पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Rules For Deemed Registration In RERA, But The Work On The Real Sector Projects Of 1500 Crores Stopped Due To Non release Of Numbers.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रोजेक्ट अटके:रेरा में डीम्ड रजिस्ट्रेशन का भी नियम, पर नंबर जारी नहीं होने से रियल सेक्टर के 1500 करोड़ के प्रोजेक्ट का काम बंद

इंदौर22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
15-20 करोड़ का होता है एक प्रोजेक्ट औसतन (प्रतीकात्मक फोटो) - Dainik Bhaskar
15-20 करोड़ का होता है एक प्रोजेक्ट औसतन (प्रतीकात्मक फोटो)
  • समय पर रिटर्न नहीं देने पर सस्पेंड हुए प्रोजेक्ट के बैंक खाते भी बंद, इससे भी 400 करोड़ के प्रोजेक्ट पर असर

रियल एस्टेट (रेग्युलेशन एंड डेवलपमेंट) एक्ट (रेरा) का चेयरमैन पद रिक्त होने से इंदौर के रियल सेक्टर के 1500 करोड़ के नए प्रोजेक्ट केवल रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं होने के चलते अटक गए हैं। वहीं रेरा के नियमों में ही है कि प्रोजेक्ट के रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन होने के 30 दिन के अंदर रेरा नंबर जारी करेगा या फिर आवेदन निरस्त करेगा। यदि इसमें से कुछ नहीं करता है तो सात दिन में डीम्ड रजिस्ट्रेशन माना जाएगा। वहीं, 400 करोड़ के 37 प्रोजेक्ट ऐसे हैं, जो केवल समय पर रिटर्न दाखिल नहीं करने के चलते सस्पेंड कर दिए गए थे। इनके बैंक खाते भी अटैच कर दिए गए। इसके चलते इन प्रोजेक्ट के काम भी नई बुकिंग नहीं होने से अटक गए हैं।

प्रोजेक्ट की देरी यानी ग्राहकों को महंगी मिलेगी संपत्ति
एक प्रोजेक्ट औसतन 15-20 करोड़ रुपए का होता है। इस सेक्टर पर 300 अन्य सेक्टर सीमेंट, सरिया, सेनेटरी आदि निर्भर होते हैं। प्रोजेेक्ट में देरी के चलते इसकी लागत बढ़ती है और इसके चलते बिल्डर भी लागत के हिसाब से इसकी कीमत बढ़ाने को मजबूर होते हैं। इससे अप्रत्यक्ष रूप से असर ग्राहकों पर होता है। वहीं जिन प्रोजेक्ट को सस्पेंड किया है, उसमें सीधा असर बिल्डर पर पड़ता है, क्योंकि वह एक तय कीमत पर बुकिंग ले चुका होता है। रियल सेक्टर में इंदौर में ही करीब 30 हजार लोगों को रोजगार मिलता है, जो प्रोजेक्ट रुकने पर इन्हें भी प्रभावित करेगा।

  • 15-20 करोड़ का होता है एक प्रोजेक्ट औसतन
  • 30 हजार लोगों को रोजगार है रियल सेक्टर में
  • 300 अन्य सेक्टर निर्भर हैं इस सेक्टर पर

एक्सपर्ट... नंबर नहीं मिले तो लागत बढ़ेगी

  • रेरा के केस को डील करने वाले जानकार सीए आनंद जैन बताते हैं इस तरह के हालात के लिए रेरा में डीम्ड रजिस्ट्रेशन का प्रावधान है और संस्था को कोरम नहीं होने पर इस नियम का फायदा रियल सेक्टर को देते हुए नंबर देना चाहिए, इससे प्रोेजेक्ट तो शुरू हो सकेंगे, नहीं तो इनकी लागत बढ़ती जाएगी।
  • रेरा के ज्यूडिशियल मेंबर व एक्टिंग प्रमुख दिनेश नायक ने कहा कि कोरम के अभाव में अभी काम रुके हुए हैं, लेकिन सस्पेंड प्रोेजेक्ट में हम बैंक खाते खोल रहे हैं। इससे प्रोजेक्ट को राहत मिलेगी। रजिस्ट्रेशन के लिए भी डीम्ड का प्रावधान है, लेकिन हमें दस्तावेज आदि जांचने होते हैं। एक बार में ही कोई आवेदक सभी दस्तावेज नहीं देता है। कई जानकारी अधूरी होती है।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें