मासूम के साथ हुई घटना को लेकर उलझन:मेडिकल रिपोर्ट में रेप कन्फर्म नहीं, अमानवीय कृत्य की आशंका, अस्पताल से डिस्चार्ज

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

तीन दिन पहले आजाद नगर में आधी रात को मां के साथ सो रही डेढ़ साल की बालिका को अगवा करने के मामले में उसके साथ हुई घटना को लेकर फिलहाल उलझन ही है। पुलिस का कहना है कि मेडिकल रिपोर्ट में उसके साथ रेप की घटना नहीं होना पाई गई लेकिन अमानवीय कृत्य जैसा मामला जरूर हुआ है कि जबकि डॉक्टरों का कहना है कि बच्ची को ब्लीडिंग हुई है। बहरहाल, शनिवार को बच्ची को MYH से डिस्चार्ज कर दिया गया। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है। शंका है कि आरोपी परिवार का नजदीकी हो सकता है।

इस मामले में खुद पुलिस ने प्रारंभिक तौर पर कहा था कि बच्ची के साथ रेप हुआ है लेकिन जब उसे अस्पताल में एडमिट किया और जांचें हुई तो यह बात सामने आई कि उसे शारीरिक रूप से नुकसान पहुंचाया गया। रिपोर्ट में रेप नहीं होने की बात स्पष्ट हुई लेकिन बच्ची को ठीक होने में अभी समय लगेगा। इस बीच पुलिस के अलावा डॉक्टरों ने भी बच्ची की मां से घटना को लेकर पूछताछ की लेकिन उसने कुछ खास जानकारी नहीं दी। मां ने केवल यह बताया कि वह दोनों बच्चियों के साथ रात को तीन इमली ब्रिज के नीचे सोई थी। तभी रात 2 बजे उसकी नींद खुली तो पता चला कि एक बच्ची नहीं है। फिर तड़के 4.30 बजे वह तीन किमी दूर राजीव गांधी प्रतिमा के पास बगीचे में मिली थी।

इधर, जिस प्रकार से घटना हुई है उससे यह शंका बलवती है कि महिला के किसी नजदीकी ने घटना को अंजाम दिया लेकिन महिला द्वारा कुछ जानकारी नहीं देने पर पुलिस को अभी ठोस जांच दिशा नहीं पा रही है। पुलिस फिलहाल घटनास्थल से दूर लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज जुटा रही है। पुलिस की एक टीम राजीव गांधी प्रतिमा के पास से भी नए सूत्र जुटा रही है। टीआई इंद्रेश त्रिपाठी ने बताया कि बच्ची के साथ रेप नहीं हुआ लेकिन शारीरिक तौर पर नुकसान पहुंचाया गया है। पुलिस आरोपी की तलाश कर रही है। उसके पकड़े जाने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।