दिनदहाड़े जघन्य हत्या:आंखों में मिर्ची डाल चाकू घोंपे, जब तक मौत नहीं हो गई, वहीं खड़े रहे

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीसीटीवी फुटेज में बाइक पर ये दो संदिग्ध जाते नजर आए हैं, फिलहाल पहचान नहीं हुई है। - Dainik Bhaskar
सीसीटीवी फुटेज में बाइक पर ये दो संदिग्ध जाते नजर आए हैं, फिलहाल पहचान नहीं हुई है।
  • पांच लाख का कर्ज होने की बात सामने आई

बुधवार सुबह 7.45 बजे नकाबपोश बदमाशों ने पोलोग्राउंड बिजली कंपनी के ऑफिस के नजदीक एक युवक की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। घटनास्थल पर मिर्ची पावडर मिला है। अंदेशा है कि बदमाशों ने पहले उसकी आंखों में मिर्ची झोंकी थी। जब तक युवक की मौत नहीं हो गई बदमाश वहीं खड़े रहे। कुछ लोग रुके भी, लेकिन हमलावरों को देख भाग निकले।

सीएसपी निहित उपाध्याय के अनुसार 29 वर्षीय आकाश पिता यशवंत मिडकिया निवासी वाल्मीकि नगर पत्नी मोना उर्फ वर्तिका को बस स्टॉप पर छोड़कर घर लौट रहा था, तभी यह वारदात हुई। वारदात के 15 मिनट बाद पहुंची पुलिस ने जेब से मिले मोबाइल व दस्तावेजों से पहचान कर घरवालों को खबर की। पत्नी देवास के निजी हॉस्पिटल में एचआर का काम देखती है। आकाश बीपीओ में काम करता था। अभी घर से ही काम कर रहा था। युवक जनवरी में ही उज्जैन से अपना परिवार लेकर इंदौर रहने आया था। उस पर 5 लाख का कर्ज होने की बात सामने आई है।

सीसीटीवी फुटेज में दिखे दो संदिग्ध, तीन परिचित हिरासत में, पत्नी से भी पूछताछ

सीएसपी के मुताबिक पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में बाइक पर दो नकाबपोश बदमाश जाते दिखे हैं। दोनों दुबले-पतले और कम उम्र के लग रहे हैं। फिलहाल उनकी पहचान नहीं हाे पाई है। पुलिस का कहना है कि उस पर हमला सिर्फ हत्या की नीयत से ही हुआ है। पुलिस ने आकाश के तीन परिचितों काे हिरासत में लिया है। उसकी पत्नी से भी पूछताछ की है।

हफ्तेभर पहले बदमाशों ने की थी राह चलते रियल एस्टेटकर्मी की हत्या

शहर में हफ्तेभर के भीतर हत्या की यह दूसरी वारदात है। 6 अक्टूबर काे सत्यसाईं चौराहे के पास रियल एस्टेट कर्मचारी देवांशु मिश्रा की लूट के इरादे से किन्नर जोया और उसके साथी अल्लू व अलीम ने चाकू घोंपकर हत्या कर दी थी। इसके बाद पुलिस ने चाकूबाजों के खिलाफ एक बड़ा अभियान चलाया था, लेकिन फिर भी लगातार वारदात जारी हैं।

आदेश के बाद भी सुनवाई नहीं, डीआईजी से लगाना पड़ी गुहार

चाकूबाजी की बढ़ती घटनाओं के बाद पूर्व क्षेत्र के एसपी आशुतोष बागरी ने आदेश दिए थे कि यदि कहीं चाकूबाजी हुई तो बीट प्रभारी पर कार्रवाई होगी। सोमवार देर रात खजराना क्षेत्र में चाकूबाजी हुई। थाने में सुनवाई न होने पर घायल अवस्था में पिता पुत्र को डीआईजी बंगले पर जाना पड़ा।

खबरें और भी हैं...