मालवा निमाड़ में बिजली खपत बढ़ी:दो साल में 1 अप्रैल से 15 सितंबर तक मालवा-निमाड़ में 12, इंदौर, देवास, खरगोन व बुरहानपुर में 14 फीसदी से ज्यादा बिजली खपत

इंदौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मालवा-निमाड़ के लोगों ने इस बार जारी वित्तीय वर्ष में 1 अप्रैल से लेकर 15 सितंबर तक पिछले वर्ष की तुलना में औसतन 12 फीसदी ज्यादा बिजली का उपयोग किया है। इनमें इंदौर, देवास, खरगोन व बुरहानपुर में 14 फीसदी से ज्यादा बिजली की खपत हुई है। इसके पीछे मिले जुले कारण सामने आए हैं।

कंपनी के मैनेजिंग डायेक्टर अमित तोमर ने बताया कि 2020 में 1 अप्रैल से 15 सितंबर तक कंपनी क्षेत्र में 935 करोड़ यूनिट बिजली की खपत हुई थी। इस साल इसी अवधि में कुल 1046 करोड़ यूनिट बिजली का वितरण हुआ है। सबसे ज्यादा मांग इंदौर, खरगोन, देवास, बुरहानपुर जिले में देखी गई है, जो 14 फीसदी से ज्यादा है। कंपनी स्तर पर औसतन लगभग 12 फीसदी ज्यादा बिजली वितरित हुई है।

इंदौर शहर व इंदौर ग्रामीण क्षेत्र में कुल 297 करोड़ यूनिट बिजली का रिकॉर्ड स्तर पर वितरण हुआ है। बुरहानपुर में 42 करोड़ यूनिट से ज्यादा, खरगोन में 111 करोड़ यूनिट, देवास में 90 करोड़ यूनिट बिजली वितरित की जा चुकी है। इस अवधि में अन्य 11 जिलों में भी औसत 2 से लेकर 12 फीसदी ज्यादा बिजली की खपत हुई है। सितम्बर के 15 दिनों में ही कंपनी क्षेत्र में करीब 84 करोड़ यूनिट बिजली की खपत हो चुकी है।

ये हैं ज्यादा खपत के कारण

  • अगस्त में कम बारिश के चलते कुछ दिन काफी उमस रही। इसके चलते लोगों ने पंखों, कूलर और एसी का उपयोग किया। सितम्बर के चार दिन पहले भी कुछ क्षेत्रों में उमस रही।
  • अगस्त में बारिश कम होने से मालवा-निमाड़ में किसानों ने ट्यूबवेल व अन्य स्थानों से पानी के लिए मोटरों का भरपूर उपयोग किया।
  • पिछले साल इस अवधि में कोरोना का असर भी था जिसके चलते उद्योग पूरी तरह से संचालित नहीं थे। अब कोरोना नियंत्रण में है व शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूल, कॉलेज, दुकानें, मॉल सहित लगभग सारी गतिविधियां चालू हैं। इसके चलते खपत ज्यादा हो रही है। संभव है आने वाले त्यौहारों के दौरान खपत और बढ़ेगी।
खबरें और भी हैं...