पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Residents Of Dhar Kothi, Vandana Nagar, South Tukoganj In The Grip, Two Children Also Involved, Larvae Found Positive In 16 Houses

अभियान के बीच डेंगू के 18 नए मरीज:धार कोठी, वंदना नगर, साउथ तुकोगंज के रहवासी चपेट में, दो बच्चे भी शामिल, 16 मकानों में मिला लार्वा पॉजिटिव

इंदौर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लगातार छिड़काव के बाद भी बढ़ रहे मरीज। - Dainik Bhaskar
लगातार छिड़काव के बाद भी बढ़ रहे मरीज।

शहर में बुधवार को एक ओर ‘डेंगू पर प्रहार अभियान’ में जनप्रतिनिधि व अधिकारियों जुटे रहे तो दूसरी ओर 18 नए डेंगू के मरीज मिले हैं। ये मरीज धार कोठी, वंदना नगर, साउथ तुकोगंज, सुदामा नगर, निधिवन कॉलोनी, भगतसिंह नगर, क्रिस्टल अपार्टमेंट, अभिनंदन अपार्टमेंट, भोलाराम उस्ताद मार्ग, पीपल्याराव, वंदन नगर, सुदामा नगर आदि क्षेत्र के हैं। इसके अलावा ग्नाम नायता मुंडला व बदनावर में भी दो मरीज मिले हैं। इनमें दो बच्चे भी हैं। इनके सहित अब तक 182 डेंगू के मरीज पाए जा चुके हैं जबकि कुछ समय पहले एक गर्भवती महिला की मौत हो चुकी है। मंगलवार को 400 मकानों सर्वे किया जिसमें 16 मकानों में लार्वा पॉजिटिव पाया गया। इसे मौके पर ही नष्ट किया गया।
इसके पूर्व मंगलवार को 3 नए मरीज मिले थे। ये मरीज कैट कॉलोनी, नंदबाग, आजाद नगर, अवंतिका नगर, हिम्मत नगर, पवनपुरी, बर्फानी धाम, आदर्श बिजासन नगर, श्रवण बाग कॉलोनी, भागीरथपुरा, मौर्य नगर, विद्या नगर, श्रीबाल गर्ल्स होस्टल आदि क्षेत्रों में मिले थे। इनमें एक बच्चा भी था। इनके सहित अब तक 182 मरीज हो चुके हैं जबकि एक माह पहले एक गर्भवती महिला की मौत भी हो चुकी है। वैसे प्राइवेट अस्पतालों में भी डेंगू के मरीज काफी पहुंच रहे हैं। इससे कुल संख्या 182 से ज्यादा हो सकती है।

कोरोना संक्रमण के साथ भले ही डेंगू पर काबू करने के लिए प्रयास जारी हो लेकिन मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। शनिवार को इंदौर के राजेंद्र, क्लर्क कॉलोनी, सांई सिटी, स्कीम 78, न्यू गौरी नगर, स्कीम 134, सांई सिटी, ओल्ड पलासिया क्षेत्र में डेंगू के मरीज मिले थे। इनमें से न्यू गौरी नगर व ओल्ड पलासिया में पहले भी मिल चुके हैं। ऐसे ही चार मकानों में लार्वा पॉजिटिव पाया गया था। इसके बाद रविवार को शुभम पैलेस, खातीवाला टैंक, स्कीम 51, महालक्ष्मी नगर, साउथ तुकोगंज, सहज हॉस्पिटल, शिव सिटी, गृह नगर होस्टल, आरएपीटीसी, ब्रह्मपुरी, पीपल्याराव, आनंदपुरी, गणेश नगर, आनंदपुरी, खंडवा नाका, एलआईजी व तलावली चांदा में मिले नए मरीज मिले थे।

इसके पूर्व शुक्रवार को स्कीम 114, गोयल विहार, सुदामा नगर, इनकम टैक्स कॉलोनी, श्रीजी वैली, वंदना नगर, वल्लभ नगर, ग्राम काडवाली आदि क्षेत्रों में 9 नए मरीज मिले थे। वैसे सरकारी रिकॉर्ड में डेंगू मरीजों की कुल संख्या 182 हो गई है जबकि प्राइवेट अस्पतालों में भी मरीज पहुंच रहे हैं। जिन नए क्षेत्रों में मरीज मिले हैं वहां इनकी संख्या बढ़ भी सकती है। मामले में इन सभी स्थानों पर टीमें लार्वा सैंपल लेने के साथ छिड़काव में जुटी हैं। लोगों से अपील की गई है कि अपने अपने मकान, परिसर व आसपास गंदगी व पानी जमा ने होने दें। हाल ही में एमजीएम गर्ल्स, बॉयज व बीएससी नर्सिंग होस्टल के छात्र-छात्राओं सहित अन्य क्षेत्रों में 8 नए मरीज मिले थे। फिर मनोरमागंज, बिचौली मर्दाना, लक्ष्मीबाई नगर, खातीवाला टैंक, रेवती नगर (अरबिंदो अस्पताल के पास), भानगढ़ व हातोद में मिले थे। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. दौलत पटेल ने बताया कि जिन भी क्षेत्रों में मरीज पाए गए वहां घरों के गमले, बगीचों, अटाला आदि में पानी जमा पाया गया। इनके सहित अब अन्य स्थानों पर भी तेजी से छिड़काव किया जा रहा है।
इन क्षेत्रों में मिल चुके हैं डेंगू के मरीज

इसके पूर्व गोविंद कॉलोनी, गीता भवन, भाग्यश्री कॉलोनी, प्राइम सिटी, औरंगपुरा (धन्नड), शांति पथ रोड, आलोक नगर, मूसाखेड़ी, स्कीम 94, विनायक टॉउनशिप, सिमरोल, देपालपुर, भंवरकुआ, अहीरखेड़ी, बर्फानीधाम, न्यू द्वारकापुरी, उदापुरा, नृसिंह बाजार, मेघदूत नगर, गीता भवन, नंदा नगर, सरदार सरोवर नगर, वल्लभ नगर, खजराना, नेहरू नगर, ब्रह्मपुरी कॉलोनी, नरवल कांकड़ (सांवेर), प्रोफेसर कॉलोनी, बाणगंगा, महू, तुलसी नगर, विजय नगर, स्कीम 11, मीना नगर, जगजीवनराम नगर, श्रीनगर एक्सटेंशन, आनंद नगर एक्सटेंशन, पीपल्याहाना, विजय नगर, जगजीवन राम नगर व गुरु नगर आदि क्षेत्रों में डेंगू के मरीज मिले थे। कुछ समय पहले एक गर्भवती महिला की भी डेंगू से मौत हुई थी जबकि डॉक्टरों का कहना था कि उसे अन्य बीमारियां भी थी।

बारिश का पानी भी जमा नहीं होने दें

- डेंगू जमे हुए पानी में पनपने वाले मच्छरों के काटने से होता है जबकि डेंगू एडीज इजिप्टी (मादा मच्छर) के काटने से फैलता है। यह बुखार मच्छरों द्वारा फैलाई जाने वाली बीमारी है। यह स्थिति तब बनती है घरों में या आसपास एक ही स्थान पर बहुत दिनों से पानी जमा हो। जैसे कूलर, वॉश एरिया, सिंक, गमलों आदि भी कई बार पानी जमा रहता है जो डेंगू का कारक बनता है।

- लोगों से अपील की गई है कि हाल ही में बारिश हुई है जिससे घरों के आसपास कई स्थानों पर पानी जमा हो जाता है। इसे भी जमा नहीं होने दें और निकासी का प्रबंध करें।

- एडीज मच्छर पानी जमाव होने की स्थिति में सक्रिय हो जाते हैं। इन मच्छरों की प्रकृति यह है कि ये दिन में ही काटते हैं।

- फिर कुछ समय बाद इसकी चपेट में आए लोगों को तेज बुखार, शरीर पर लाल चकत पड़ना, सिर, हाथ-पैर और बदन में तेज दर्द, भूख न लगना, उल्टी-दस्त, गले में खराश, पेट में दर्द और लिवर में सूजन आदि लक्षण दिखते हैं।

- ऐसे में संबंधित व्यक्ति को तुरंत डॉक्टरों को दिखाना चाहिए। इसके बाद ब्लड टेस्ट में इसकी जांच होती है जिसमें पुष्टि होती है कि उसे डेंगू है या दूसरी बीमारी।

बचाव के ये तरीके भी

- मच्छरों को दूर रखने के लिए मच्छर भगाने वाले रिपेलेंट, क्रीम, कॉइल और स्प्रे का इस्तेमाल करें।

- खिड़की और दरवाजों को सुरक्षित करें या यदि आवश्यक हो तो मच्छरदानी का उपयोग करें।

- यदि संभव हो तो एयर कंडीशनिंग घर के अंदर इस्तेमाल करें।

खबरें और भी हैं...