मौसम का बदलता मिजाज:इंदौर सहित मालवा-निमाड़ में 12 सितम्बर से बारिश के आसार, गेप भी रहेगी

इंदौर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

इंदौर सहित मालवा-निमाड़ में अगस्त में कम बारिश के चलते अब सारी उम्मीदें सितम्बर के बचे 21 दिनों से हैं। मौसम विभाग ने पिछले दिनों 9 सितम्बर तक बारिश के आसार बताए थे लेकिन बमुश्किल डेढ़-दो इंच बारिश गिरी और बादल छाए लेकिन तेज बारिश नहीं हुई। गुरुवार 9 सितम्बर का आधा दिन भी गुजर चुका है और अधिकांश स्थानों पर बारिश की संभावना नजर नहीं आ रही है। हालांकि मौसम के बनते-बिगड़ते सिस्टम के तहत अब लो प्रेशर बनने से 12 से 14 सितम्बर तक बारिश की संभावना जताई गई है। इस दौरान गेप भी रहेगा और धूप भी निकलेगी यानी लगातार मूसलधार बारिश की अभी भी संभावना नहीं है।

इस माह इंदौर मेे सबसे जोरदार बारिश 1 सितम्बर को इंदौर में हुई थी। इस दौरान शहर के पूर्वी हिस्से में ढाई इंच से ज्यादा बारिश हुई थी जबकि पश्चिम क्षेत्र में 4 इंच बारिश दर्ज की गई थी। इससे निचली बस्तियों में पानी भरने के साथ सड़कें खस्ता हाल हो गई थी। इसके बाद दो दिन अलग-अलग हिस्सों में आधा-एक घंचा बारिश हुई जबकि रविवार को बादल छाए रहे। फिर दो दिन पहले डेढ इंच बारिश हुई। इस तरह जिले में अब तक करीब 22 इंच ही बारिश हुई है जबकि औसतन कोटा 34-35 इंच का है।

मौसम वैज्ञानिक पीके साहा के मुताबिक अभी मप्र के कुछ हिस्सों लो प्रेशर बना हुआ है व ऊपरी हवा का चक्रवात है। ऐसे ही बंगाल की खाड़ी में भी लो प्रेशर बना हुआ है। अब 11 तारीख को अहमदाबाद में नया सिस्टम बन रहा है जिसके चलते इंदौर सहित मालवा-निमाड़ व अन्य हिस्सों में 12 से 14 सितम्बर तक बारिश के आसार हैं। हालांकि यह बारिश लगातार नहीं होगी। इसमें गेप के साथ धूप भी निकलेगी। मप्र के अन्य जिलों में मौसम को लेकर अलग-अलग स्थिति बनी हुई बनी हुई है। उधर, सोयाबीन की वे फसलें जिनकी पहले बोवनी हुई थी, वह अधपकी रही जबकि बाद में बोवनी हुई फसलें बहुत अच्छी स्थिति में है। इस बार तो सोयाबीन की नई वैरायटियों से अच्छे उत्पादन की संभावना है।

खबरें और भी हैं...