इंदौर में भाषण के लिए स्टूल पर 'ताई':बैलेंस बिगड़ने पर बोलीं-ऊंची जगह पर खड़े होने में डर लगता है; बजी तालियां...

इंदौर2 महीने पहले

पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन पर लिखी पुस्तक 'ताई' के विमोचन के दौरान गुरुवार एक रोचक वाकया हुआ। दरअसल, महाजन जब अपनी पुस्तक को लेकर उद्बोधन के लिए डायस तक पहुंची तो उनकी ऊंचाई कम होने से उनका चेहरा ठीक से नहीं दिख रहा था। इस पर वहां मौजूद लोगों ने कहा कि ताई रुकिए, आप स्टूल पर खड़े होकर बोलिए और छोटा सा स्टूल आगे किया। ताई ने स्टूल पर खड़े होने के दौरान डायस पकड़ा तो हल्का संतुलन बिगड़ा। इस पर उन्होंने तुरंत चुटकी ली और कहा कि आजकल ऊंची जगह खड़े होने में डर लगता है। उनके इस दोहरे अंदाज को देख ऑडिटोरियम में मौजूद लोगों ने ठहाके लगाकर तालियां बजाई।

महाजन के पास मौजूद लोगों ने यह पूछा कि ताई अब ठीक है न तो उन्होंने इशारे से कहा कि ठीक है और अपना उद्बोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि यह पुस्तक पहले मराठी में लिखी गई थी। लेखिका मेधा मेरे पास आई तो मैं मना करती रही। मैंने मेधा को क्यों हां कहा क्योंकि वह छोटी बहन जैसी है, कोई बड़ी लेखिका नहीं है। वह मेरी हर चीज मानेगी यह मेरा विश्वास था। हमेशा ऐसे लोगों को हाथ में रखना चाहिए, जो आपकी बात माने। बड़ा कोई कुछ लिखेगा और हम कह नहीं सकेंगे तो क्या फायदा। महाजन की इस बात पर भी लोगों ने काफी तालियां बजाई।