सरकारी काम !:5 साल पहले प्रस्ताव बना, 6 बार योजना; अब मेट्रो के लिए हटेगी विजयनगर रोटरी

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विजय नगर थाने में टीआई का कैबिन भी हटेगा। - Dainik Bhaskar
विजय नगर थाने में टीआई का कैबिन भी हटेगा।
  • जबकि सालों से 3 लाख वाहन रोज 50 मीटर में 3 सिग्नल झेल रहे

बीआरटीएस से अंतत: विजय नगर चौराहे की रोटरी हटने जा रही है। 5 साल पहले ट्रैफिक पुलिस ने इसे बाधा बताते हुए हटाने का प्रस्ताव दिया था। इस बीच छह बार योजना भी बनी, लेकिन किसी न किसी कारण टल गई। जबकि सालों से रोटरी के कारण तीन लाख वाहन रोज 50 मीटर के दायरे में तीन-तीन सिग्नल झेल रहे थे। अब मेट्रो के पिलर के लिए इसे हटाया जा रहा है। मेट्रो के तीन पिलर चौराहे पर आ रहे हैं। विजय नगर थाने में टीआई का कैबिन भी हटेगा। वहां लेफ्ट टर्न बनाएंगे।

इससे एमआर-10 से आकर देवास नाका की तरफ जाने वाले वाहनों को राहत मिलेगी। रोटरी के मध्य लगी श्यामाप्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा थाने के सामने फाउंटेन के पास स्थापित होगी। यह फैसला शुक्रवार को कलेक्टर मनीष सिंह, निगमायुक्त प्रतिभा पाल, विधायक रमेश मेंदोला, चंदू शिंदे और मुन्नालाल यादव की मौजूदगी में हुआ। यहां से गुजर रही टावर लाइन को बिजली कंपनी ने शिफ्ट करना शुरू कर दिया है। रोटरी हटाने के बाद चौराहे को चौड़ा कर सीमेंट की सड़क बनाई जाएगी। ट्रैफिक सुगम हो जाएगा।

इसलिए सहते रहे परेशानी; कभी प्रतिमा हटाने पर सहमति नहीं बनी, कभी नेताओं में तालमेल नहीं बन पाया

  • बीआरटीएस बनने के बाद 2015-16 में ट्रैफिक पुलिस ने रोटरी हटाने का प्रस्ताव भेजा था। भाजपा की सरकार व परिषद थी। नेताओं में मुखर्जी की प्रतिमा हटाने पर सहमति नहीं बनी।
  • छह महीने बाद फिर प्रस्ताव आगे बढ़ा। बात निगम और भाजपा नेताओं की तनातनी पर आकर रुक गई। अफसरों ने मामला टाल दिया।
  • 2017 में ट्रैफिक को लेकर हुई बैठक में फिर तय हुआ, रोटरी हटाएंगे। फिर सहमति नहीं बनी।
  • 2020 जनवरी में कांग्रेस के कार्यकाल में रोटरी हटाने के आदेश हुए। चौराहे पर फ्लायओवर मंजूर हुआ। सरकार जाने के बाद मामला ठप पड़ गया।

बदलेगी व्यवस्था-

15 दिन में शुरू होगा काम, नए सिरे से सिग्नल लगेंगे, बचेगा टाइम

  • रोटरी हटाने का काम 15 से 20 दिन में शुरू होगा। पहले प्रतिमा के लिए पेडस्टल बनेगा।
  • चौराहे पर चारों तरफ का ट्रैफिक बिना बाधा चलेगा। बार-बार सिग्नल पर नहीं रुकना पड़ेगा।
  • देवास नाका से मेघदूत व सुखलिया से LIG जाने वालों को भी दो सिग्नल पर नहीं रुकना होगा।
  • चौराहे पर वाहन 2 से 3 मिनट के बजाय डेढ़ मिनट में निकल सकेंगे। बीआरटीएस के सिग्नल को सिन्क्रोनाइज करने की प्रक्रिया भी पूरी होगी।
  • मेट्रो के पिलर के बाद नया ट्रैफिक प्लान बनेगा।

खबरें और भी हैं...