पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Restrictions On Daughter, Beating Of Lover, Cause Of Murder, Cleaned Blood After Killing Parents And Took Out 1 Lakh 19 Thousand From Wardrobe

डबल मर्डर में पुलिस का खुलासा:बंदिशों से बौखला गई थी लड़की, प्रेमी की पिटाई बर्दाश्त नहीं कर पाई, रास्ते से हटाने के लिए माता-पिता की हत्या करवाई

इंदौर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी धनंजय ने पुलिसकर्मी की नाबालिग बेटी के साथ मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया। - Dainik Bhaskar
आरोपी धनंजय ने पुलिसकर्मी की नाबालिग बेटी के साथ मिलकर हत्याकांड को अंजाम दिया।

एसएएफ के ड्राइवर ज्योति प्रसाद शर्मा और उनकी पत्नी नीलम की हत्या का खुलासा पुलिस ने 24 घंटे के भीतर कर दिया। हत्यारा कोई और नहीं उनकी खुद की नाबालिग बेटी और उसका प्रेमी डीजे उर्फ धनंजय यादव निवासी महावीर मार्ग गांधी नगर निकला। आरोपियों ने हत्या को अंजाम परिवार द्वारा मिलने पर बंदिशें लगाने और मारपीट का बदलना लेने के लिए दिया था। हत्या के बाद आरोपी बाइक से रतलाम के रास्ते मंदसौर होते हुए राजस्थान भागने की फिराक में थे। पुलिस ने बाइक, हथियार और रुपए बरामद कर लिए हैं। हत्या के बाद इन्होंने खून साफ करने की कोशिश की थी। 1 लाख 19 हजार रुपए लेकर भाग गए थे।

पुलिस ने हथियार और रुपए जब्त कर लिए।
पुलिस ने हथियार और रुपए जब्त कर लिए।

डीआईजी हरिनारायणचारी मिश्रा के अनुसार सूचना पर एरोड्रम के रुक्मणि नगर में पहुंचे, तो वहां एसएएफ के ड्राइवर ज्योति प्रसाद शर्मा और उनकी पत्नी नीलम की कमरे में लहूलुहान लाश पड़ी थी। परिवार के सभी सदस्य घर पर थे, लेकिन नाबालिग बेटी गायब थी। पड़ताल के दौरान बेटी का पिता पर आरोप लगाते हुए एक पत्र भी मिला, जिसके बाद हत्याकांड का पूरा दृश्य सामने आ गया। इस पर पांच टीमें गठित कीं। आरोपियों की तलाश में 200 से ज्यादा सीसीटीवी खंगाले और युवती और उनके प्रेमी से जुड़े करीब 50 लोगों से पूछताछ की।

बेटी के प्रेमी ने ज्योति प्रसाद और उनकी पत्नी की बेरहमी से हत्या की।
बेटी के प्रेमी ने ज्योति प्रसाद और उनकी पत्नी की बेरहमी से हत्या की।

पुलिस के अनुसार ज्योति प्रसाद बेटा-बेटी और पत्नी के साथ रहते थे, ज्योति प्रसाद के पिता बगल में ही रहते थे। रात में बेटा दादा-दादी के घर जाकर सो गया, जबकि तीन लोग अपने घर में सोए। घटना के बाद बेटी के लापता होने पर आस-पड़ोस में पूछा, तो उसके बारे में कुछ जानकारी मिली। साथ ही, पुलिसकर्मी का उसके प्रेमी धनंजय से विवाद का भी पता चला। घटना वाली सुबह 4 बजे धनंजय बकानुमा चाकू और एक दरांता लेकर ज्योति के घर पहुंचा था।

जैसे ही, लड़की ने दरवाजा खोला, सबसे पहले धनंजय ने लड़की की मां पर हमला किया। इसके बाद आरक्षक पर वार किया। हत्या के बाद अलमारी से 1 लाख 19 हजार रुपए लेकर भाग निकले। राजस्थान पहुंचते, इसके पहले पुलिस की चेकिंग से डरकर ये वापस मंदसौर तरफ से लौटे और पुलिस ने इन्हें दबोच लिया।

खबरें और भी हैं...