इंदौर रेंज के ग्राम पालिया का मामला / कार्ययोजना में जो बीट है नहीं, वहां की वनरक्षक की पोस्टिंग

X

  • वन संरक्षक टीआर सूलिया के मुताबिक सिस्टम कार्ययोजना के हिसाब से चलता है
  • बीट बताई गई है वहां वनरक्षकों की नियुक्ति की जाती है

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:17 AM IST

इंदौर. वन विभाग की कार्ययोजना में जिस बीट का उल्लेख ही नहीं है, वहां लंबे समय से वनरक्षक की पोस्टिंग करने का मामला वन संरक्षक और मुख्य वन संरक्षक के सामने आया है। इंदौर रेंज में ग्राम पालिया (रेवती रेंज) को बीट के रूप में मानकर एक वनरक्षक की नियुक्ति कर दी गई है, जबकि कार्ययोजना के हिसाब से कभी पौधारोपण सहित विभाग से जुड़े अन्य काम किए ही नहीं गए हैं। 
वन संरक्षक टीआर सूलिया के मुताबिक सिस्टम कार्ययोजना के हिसाब से चलता है। इसमें जो बीट बताई गई है वहां वनरक्षकों की नियुक्ति की जाती है ताकि वन क्षेत्र की देखरेख हो सके। पालिया का उल्लेख कार्ययोजना की सूची में नहीं है तो इसे निरस्त कर वनरक्षक को अन्यत्र भेजा जाएगा।

प्रदेश में सर्वश्रेष्ठ, इंदौर की नर्सरी को 5 सितारा रेटिंग
वन विभाग की अनुसंधान व विस्तार केंद्र की प्रदेशभर की नर्सरी में इंदौर की सर्वश्रेष्ठ निकली। बड़गोंदा स्थित भीमराव आंबेडकर नर्सरी प्रदेश में सबसे अच्छी रही। खत्म हो रहे पौधों को विकसित करने, आने वाले वर्षों के लिए अभी से पौधे तैयार करने सहित अन्य अनुसंधान को लेकर पांच सितारा रेटिंग इंदौर को मिला है। खंडवा रोड स्थित डेमो सेंटर, रेसीडेंसी स्थित नर्सरी भी इसमें शामिल है। भोपाल स्थित अनुसंधान व विस्तार के मुख्यालय में प्रदेशभर की नर्सरी की समीक्षा की। 
रेटिंग देने में कई मानदंड तय किए गए थे। हर साल इस तरह की रेटिंग जारी की जाती है। बड़गोंदा नर्सरी में स्टाफ ने 14 लाख से अधिक पौधे तैयार किए हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना