ट उन्हें इवेंट कंपनी गो बनाना से मिला है। क्योंकि उनका इस कंपनी से उनका कोलाब्रेशन होता रहता है। इसी वजह से उन्हें यहां पर ये आर्ट बनाने का प्रोजेक्ट मिला है।

इस तरफ से देखने पर नजर आएगी बैठे हुए चीते की तस्वीर। इस आर्ट को ब्रिलियंट कन्वेशन सेंटर के एंट्री गेट पर रखा गया है।
इस तरफ से देखने पर नजर आएगी बैठे हुए चीते की तस्वीर। इस आर्ट को ब्रिलियंट कन्वेशन सेंटर के एंट्री गेट पर रखा गया है।

20 लेयर और 400 से ज्यादा फोटो का इस्तेमाल

आर्टिस्टों के मुताबिक ये एनामॉर्फिक आर्ट 20 लेयर में तैयार की गई है। इसमें 100 से ज्यादा आर्ट पीस लगे है। जिसमें 400 से ज्यादा फोटोग्राफ देखने को मिलेंगे। इसमें एमपी के जितने भी इन्वेस्टमेंट सेक्टर हैं उनके फोटो देखने को मिलेंगे यानी आर्ट एंड क्राफ्ट, टैक्स्टाइल, फॉर्मा, सोलर इंडस्ट्री, एग्रीकल्चर, डेवलपमेंट के साथ ही टूरिस्ट प्लेसेस भी इसमें देखने को मिलेंगे। इस एनामॉर्फिक आर्ट में सबसे छोटा पीस 4 इंच का तो सबसे बड़ा पीस 3 फीट का लगा है। इस 20 लेयर में आई लेवल के अनुसार गेप रखा गया है। इसके साथ इन सभी पीसेस को फिशिंग थ्रैड से हैंग किया गया है।

अब बात करते है इसकी लंबाई और चौड़ाई की...

आर्टिस्ट की मुताबिक सामने से देखने पर इस एनामॉर्फिक आर्ट की चौड़ाई 12 फीट, जबकि ऊंचाई 8 फीट की है। वहीं जो चीता नजर आता है वह 5 बाय 6 का बैठा हुआ नजर आएगा। इस आर्ट को देखने के लिए व्यक्ति की हाइट भी काफी मायने रखती है। अगर व्यक्ति की हाइट ज्यादा है तो उसे थोड़ा पीछे जाकर इसे देखना होगा, जबकि किसी की हाइट कम है तो उसे थोड़ा आगे की तरफ से इसे देखना होगा। इस आर्ट को समझने के लिए राइट साइड और लेफ्ट साइड में 45 डिग्री के एंगल पर देखने पर ही इस आर्ट में दोनों चीजें आपको दिखाई देगी।

इवेंट में ही छिपा रहता है आइडिया

आर्टिस्ट जितेंद्र पटेल ने बताया कि इसका आइडिया भी इस इवेंट में ही छिपा था या कहे कि जो इवेंट होता है उसमें ही उसका आइडिया भी छिपा रहता है। इसमें ऐसी आर्ट तैयार की गई है जो लोगों को यूनीक लगे। क्योंकि ये एनामॉर्फिक आर्ट वन ओन वन इंटरेक्शन करता है। इसलिए इस आर्ट को इसी तरह से तैयार किया गया है। यह आर्ट एमपी को ग्लोरिफाई करता है।

गवर्नमेंट से अप्रूव होने के बाद ही तैयार किया

आर्टिस्ट अशोक नामदेव ने बताया कि गवर्नमेंट और हमारे बीच में और भी एजेंसी है। ये आइडिया आने के बाद एजेंसी के माध्यम से इसे अप्रूवल के लिए गवर्नमेंट के पास भेजा गया था। गवर्नमेंट से अप्रूवल मिलने के बाद ही इस आर्ट को तैयार किया गया है। हालाकि ये प्रोसेस पिछले महीने से शुरू हो गई थी।

इस तरफ से देखने पर लिखा दिखेगा इन्वेस्ट एमपी। मप्र और PM मोदी की ब्रांडिंग के लिए गजब का एनामॉर्फिक आर्ट तैयार किया गया है।
इस तरफ से देखने पर लिखा दिखेगा इन्वेस्ट एमपी। मप्र और PM मोदी की ब्रांडिंग के लिए गजब का एनामॉर्फिक आर्ट तैयार किया गया है।

चीता की जगह पहले था बाघ

इस एनामॉर्फिक आर्ट में पहले चीता की जगह बाघ की तस्वीर देखने को मिलने वाली थी। बताया जा रहा है कि इसमें बाघ की जगह चीता की तस्वीर दिखाई दे ये बात हुई इसके बाद इस एनामॉर्फिक ऑर्ट में चेजेंस किए गए और बाघ की जगह चीता की तस्वीर दिखाई दे ये तय हुआ।

एमपी टूरिज्म में दिए फोटो

ये आर्ट ब्रिलियंट कन्वेशन सेंटर की बिल्डिंग के एंट्री गेट पर ही नजर आ जाएगा। यहीं पर इस आर्ट को तैयार किया गया है। खास बात यह है कि इस आर्ट में जितने भी फोटो का इस्तेमाल हुआ है वह एमपी टूरिज्म द्वारा उपलब्ध कराए गए है।

इस आर्ट को जब आप बीच में से देखेंगे तो आपको इसमें कई फोटो देखने को मिलेंगे। इसमें 100 से ज्यादा आर्ट पीस लगे है।
इस आर्ट को जब आप बीच में से देखेंगे तो आपको इसमें कई फोटो देखने को मिलेंगे। इसमें 100 से ज्यादा आर्ट पीस लगे है।

अब बात कर लेते हैं इसमें इस्तेमाल मटेरियल की

इस एनामॉर्फिक आर्ट को तैयार करने के लिए अलग-अलग मटेरियल का इस्तेमाल किया गया है। इसमें मुख्य रूप से मेटल, प्लाई का ज्यादा उपयोग हुआ है। साथ ही इसमें जो फोटो लगे है उन्हें यूवी प्रिंट करके लगाया गया है, ताकि वह ज्यादा अच्छा नजर आए।

आर्टिस्ट तैयार कर चुके है पीएम के पोट्रेट

अर्थात स्टूडियों के आर्टिस्ट ने बताया कि इसके पहले भी वे बैम्बू से और एनामॉफिक आर्ट से पीएम मोदी के पोट्रेट बना चुके है। इसके अलावा ये आर्टिस्ट लेक्सस कार के साथ भी कोलाब्रेट कर चुके है। ये आर्टिस्ट कई तरह के आर्ट और पोट्रेट बना चुके है।

एनआरआई सम्मेलन से जुड़ी से खबरें भी पढ़ें-

दुनियाभर के मेहमानों को बैम्बू बॉक्स में सरप्राइज गिफ्ट

प्रवासी भारतीय सम्मेलन में दुनियाभर से आने वाले मेहमानों के सत्कार के लिए इंदौर ने खास तैयारी की है। मेहमानों को जूट के बने हुए बैग में नौ तरह का सामान दिया जाएगा। इसमें बनाना पेपर भी रहेगा। इंदौर की ओर से लिखी की एक चिट्‌ठी भी रहेगी। पूरी खबर यहां पढ़ें...

इंदौर में NRI सम्मेलन की ऐसे हो रही ब्रांडिंग

इंदौर स्वच्छता के मामले में देश में नंबर वन है। लगातार छह वर्ष सबसे स्वच्छ शहर का पुरस्कार दिया गया है। यह भारत का पहला 7-स्टार कचरा मुक्त शहर भी है। इसकी ब्रांडिंग प्रवासी भारतीय सम्मेलन के तहत की जा रही है। स्वच्छता से संबंधित बड़े-बड़े पोस्टर-बैनर लगाए गए हैं। पूरी खबर यहां पढ़ें...

देश की छवि के लिए ड्राइवर बनने को तैयार होस्ट

प्रवासी भारतीय सम्मेलन को लेकर तैयारियां अंतिम चरण में है। ‘पधारो म्हारा घर’ थीम के तहत घरों में अतिथियों का स्वागत भारतीय संस्कृति के अनुसार होगा। होम स्टे की तैयारी को लेकर हुई बैठक में संभागायुक्त डॉ.पवन शर्मा ने कहा कि मेजबान ही भारत के ब्रांड एंबेसडर होंगे और देश की पहचान अतिथियों के सामने रखेंगे। पूरी खबर यहां पढ़ें...

उज्जैन के हरसिद्धि की तरह इंदौर एयरपोर्ट पर दीपमालिका

प्रवासी भारतीय सम्मेलन के मद्देनजर इंदौर में विभिन्न तरह के काम हो रहे हैं। NRI सबसे पहले एयरपोर्ट आएंगे, ऐसे में यहां उनके भव्य स्वागत की तैयारी है। 8 से 10 जनवरी तक 3 दिनी प्रवासी भारतीय सम्मेलन व 11 और 12 जनवरी को होने वाली दो दिनी ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट के लिए प्रारंभिक तौर पर रूट चार्ट और पार्किंग प्लान तैयार हो गया है। पूरी खबर यहां पढ़ें...

खाने में देंगे इंडियन करेंसी वाले लड्‌डू; सरप्राइज भी देंगे इंदौरी होस्ट

इंदौर में प्रवासी भारतीय सम्मेलन में आने वाले एनआरआई अतिथियों के लिए इंदौर में कई परिवार आगे आए हैं। ये इन्हें अपने घर में रुकवाना चाहते हैं। इनके स्वागत और खान-पान सहित सरप्राइज देने के लिए खास तैयारी इंदौरी होस्ट ने की है। इंदौर विकास प्राधिकरण अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा ने बताया- लगभग 50 प्रवासी भारतीयों ने होम स्टे के लिए सहमति दी है। पूरी खबर यहां पढ़ें...

स्पेशल डोर से गुजरात-इंदौर की खूबसूरत और बड़ी पतंगे उड़ाएंगे प्रवासी भारतीय

इंदौर में 8 से 10 जनवरी को होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन में इस बार भारतीय संस्कृति के लिहाज से बहुत कुछ अलग होगा। इसी कड़ी में एसोसिएशन ऑफ इण्डस्ट्रीज मप्र (AIMP) ने इन तीनों दिन तक ‘काइट कार्निवाल’ का आयोजन किया जाएगा। इसमें प्रवासी भारतीय पतंगे उड़ाएंगे और पेंच लड़ाएंगे। पूरी खबर यहां पढ़ें...

सात कैटेगरी में गेस्ट लिस्ट; सभी के लिए MP की डिशेज का अलग मीनू

इंदौर में 8 से 12 जनवरी तक प्रवासी भारतीय सम्मेलन और दो दिनी ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट है। देश-विदेश से मेहमान अलग-अलग सेशन में शामिल होंगे। इनवेस्टर्स को लेकर सात कैटेगरी बनाई गई है। इन्हीं कैटेगरी को ध्यान रखते हुए ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में लंच और डिनर होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी VVIP के साथ राउंड टेबल पर लंच करेंगे। पूरी खबर यहां पढ़ें...

प्रवासी भारतीय सम्मेलन में 27 करोड़ खर्च करेगा IDA

प्रवासी भारतीय सम्मेलन में अब गिनती के दिन शेष बचे हैं। अधिकारी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं। इंदौर विकास प्राधिकरण की तरफ से पधारो म्हारा घर थीम के तहत प्रवासी भारतीयों को इंदौर के कुछ घरों में रुकवाया जाएगा। आईडीए इस आयोजन पर 27 करोड़ रुपए खर्च कर रहा है। पूरी खबर यहां पढ़ें...